पीरियड्स में दर्द और अनियमितता से हैं परेशान? सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट ने बताए छुटकारा पाने के तरीके

जिन महिलाओं को पीरियड्स में दर्द की समस्या होती है वह अपने दोपहर के खाने में दही और चावल को शामिल कर सकते हैं।

Lifestyle, Lifestyle News, Periods Cramps
पेट के निचले हिस्से में तेल से मसाज करने से आपको पीरियड्स में दर्द और ऐंठन से राहत मिल सकती है।

पीरियड्स से जुड़ी समस्याएं वर्तमान समय में बेहद ही आम हो गई हैं। कुछ महिलाओं को जहां पेट और कमर में तेज दर्द की समस्या होती है वहीं कुछ मासिक धर्म में अनियमितता का शिकार भी हो जाती हैं। महिलाओं के लिए पीरियड्स का समय किसी रोलर कोस्टर राइड से कम नहीं होता। क्योंकि इस दौरान उन्हें पेट में दर्द, ऐंठन, सिर दर्द, बदन दर्द समेत जी मिचलाना और माइग्रेन की समस्या होती है। माहवारी के दौरान होने वाली इन परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट ऋजुता दिवेकर ने कुछ टिप्स दिए हैं।

अपने एक पोस्ट में ऋजुता ने बताया कि कैसे डाइट में बदलाव करके पीरियड्स क्रैम्प्स समेत अनियमितता की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। सेलिब्रिटी न्यूट्रिशनिस्ट ने वीडियो पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा, “पीरियड्स में दर्द के दौरान दर्द, ऐंठन, माइग्रेन, मिचली, मूड स्विंग आदि को कम करने के लिए इन खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में शामिल करें।”

किशमिश और केसर: ऋजुता दिवेकर के अनुसार किशमिश खाने का एक सही समय होता है। सुबह के समय खाली पेट किशमिश का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। पीरियड्स में दर्द और ऐंठन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए काली किशमिश और केसर के मिश्रण का सेवन करें। इसे रूटीन में शामिल करने से फायदा मिल सकता है।

देसी घी: पीरियड्स में अनियमितता की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अपने भोजन में एक चम्मच देसी घी को जरूर शामिल करें। इससे ना सिर्फ ऐंठन और जी मिचलाने की समस्या दूर होती है बल्कि मासिक धर्म चक्र भी नियमित हो सकता है।

दही-चावल: जिन महिलाओं को पीरियड्स में दर्द की समस्या होती है वह अपने दोपहर के खाने में दही और चावल को शामिल कर सकते हैं। दही-चावल के साथ खाने में आप पापड़ को भी शामिल कर सकते हैं।

नट्स: ऋजुता दिवेकर के मुताबिक महिलाओं को माहवारी के दौरान क्रैम्प्स से छुटकारा पाने के लिए अपनी डाइट में नट्स को भी शामिल करना चाहिए।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट