ताज़ा खबर
 

पिता के साथ थाने में हुई थी बदतमीजी, बात इतनी चुभी कि बन गए IPS, ऐसी है सुपर कॉप नवनीत सिकेरा की कहानी

IPS Navniet Sekera Success Story: एन्काउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से मशहूर नवनीत सिकेरा बताते हैं कि पिता की इंसल्ट के बाद उसी साल वो सिविल सर्विसेज की परीक्षा में बैठे और उनका चयन हो गया

ips navniet sekera, ips navniet sekera total encounter, navniet sekera encounter list, navniet sekera ips posting, navniet sekera ips batch, ips navniet sekera success storyउनकी रैंकिंग से उन्हें IAS की पोस्ट भी आसानी से मिल सकती थी लेकिन उन्होंने आईपीएस बनना पसंद किया

IPS Navniet Sekera: 1996 बैच के आईपीएस अधिकारी और यूपी पुलिस के आईजी नवनीत सिकेरा सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहते हैं। वो इन प्लैटफॉर्म्स के जरिये आने वाली शिकायतों पर भी त्वरित एक्शन लेते हैं। लखनऊ के कुख्यात गैंगस्टर रमेश कालिया का एनकाउंटर कर सुर्खियों में आए IPS नवनीत मूल रूप से उत्तर प्रदेश के एटा जिले के निवासी हैं। नवनीत अब तक कुल 60 एनकाउंटर कर चुके हैं। इतना ही नहीं, नवनीत सिकेरा पर एक वेब सीरीज भी बनाई जा चुकी है। सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने की चाहत रखने वाले नवनीत ने IIT रुड़की से इंजीनियरिंग की पर अपने पिता के साथ हुई बदतमीजी को देखने के बाद उन्होंने सिविल सर्विसेज में जाने की ठानी। आइए जानते हैं IPS नवनीत सिकेरा की सफलता की कहानी-

IAS के. जयगणेश के लाइफ से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

पुलिस ने की थी पिता की बेइज्जती: नवनीत ने एक इंटरव्यू में बताया था कि कुछ धमकी भरे कॉल्स से परेशान उनके पिता ने थाने में इसकी शिकायत की। वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने एक्शन लेने के बजाय उनके पिता की बेइज्जती कर दी। इस घटना का नवनीत पर बेहद बुरा प्रभाव पड़ा जिसके बाद उन्होंने आईपीएस बनने का निर्णय लिया। नवनीत की आर्थिक दशा उतनी मजबूत नहीं थी, इसके बावजूद भी उन्होंने किसी भी रुकावट को अपने लक्ष्य के बीच में नहीं आने दिया।

ऐसी है IPS डी रूपा की कहानी-

कानपुर के कॉलेज में नहीं मिला था एडमिशन: इंटरव्यू के दौरान आईपीएस नवनीत ने बताया कि छोटे से गांव से होने के कारण अंग्रेजी भाषा पर उनकी पकड़ उतनी मजबूत नहीं थी। कमजोर इंग्लिश के वजह से उन्हें कानपुर के एक कॉलेज का एडमिशन फॉर्म तक नहीं मिल पाया था। हालांकि, उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और IIT व GMAT जैसी परीक्षाओं में पहली कोशिश में ही सफल हुए। सोशल मीडिया पर युवाओं को अक्सर टिप्स देने वाले इस आईपीएस ने सिविल सर्विसेज की परीक्षाओं को भी पहले अटेम्प्ट में ही क्लियर कर लिया था।

पहली कोशिश में हुए सफल: एन्काउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से मशहूर नवनीत सिकेरा बताते हैं कि पिता की इंसल्ट के बाद उसी साल वो सिविल सर्विसेज की परीक्षा में बैठे और सेलेक्ट हो गए। उनकी रैंकिंग से उन्हें IAS की पोस्ट भी आसानी से मिल सकती थी लेकिन उन्होंने आईपीएस बनना पसंद किया। शुरुआती 2 सालों तक वो मेरठ में बतौर एएसपी रहे। जिन लोगों से जबरन या मजबूर करके उनकी चीजों को हथिया लिया गया हो, उन्हें न्याय दिलाने का कार्य करने लगे। अभी नवनीत सिकेरा लखनऊ में आईजी (IG) के पद पर कार्यरत हैं।

उनके जीवन पर आधारित है वेब सीरीज ‘भौकाल’: नवनीत सिकेरा को उत्तर प्रदेश का ‘सुपर कॉप’ कहा जाता है। उनकी बहादुरी के कारनामों पर हाल ही में ‘भौकाल’ नाम की वेब सीरीज आई थी।। एमएक्स प्लेयर (MX Player) पर मौजूद इस वेब सीरीज में छोटे पर्दे के अभिनेता मोहित रैना ने नवनीत की भूमिका निभाई है। नवनीत ने जिस तरह की कार्य कुशलता के साथ लखनऊ व मुज़फ्फरनगर में बढ़ रहे गैंगवार को खत्म किया, उसी का नाट्य मंचन है भौकाल।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 COVID-19: न रहें नंगे पैर, फर्श को रखें साफ, जानिये- मानसून में कोरोना से बचने के लिए एक्सपर्ट्स ने और क्या बताया
2 सोनम कपूर ने इस तरह लूज किया था 35 किलो वजन, जानिये- फिट रहने के लिए कैसा रूटीन फॉलो करती हैं
3 Hair Care: गीले बालों में ही सोने की है आदत तो हो जाएं सावधान, इन समस्याओं के बन सकते हैं शिकार…