ताज़ा खबर
 

ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान क्या निकलता है दूध में खून, जानिये क्या हो सकता है कारण और बचाव के तरीके

Tips for Breast Feeding: ब्रेस्ट में किसी भी प्रकार का बदलाव महसूस होने पर झिझकें नहीं, तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें

Breastfeeding, world breastfeeding week 2020, breastfeeding problems, breastfeeding tips, breastfeeding diet, blood in breast milk नवजात बच्चे के लिए मां का दूध अमृत के समान होता है। डॉक्टर्स शुरुआती 6 महीनों तक बच्चों को केवल मां का दूध पिलाने की ही सलाह देते हैं

Tips on Breast Feeding: मां बनना हर महिला के लिए सबसे खूबसूरत अनुभव होता है। खासतौर पर तब जब वह पहली बार मां बनने वाली होती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान या बाद में महिलाओं को अपना खास ध्यान रखने की जरूरत होती है क्योंकि उनसे उनके बच्चे का स्वास्थ्य जुड़ा हुआ होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान लोग महिलाओं को कई अलग-अलग तरीके के सुझाव देते हैं। हालांकि, प्रेग्नेंसी व ब्रेस्ट फीडिंग से जुड़ी हर बात की जानकारी नहीं होती है। ऐसे में स्तनपान के प्रति दुनिया में जागरुकता फैलाने के लिए 1 से 7 अगस्त को हर साल वर्ल्ड ब्रेस्ट फीडिंग वीक मनाया जाता है। इस साल इस इवेंट का थीम है, ‘सपोर्ट ब्रेस्टफीडिंग फॉर ए हेल्दियर प्लैनेट’। आइए जानते हैं स्तनपान के दौरान दूध में से खून क्यों निकलने लगता है –

बच्चों के लिए ब्रेस्ट फीडिंग क्यों जरूरी है: नवजात बच्चे के लिए मां का दूध अमृत के समान होता है। डॉक्टर्स शुरुआती 6 महीनों तक बच्चों को केवल मां का दूध पिलाने की ही सलाह देते हैं। यही नहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार भी महिलाओं को जन्म के 1 घंटे के अंदर बच्चों को स्तनपान कराना चाहिए। ब्रेस्ट फीडिंग से पहली बार बने दूध को कोलोस्ट्रम कहा जाता है जो नवजात बच्चों के लिए बेहद लाभकारी होता है। कोलोस्ट्रम में इम्यूनोग्लोबिन का आइजीए (IGA) मौजूद होता है जो बच्चों को कई इंफेक्शन्स और वायरस, बैक्टीरिया से दूर रखता है।

दूध से कब निकलता है खून: ब्रेस्ट मिल्क में आमतौर पर ब्लड कुछ हद तक मौजूद होता है, जिसकी ओर महिलाओं का ध्यान नहीं जाता है। लेकिन जब शिशु दूध पीकर हटता है तो दूध के साथ वही खून निकल जाता है। ऐसे में महिलाएं इसे देखकर डर जाती हैं, इसके अलावा भी कई कारणों से ब्रेस्ट मिल्क में से खून आ सकता है। लगातार ब्रेस्ट फीडिंग कराने के बाद निप्पल्स में दर्द, दरारें और घाव हो सकती है। ऐसे में जब बच्चा मां का दूध पीता है तो खून निकल सकता है। वहीं, कई बार ब्रेस्ट में गांठ बनने पर भी स्तनपान के दौरान खून आ सकता है।

किन बातों का ध्यान रखना है जरूरी: इन परेशानियों से निजात पाने के लिए जरूरी है कि नई माएं अपने शरीर के प्रति विशेष ध्यान दें। ब्रेस्ट में किसी भी प्रकार का बदलाव महसूस होने पर झिझकें नहीं, तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें। डाइट में उन फूड्स को शामिल करें जिनसे ब्रेस्ट मिल्क के प्रोडक्शन में मदद मिलती है। साथ ही, अगर आपको स्तनपान कराने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है तो कुछ समय के लिए ब्रेस्ट पंप का इस्तेमाल करें।

Next Stories
1 शो में लेखक बने ‘तारक मेहता’ असल जिंदगी में भी लिख चुके हैं किताबें, पत्नी भी हैं राइटर, जानिये शैलेश लोढ़ा की दिलचस्प कहानी
2 Hair Fall: बालों का गिरना टूटना हो सकता है बंद, डाइट में शामिल करें ये फूड्स
3 Skin Care: चेहरे के दाग-धब्बों को दूर करेगा आम का फेस पैक, निखार लाने में भी है मददगार
ये पढ़ा क्या?
X