ताज़ा खबर
 

तो इसलिए प्रेगनेंसी में जरूरी है विटामिन-ई, आज आप भी जानिए

शरीर के फैटी एसिड को संतुलन में रखने का काम भी विटामिन ई ही करता है। इसके अलावा हार्मोंस का संतुलन बनाए रखने में भी विटामिन ई सहायक होता है।
प्रतीकात्मक चित्र

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को कई तरह की सावधानियों का ध्यान रखना पड़ता है। महिलाओं को अपने खान-पान का भी ख्याल रखना होता है। वह प्रेगनेंसी के दिनों कौन-कौन से विटामिन ले रही हैं, यह भी बहुत मायने रखता है। हम यहां प्रेगनेंट महिलाओं के लिए विटामिन-ई की जरूरतों के बारे में बता रहे हैं। एक शोध के मुताबिक प्रेगनेंट महिलाओं के लिए विटामिन ई बहुत जरूरी होता है। क्योंकि इससे भ्रूण का मानसिक विकास प्रभावित होता है और विटामिन ई की कमी से शारीरिक असामान्यताएं होने का भी खतरा बना रहता है।

दरअसल, विटामिन ई डोकोसेहेक्सॉनिक एसिड के स्तरों को सुरक्षा प्रदान करता है। इसकी कमी से डीएचए का स्तर प्रभावित होता है और तंत्रिका तंत्र की क्षति की आशंका बढ़ जाती है। विटामिन ई झुर्रियों को रोकने में लाभकारी है। विटामिन ई की कमी से इन भ्रूण में चोलीन और ग्लूकोज की कमी रह जाती है और विकास सही तरीके से नहीं हो पाता। गर्भवती औरतों के लिए विटामिन ई की खुराक सीखने का कौशल बढ़ाने में मददगार है। विटामिन ई के फायदे इस प्रकार हैं-

– प्रेगनेंसी में विटामिन ई एनीमिया जैसी ही कई बीमारियों से शिशु की रक्षा करता है।

– शरीर में अगर विटामिन ई की कमी होती है तो यह कई रोगों को निमंत्रण जैसा होता है। विटामिन ई की कमी के चलते किसी भी रोग का संक्रमण जल्दी होने की संभवना बढ़ जाती है।

– विटामिन ई की कमी से नपुंसकता, बांझपन, आंतों में घाव, गंजापन, गठिया, पीलिया, मधुमेह और हृदय रोग जैसी परेशानियां हो सकती हैं।

– विटामिन ई खून में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है। यह मांसपेशियां और अन्य टिश्यू समेत शरीर के कई अंगों को सामान्य रूप में बनाये रखने मदद करता है।

– शरीर के फैटी एसिड को संतुलन में रखने का काम भी विटामिन ई ही करता है। इसके अलावा हार्मोंस का संतुलन बनाए रखने में भी विटामिन ई सहायक होता है।

– विटामिन ई की कमी के चलते प्रेगनेंट महिलाओं को मानसिक तनाव और समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

– थायराइड ग्लैण्ड और पिट्यूटरी ग्लैण्ड को सही से काम करने के लिए भी विटामिन ई काफी जरूरी होता है।

शरीर में विटामिन ई की पूर्ति करते हैं ये फूड: विटामिन ई के लिए महिलाओं को वनस्पति तेल, गेहूं, जौ, खजूर, मांढ के चावल, साग, चना, मक्खन, मलाई, शकरकन्द, अंकुरित अनाज और फलों का सेवन करना चाहिए। ये फूड शरीर में विटामिन और आवश्यक लवणों की पूर्ति करता है। इससे शरीर के संपूर्ण विकास में मदद मिलती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App