सर्दियों के मौसम में अपने पौधों की खूबसूरती को रखें बरकरार, ऐसे करें देखभाल

Flowers care Tips: जहां मॉनसून में कम तापमान और ह्यूमिडिटी पौधों के लिए अच्छी होती है, वहीं इसके साथ उन्हें अतिरिक्त केयर की जरूरत होती है।

Closeup shot of lower in a garden on a blurred background
ठंड के मौसम में पौधों में नमी बरकरार रहती है (Photo – Freepik)

Flowers care Tips: सर्दियों के मौसम में लोगों को अपने घरों में लगे पौधों की चिंता सताने लगती है। क्योंकि ठंड आते ही वातावरण शुष्क हो जाता है और सर्द हवाएं पौधों को नुकसान पहुंचाती हैं। सर्दियों के मौसम (Winter season) में घना कोहरा पड़ने, तापमान में गिरावट, पाला या ओस के कारण पौधे मर जाते हैं। इसलिए ठंड के दौरान पौधों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है।

एक्सपर्ट्स की मानें तो मौसम के हिसाब से पेड़- पौधों की देखभाल करनी चाहिए। आपको यह देखना चाहिए कि पौधों को कितना पानी व धूप मिल रहा है और वास्तव में उन्हें इसकी उतनी जरूरत है भी या नहीं। साथ ही समय-समय पर उन्हें पर्याप्त देख-रेख की भी जरूरत होती है। सर्दियों के मौसम में भी अगर आप अपने पौधों की खूबसूरती को बरकरार रखना चाहते हैं तो इन टिप्स की मदद ले सकते हैं-

अधिक पानी देने से बचें: ठंड के मौसम में पौधों में नमी बरकरार रहती है, ऐसे में उन्हें ज्यादा पानी नहीं देना चाहिए। जरूरत के हिसाब से ही पौधों को पानी दें।

समय-समय पर करें छंटाई: जाड़ों के दौरान पौधों की समय- समय पर छंटाई करने से उन्हें सूरज की अधिक रोशनी मिल पाती है। पौधों को ट्रिम करते रहने से वह जल्दी से मुरझाते नहीं हैं और अच्छी तरह से बढ़ते हैं। इसलिए पौधों में हवा और प्रकाश के प्रवेश के लिए उन्हें समय- समय पर ट्रिम करते रहना बेहद ही जरूरी है।

बर्फबारी से करें बचाव: जिन इलाकों में बर्फबारी होती है, उन जगहों पर अक्सर पौधे मुरझा जाते हैं। ऐसे में पौधों को बर्फबारी से बचाना काफी आवश्यक है। इसके लिए पौधों को घर में ऐसी जगह पर रखें, जहां उन पर बर्फबारी का कोई असर ना पड़े। आप चाहें तो पौधों को बर्फबारी से बचाने के लिए उन्हें पॉलीथीन से ढक भी सकते हैं। सर्द हवाओं से पौधों को बचाने के लिए आप इन्हें कमरे या फिर बालकनी में रख सकते हैं।

नियमित रूप से दें खाद: सर्दियों के मौसम में भी पौधों को नियमित रूप से खाद देना चाहिए। इससे पौधों की खूबसूरती बरकरार रहती है. जहां मानसून में कम तापमान और ह्यूमिडिटी पौधों के लिए अच्छी होती है, वहीं इसके साथ उन्हें अतिरिक्त केयर की जरूरत होती है।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
पारस मणि के अलावा अगर आपको मिल जाएं ये चार चमत्कारी चीजें तो बदल सकता है आपका भाग्यluck, lucky thing, sanjivni buti, pars mani, somras, nagmani, ramayan संजीवनी बूटी, पारस मणि, सोमरस, नागमणि, कल्पवृक्ष, रामायण
अपडेट