ताज़ा खबर
 

हाई ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए फॉलो करें ये 6 आसान नियम, जानें एक्सपर्ट्स की सलाह

Tips to control blood sugar level: डायबिटीज रोगियों को हर कुछ दिनों के अंतराल पर शुगर लेवल की जांच कराना जरूरी है

डायबिटीज कंट्रोल के लिए डॉक्टर्स की सलाह पर सही और समय से दवाई लेना जरूरी है

High Blood Sugar Control: अनियंत्रित ब्लड शुगर लेवल शरीर को कई तरीकों से नुकसान पहुंचा सकता है। बता दें कि शरीर में ब्लड शुगर का लेवल तब बढ़ता है, जब पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बन पाता। वर्तमान समय में लोगों की सेडेंटरी लाइफस्टाइल, गलत खानपान, स्ट्रेस और मोटापा से शरीर में रक्त शर्करा का स्तर बढ़ने लगता है। शरीर में सामान्य ग्लूकोज की मात्रा 80/110 मिली/डीएल के बीच होता है। लंबे समय तक अगर ब्लड शुगर का स्तर अधिक हो जाता है तो डायबिटीज के चपेट में आने का खतरा भी बढ़ जाता है। ऐसे में एक्सपर्ट्स का मानना है कि इन 6 बातों का ध्यान रखकर शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है –

सही खानपान और रेगुलर एक्सरसाइज: विशेषज्ञों के मुताबिक अगर आपको डायबिटीज है तो खानपान का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। हर ढ़ाई से तीन घंटे पर कुछ न कुछ खाते रहें, इससे ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद मिलेगी। लो जीआई फूड्स का सेवन करें। मैदा, नूडल्स, सफेद चावल और आलू के सेवन से बचें। साथ ही, शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए नियमित व्यायाम भी जरूरी है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल पर रखें काबू: आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि मधुमेह रोगियों में गुड कोलेस्ट्रॉल की कमी, ट्राईग्लिसराइड्स और बैड कोलेस्ट्रॉल की अधिकता होती है जिससे हार्ट डिजीज और स्ट्रोक का खतरा ज्यादा हो जाता है। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल पर नियंत्रण रखना बेहद जरूरी है। पिज्जा, तल-भूने खाद्य पदार्थ और बर्गर से दूरी बना लेनी चाहिए।

कुछ दिनों के अंतराल में चेक करें शुगर लेवल: डायबिटीज रोगियों को हर कुछ दिनों के अंतराल पर शुगर लेवल की जांच कराना जरूरी है। बता दें कि उच्च रक्त शर्करा और निम्न रक्त शर्करा दोनों ही खतरनाक स्थिति हो सकती है। ऐसे में गंभीर मरीजों को हर 15 दिनों पर, बाकी मरीज 3 महीने के भीतर शुगर टेस्ट कराएं।

दवाइयों के सेवन में नहीं बरतें कोताही: डायबिटीज कंट्रोल के लिए डॉक्टर्स की सलाह पर सही और समय से दवाई लेना जरूरी है। मेडिकेशन को स्किप करने से डायबिटीज संबंधी दिक्कतों से जूझना पड़ सकता है।

फॉर्मूला तैयार करें: अपनी जीवन शैली में बदलाव लाने के साथ ही डाइट प्लान का फॉर्मूला तैयार करें। अपने आहार में कॉम्प्लेक्स कार्ब्स, विटामिन्स और एंटी-ऑक्सीडेंट्स को शामिल करें ताकि ग्लूकोज पर नियंत्रण रखा जा सके।

वजन करें कंट्रोल: डायबिटीज की प्रमुख वजहों में से एक मोटापा भी है। ऐसे में वजन पर नियंत्रण रखना बेहद जरूरी है।

Next Stories
1 सीओ के लड़के ने दी मुलायम सिंह यादव के टीचर को धमकी तो रातों-रात हो गया था ट्रांसफर, दिलचस्प है किस्सा
2 कभी मोटापे के कारण होने लगे थे ट्रोल, फरदीन खान ने 6 महीने में ऐसे किया था 18 किलो वजन कम
3 कम या ज्यादा सोने से होता है वजन पर असर, जानें मोटापा कम करने के लिए कितनी देर सोना है जरूरी
ये पढ़ा क्या?
X