ताज़ा खबर
 

Happy Guru Gobind Singh Jayanti 2019 Wishes Images, Quotes: गुरु गोबिंद सिंह जयंती पर इन संदेशों, एसएमएस व तस्वीरों से दे सकते हैं दोस्त-यारों को शुभकामनाएं

Happy Gurpurab Guru Gobind Singh Jayanti 2019 Wishes Images, Quotes, SMS, Messages, Greetings: गुरु गोबिंद सिंह जयंती के अवसर पर, भारत में रहने वाले सिख लोग और वो सब जो की गोबिंद सिंहजी को मानते हैं और उन्हें याद करते हैं, खुद की और दूसरों की उन्नति की प्रार्थना करते हैं, गोबिंद सिंह जी द्वारा लिखी गई कविताओं को सुनते हैं

Happy Guru Gobind Singh Jayanti 2019: गुरु गोबिंद सिंह सिखों के दसवें और अंतिम गुरु थे।

Happy Gurpurab Guru Gobind Singh Jayanti 2019 Wishes Images, Quotes, SMS, Messages, Greetings: गुरु गोबिंद सिंह को ज्ञान, सैन्य क्षमता और दूरदृष्टि का सम्मिश्रण माना जाता है। उनका जन्म पटना साहिब में हुआ था और वहां उनकी याद में एक खूबसूरत गुरुद्वारा भी निर्मित किया गया है। वे सिखों के 10वें और अंतिम गुरु थे। उन्होंने ही साल 1699 में खालसा पंथ की स्थापना की थी। उन्होंने ही गुरु ग्रंथ साहिब को सिखों का गुरु घोषित किया।

गुरु गोबिंद सिंह जयंती के अवसर पर, भारत में रहने वाले सिख लोग और वो सब जो की गोबिंद सिंहजी को मानते हैं और उन्हें याद करते हैं, खुद की और दूसरों की उन्नति की प्रार्थना करते हैं। गोबिंद सिंह जी द्वारा लिखी गई कविताओं को सुनते हैं, उनकी उपलब्धियों के लिए उनकी सराहना करते हैं, ख़ास भोजन बनाते हैं और उसे सब में बांटते हैं और भारतीय शहरों में परेड और जुलूस निकालते हैं। गुरु जी के जन्मदिवस के पावन मौके पर आप अपने चाहने वालों को कई तरह के मैसेज भेज सकते हैं।

किसी ने पूछा तेरा कारोबार कितना है
किसी ने पूछा तेरा परिवार कितना है
कोई विरला ही पूछता है
तेरे गुरु नाल प्यार कितना है
गुरु की कृपा से आप अपने जिंदगी की सभी लक्ष्यों को हासिल करें
गुरुपर्व की बधाईयां…

हम सभी एक साथ मिलकर गुरु गोबिंद सिंह की जयंती
और प्रकाश उत्सव सेलिब्रेट करें
गुरु गोबिंद सिंह जयंती की बधाईयां…

गुरु गोबिंद सिंह की धार्मिक बातों से आपका रास्ता जगमगाए
हैप्पी, गुरु गोबिंद सिंह जयंती…

इस पावन अवसर पर गुरु की कृपा से आप पर खुशियों और सफलता की बौछार होती रहे।
गुरु गोविंद सिंह जयंती टू ऑल….

हैप्पी, गुरु गोबिंद सिंह जयंती…

उम्मीद है कि गुरु गोबिंद सिंह के उपदेश
आपको अपने लक्ष्य तक पहुंचने में मदद करेंगे
उनका आशीर्वाद आप बन बना रहे जो भी आप करना चाहते हैं
दिले से सभी को ढेर सारी शुभकामनाएं….

सिख होने के नाते आप कभी यह नहीं भूल सकते हैं
कि आपको समाज की भलाई के लिए काम करना है
हमेशा अच्छा करें
भले ही इसमें आपकी पूरी उम्र गुजर जाए
गुरुपर्व की दिल से बधाई….

Live Blog

11:51 (IST)13 Jan 2019
दिल्लीः PM ने जारी किया स्मारक सिक्का

देश की राजधानी नई दिल्ली में शनिवार (12 जनवरी, 2019) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिखों के 10वें गुरु गुरु नानक देव की जयंती पर उनका स्मारक सिक्का जारी किया। कार्यक्रम के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी मौजूद रहे।

11:28 (IST)13 Jan 2019
गुरु गोबिंद सिंह की कही इन बातों से लें सीख

सेवक नानक भगवान के दास हैं, अपनी कृपा से, भगवान उनका सम्मान सुरक्षित रखते हैं.

11:10 (IST)13 Jan 2019
यूं दें गुरुपर्व की लख-लख बधाई

गुरु के ज्ञान से आपके अंदर अच्छाइयों का समावेश होआपके जीवन में खुशहाली और समृद्धि आएगुरुपर्व की बधाईयां...

10:29 (IST)13 Jan 2019
आंखें होते हुए भी अंधे होते हैं ऐसे लोग

अज्ञानी व्यक्ति पूरी तरह से अंधा है, वह मूल्यवान चीजों की कद्र नहीं करता है.

09:50 (IST)13 Jan 2019
गुरु गोबिंद सिंह ने हमेशा यह उपदेश दिया

भगवान तक पहुंचने के लिए प्रेम ही एक माध्यम हैतो चलिए उनके कहे शब्दों का अनुसरण करके उनका जन्मदिन मनाएं

09:27 (IST)13 Jan 2019
स्मारक सिक्का जारी करेंगे PM

सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह की आज (13 जनवरी, 2019) 352वीं जयंती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस खास मौके पर एक स्मारक सिक्का जारी करेंगे। 2017 में भी उन्होंने बिहार की राजधानी पटना में गुरु गोबिंद सिंह की 350वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। पीएम ने तब डाक टिकट जारी किया था।

06:26 (IST)13 Jan 2019
कहां हुआ था गुरु गोबिंद सिंह का जन्म

गुरु गोबिंद सिंह को ज्ञान, सैन्य क्षमता और दूरदृष्टि का सम्मिश्रण माना जाता है। उनका जन्म पटना साहिब में हुआ था और वहां उनकी याद में एक खूबसूरत गुरुद्वारा भी निर्मित किया गया है।

06:06 (IST)13 Jan 2019
गुरु गोबिंग सिंह जी की रचनाएं

गुरु गोबिंद सिंह की गिनती महान लेखकों और रचनाकारों में होती है। उन्‍होंने 'जाप' साहिब, 'अकाल उस्‍तत', 'बिचित्र नाटक', 'चंडी चरित्र', 'शास्‍त्र नाम माला', 'अथ पख्‍यां चरित्र लिख्‍यते', 'ज़फ़रनामा' और 'खालसा महिमा' जैसी रचनाएं लिखीं। 'बिचित्र नाटक' को उनकी आत्‍मकथा माना जाता है, जोकि 'दसम ग्रन्थ' का एक भाग है।

05:31 (IST)13 Jan 2019
गुरु गोबिंद सिंह जी के पांच सिद्धांत, इनके बिना अधूरी है खालसा वेश

गुरु गोबिंद सिंह जी ने जीवन जीने के लिए पांच सिद्धांत भी दिए, जिन्‍हें 'पांच ककार' कहा जाता है। पांच ककार का मतलब 'क' शब्द से शुरू होने वाली उन 5 चीजों से है, जिन्हें गुरु गोबिंद सिंह के सिद्धांतों के अनुसार सभी खालसा सिखों को धारण करना होता है। गुरु गोविंद सिंह ने सिखों के लिए पांच चीजें अनिवार्य की थीं- 'केश', 'कड़ा', 'कृपाण', 'कंघा' और 'कच्छा'।

23:04 (IST)12 Jan 2019
मुगलों से 14 बार लड़े थे गुरु गोबिंग सिंह जी

खालसा पंथ की की रक्षा के लिए गुरु गोबिंग सिंह जी मुगलों और उनके सहयोगियों से लगभग 14 बार लड़े। उन्होंने ही साल 1699 में खालसा पंथ की स्थापना की थी। उन्होंने ही गुरु ग्रंथ साहिब को सिखों का गुरु घोषित किया।

22:35 (IST)12 Jan 2019
गुरु गोबिंद सिंह कौन थे?

गुरु गोबिंद सिंह जी सिखों के 10वें गुरु थे। इन्होंने ही सिख धर्म के पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब (Guru Granth Sahib) को पूरा किया। साथ ही गोबिंद सिंह जी ने खालसा वाणी - "वाहेगुरु जी का खालसा, वाहेगुरु जी की फतह" भी दी।

21:58 (IST)12 Jan 2019
गुरु गोविंद सिंह के कृत्यों को याद करते हैं उन्हें मानने वाले

जो लोग गोबिंद सिंहजी को मानते हैं और उन्हें याद करते हैं, खुद की और दूसरों की उन्नति की प्रार्थना करते हैं। गोबिंद सिंह जी द्वारा लिखी गई कविताओं को सुनते हैं, उनकी उपलब्धियों के लिए उनकी सराहना करते हैं, ख़ास भोजन बनाते हैं और उसे सब में बांटते हैं और भारतीय शहरों में परेड और जुलूस निकालते हैं।

21:23 (IST)12 Jan 2019
गुरु गोविंद सिंह ने की थी खालसा पंथ की स्थापना

गुरु गोविंद सिंह सिखों के 10वें और अंतिम गुरु थे। उन्होंने ही साल 1699 में खालसा पंथ की स्थापना की थी। उन्होंने ही गुरु ग्रंथ साहिब को सिखों का गुरु घोषित किया।

X