ताज़ा खबर
 

सुबह-सवेरे पीयें तेजपत्ते की चाय, वजन घटाने में मिलेगी मदद; जानें हैरान करने वाले फायदे

Weight Loss Drink: प्रोटीन और फाइबर से भरपूर इस ड्रिंक के सेवन से वजन घटाने में मदद मिलती है

शरीर के मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में तेजपत्ता मददगार साबित होता है

Weight Loss: बे लीफ जिसे आम भाषा में तेजपत्ता कहा जाता है, भारतीय रसोइयों में इसका इस्तेमाल बेहद आम है। कई भारतीय पकवानों को बनाने में इसे यूज किया जाता है। पर ये तेजपत्ते बस स्वाद ही नहीं, स्वास्थ्य गुणों से भी भरपूर हैं। एक्सपर्ट्स का मानना है कि तेजपत्ता में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसे एंटी-ऑक्सीडेंट, कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, सेलेनियम और आयरन का बेहतरीन स्रोत माना जाता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि रोज सुबह इससे बनी चाय को पीने से कई स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं। वजन घटाने में भी ये लाभप्रद है, आइए जानते हैं विस्तार से –

कैसे बनाएं तेजपत्ते की चाय: 3 तेजपत्ते लें, चुटकी भर दालचीनी पाउडर, दो कप पानी और नींबू व शहद लें। सबसे पहले इन पत्तों को धो लें और एक अन्य बर्तन में पानी उबालें। अब इस बर्तन में तेजपत्ता और दालचीनी पाउडर मिलाएं। फिर इस मिश्रण को 10 मिनट तक उबालें। फिर गैस बंद करें और इस चाय को कप में छान लें। फिर इसमें अपनी स्वाद के अनुसार शहद या नींबू मिलाकर पीयें।

वजन घटाने में है मददगार: शरीर के मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में तेजपत्ता मददगार साबित होता है। इसके प्रभाव से शरीर में जो भी एक्सट्रा फैट है वो बर्न हो जाता है। इसके अलावा, ये ड्रिंक प्रोटीन और फाइबर से भी भरपूर होता है क्योंकि इसमें दालचीनी भी मिला होता है जो शरीर को डिटॉक्स करता है। इतना ही नहीं, इस चाय को पीने से स्ट्रेस लेवल कम होता है जो वजन कम करने में भी सहायक है।

दूर होता है इंफेक्शन का खतरा: तेजपत्ता में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी मौजूद होता है जो इम्युन सिस्टम को मजबूत करने और बीमारियों से दूर रखने में मदद करता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो लोगों को इंफेक्शन से दूर रखने में कारगर है।

दिल के मरीजों के लिए लाभकारी: इस चाय में प्रचुर मात्रा में पोटैशियम, एंटी-ऑक्सीडेंट्सस और आयरन पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने और दिल की बीमारियों से लड़ने में सहायक है।

ब्लड शुगर पर रहता है नियंत्रण: 2009 के एक शोध के अनुसार तेजपत्ता शुगर लेवल कंट्रोल करने में सहायक है। तेजपत्ता में फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं वहीं, दालचीनी में मौजूद तत्व भी डायबिटीज के लक्षणों और परेशानियों को कम करने में मददगार साबित होता है।

Next Stories
1 इन 3 तकनीकों की मदद से नैचुरली बढ़ाएं शरीर में ऑक्सीजन लेवल
2 Hair Care: अपने कर्ली और फ्रिजी बालों की इस तरह करें देखभाल, अपनाएं ये हेयर केयर टिप्स
3 आकाश अंबानी की शादी में इस्तेमाल हुए थे हरे रंग के हेलीकॉप्टर और गाड़ियां, नीता-मुकेश अंबानी की प्रेम कहानी से था कनेक्शन
आज का राशिफल
X