ताज़ा खबर
 

योग के ये आसन करके आप दूर भगा सकते हैं दिल की बीमारियां

आपको भी जवानी में ही होने लगी है दिल की बीमारियां, तो जरुर अपनाएं ये योगासन।

यह चित्र प्रतीक के तौर पर इस्तेमाल किया गया है

आज जिस तरह का जीवन हम जी रहे हैं, उसमें 20 से 25 साल का युवा भी हार्ट की बीमारी से पीड़ित है। काम का स्ट्रेस, परिवार के लिए अच्छा जीवन, शुद्ध भोजन नहीं लेना और जंक फूड का सेवन इसका मुख्य कारण बन गए हैं। योगा एक ऐसा उपाय है जिससे सभी बीमारियों का इलाज संभव है, आज हम यहां आपको कुछ ऐसे योग आसन बताने जा रहे हैं जिन्हें अपनी दिनचर्या में शामिल करने से आप हार्ट की समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं।

ताड़ासन- यह आसन दिल की नालियों को मजबूत करता है और साथ ही उसके अन्य हिस्सों को भी मजबूती देता है। गहरी सांस लेने से फेफड़ें भी खुलते हैं।

वृक्षासन- इस आसन को अपनाने से कंधे मजबूत होते हैं और दिल की नसें भी मजबूत होती है। इसे करने के बाद आप में विश्वास और खुशी का अपने आप प्रवाह होने लगेगा।

त्रिकोनासन- यह दिल की नाड़ियों को खोलने वाला एक आसन है, जिससे ब्लड अच्छे से फ्लो करता है और इस आसन को करने से शरीर में मजबूती आती है और स्टैमिना बढ़ता है।

वीरभद्रासन- यह आसन शरीर में बैलेंस लाता है और स्टैमिना को बढ़ता है। खून के प्रवाह को बेहतर करता है और स्ट्रेस को खत्म करता है।

अधो-मुखो शवासन- यह आसन छाती को मजबूत करता है और फेफड़ों को खोलता है साथ ही उसकी क्षमता भी बढ़ाता है।

भुजासन- यह आसन छाती को खींचता है, जिससे दिल को पूरी तरह से खुलने का मौका मिलता है।

सेतु बंधासन- यह आसन सांस लेने को आसान बनाता है। यह छाती और स्पाइन को स्ट्रेच करता है। यह छाती के हिस्से में खून का प्रवाह भी बढाता है।

पश्चिमोत्तानासन- इस आसन में सिर दिल से नीचे होता है। यह दिल को सांस लेने में मदद करता है, जिससे हार्ट रेट कम होता है।

दंडासना- यह आसन कन्धों और छाती को अच्छे से स्ट्रेच करता है, यह एक स्वस्थ शरीर के लिए जरुरी होता है।

शवासन- यह आसन सभी योग आसन को करने के बाद करना चाहिए जितनी थकान होती है वो इससे कम हो जाती है। साथ ही ये शरीर और दिल को स्वस्थ करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App