ताज़ा खबर
 

ऐनेस्थेसिया में एमडी हैं किसान आंदोलन के नेता दर्शन पाल, सिविल सेवा की नौकरी छोड़कर शुरू की थी खेती

किसान संगठनों के बीच तालमेल बनाने में डॉक्टर दर्शन पाल ने अहम भूमिका निभाई है। पटियाला के रहने वाले डॉक्टर दर्शन पाल मीडिया से बातचीत करने की जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं।

darshan pal, farmer leader, farmer protestसिविल सर्विस की नौकरी छोड़ चुके हैं दर्शन पाल

देश के किसान 25 नवंबर से नए कृषि बिलों के विरोध में धरने पर बैठे हैं। किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के चारों तरफ कई बॉर्डर पर मोर्चा जमाया हुआ है। दो दिन पहले किसानों ने शक्ति प्रदर्शन करते हुए ट्रैक्टर मार्च भी निकाला था। किसान और सरकार के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा। इस किसान आंदोलन में पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई किसान नेता अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। ऐसे ही एक किसान नेता हैं क्रांतिकारी किसान यूनियन पंजाब के अध्यक्ष दर्शन पाल।

कौन हैं दर्शनपाल : डॉ दर्शन पाल आंदोलन के मुख्य नेताओं में से एक हैं। दर्शन पाल किसानों के उस कोर ग्रुप में शामिल हैं जो कृषि बिल और किसानों के मुद्दे को लेकर सरकार से बातचीत कर रहा है। डॉ दर्शन पाल क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष भी हैं। यह संगठन वामपंथी विचारधारा का समर्थन करता है। वो लंबे समय से किसानों की ऋण माफी की लड़ाई लड़ रहे हैं। उनका संगठन जून 2020 से नए कृषि बिलों का विरोध कर रहा है।

पंजाब सिविल मेडिकल सर्विस की नौकरी छोड़ चुके हैं दर्शन पाल : डॉ दर्शन पाल ऐनेस्थेसिया में एमडी हैं। उन्होंने लंबे समय तक सरकारी नौकरी की। इसके बाद उन्होंने 2002 में पंजाब सिविल मेडिकल सर्विस से त्यागपत्र दे दिया। सरकारी नौकरी से त्यागपत्र देने के बाद दर्शन पाल अपनी 15 एकड़ जमीन पर खेती करने लगे। क्रांतिकारी किसान यूनियन में शामिल होने से पहले डॉ दर्शन पाल भारतीय किसान यूनियन के आंदोलनों में भी काफी सक्रिय रहे हैं।

किसान संगठन के बीच तालमेल में निभा रहे हैं अहम भूमिका : किसान संगठनों के बीच तालमेल बनाने में डॉक्टर दर्शन पाल ने अहम भूमिका निभाई है। पटियाला के रहने वाले डॉक्टर दर्शन पाल मीडिया से बातचीत करने की जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं। वे किसान नेतृत्व के उन चेहरों में शामिल हैं जो क्षेत्रीय भाषाओं के साथ ही अंग्रेजी में भी किसानों की बात पूरी मज़बूती से मीडिया के सामने रखते हैं। ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोर्डिनेशन कमेटी के सदस्य के तौर पर दर्शन पाल ने आंदोलन को पंजाब से बाहर उत्तर प्रदेश, राजस्थान में ले जाने में अहम भूमिका निभाई है।

Next Stories
1 सर्दियों में डैंड्रफ और हेयर फॉल से हैं परेशान तो काम के हैं बाबा रामदेव के ये टिप्स
2 जानिये कौन हैं बाबा लक्खा सिंह जो किसान आंदोलन में सुलह की पेशकश कर आए चर्चा में
3 सर्दियों में खो गया है चेहरे का ग्लो? इन पांच तरीकों से बनाएं चेहरे को स्वस्थ और चमकदार
ये पढ़ा क्या?
X