X

Happy Ganesh Chaturthi 2018: चॉकलेट से बनाई गणपति बप्पा की इको फ्रेंडलि मूर्ति, दूध में होगा व‍िसर्जन

Happy Ganesh Chaturthi 2018: लुधियाना के दो लोगों ने जल को प्रदूषित होने से बचाने के लिए इको फ्रेंडलि गणेश मूर्ति तैयार की है। मूर्ति बनाने के लिए चॉकलेट का इस्तेमाल किया गया है।

गुरुवार (13 सितंबर) को भारत में गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाया जाएगा। इस पर्व को लेकर तैयारी काफी दिन पहले शुरू हो जाती हैं। हिंदू धर्म के मुताबिक इस दिन भगवान गणेश का जन्म हुआ था। इसी के उपलक्ष्य में इस त्योहार को बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। यह त्योहार भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को पड़ता है। महाराष्ट्र और उसके आस-पास के क्षेत्रों में गणेश चतुर्थी के बाद 10 दिन तक गणेशोत्सव मनाया जाता है। इस गणेश चतुर्थी पर पंजाब के लुधियाना में दो लोगों ने भगवान गणेश की प्रतिमा बनाने के लिए अनोखा इको फ्रेंडलि आइडिया निकाला है, जिसकी वजह से लोग इनकी तारीफ कर रहे हैं।

दरअसल, बुद्धि, ज्ञान और विघ्नविनाशक के रूप में पूजे जाने वाले गणपति बप्पा का त्योहार का उत्सव 13 सितंबर से शुरू होकर 23 सितंबर तक चलेगा।इस दौरान श्रद्धालु अपने घर में भगवान श्री गणेश की मूर्ति स्थापित करते हैं और पूरे दस दिन गणेश भगवान की पूजा करते हैं। गणेशोत्सव के आखिरी दिन यानि अनंत चतुर्दशी के दिन गणपति जी की प्रतिमा को समुद्र, नदी और झीलों में विसर्जित किया जाता है। बाजार में मिलने वाले गणपति की प्रतिमा को नदी या समुद्र में विसर्जित किया जाता था तो वह नष्ट नहीं होते थे और मूर्ति बनाने में इस्तेमाल किया गया केमिकल जल को दूषित करता है।

वहीं लुधियाना के दो लोगों ने जल को प्रदूषित होने से बचाने के लिए इको फ्रेंडलि गणेश मूर्ति तैयार की है। मूर्ति बनाने के लिए चॉकलेट का इस्तेमाल किया गया है। यही नहीं इन लोगों ने तय किया है कि विसर्जन वाले दिन मूर्ति को दूध में मिलाकर बच्चों को पीने के लिए दिया जाएगा। यह तरीका अपनाने के लिए सोशल मीडिया पर लोग इन दोनों की काफी तारीफ कर रहे हैं, जोकि वाकई में एक अच्छा कदम है।

बता दें कि इससे पहले भी गणेश चतुर्थी पर ऐसे इको फ्रेंडली आइडिया देखने को मिल चुके हैं। बीते साल पूणे के रमेश खैर और विवेक कांबले ने फिटकरी से  गणेश मूर्ति का निर्माण किया था। इससे पानी को न सिर्फ पानी को दूषित होने से बचाया जा सकता है बल्कि पानी की सफाई भी हो सकती है।

बताया गया है कि भगवान गणेश की पूजा करने से घर में सुख, समृद्धि और संपन्नता आती है। कई लोग इस दिन व्रत भी रखते हैं, कहा जाता है कि व्रत रखने से भगवान गणेश खुश होते हैं और अपने भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करते हैं। ऐसे में भक्त बड़ी ही श्रद्धाभाव से गणेश जी की पूजा-अर्चना करते हैं।