scorecardresearch

दिल्ली: स्टेडियम में कुत्ता टहलाने को लेकर विवादों में फंसे संजीव खिरवार की पत्नी भी हैं IAS, अरुणाचल से गोवा तक अहम ओहदों पर रहे हैं

IAS Officer Walk with Dog: IAS अधिकारी संजीव खिरवार फिलहाल दिल्ली में रेवेन्यू कमिश्नर के पद पर तैनात हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में-

IAS Walk with Dog | IAS Officer Sanjeev Khirwar | Sanjeev Khirwar News
आईएएस संजीव खिरवार (Image: Twitter/@chad_infi)

काफी समय से एथलीट और कोच उनकी प्रैक्टिस में आ रही रुकावट को लेकर शिकायत कर रहे थे। उनका आरोप है कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार अपने कुत्ते के साथ स्टेडियम में टहल सकें। द इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक खबर के अनुसार दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में एथलीट और कोच को पिछले कुछ महीनों में शाम 7 बजे तक ट्रेनिंग पूरी करके स्टेडियम खाली करने के लिए कहा जाता था।

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक कोच ने कहा,“हम पहले रात 8 से 8.30 बजे तक ट्रेनिंग करते थे। लेकिन अब हमें शाम 7 बजे तक मैदान से बाहर निकलने को कहा जाता है ताकि अधिकारी अपने कुत्ते को घूमा सकें। इससे हमारी ट्रेनिंग और प्रैक्टिस दोनों बाधित हो गई है। ” हालांकि आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार ने इस मामले में मीडिया से कहा कि वह अपने कुत्ते के साथ स्टेडियम टहलने तो जाते हैं लेकिन कभी ट्रेनिंग को रोकने की कोशिश नहीं की है। आइए जानते हैं आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार के बारे में-

कौन है आईएएस संजीव खिरवार

संजीव खिरवार 1994 बैच के AGMUT कैडर के आईएएस अफसर हैं और दिल्ली सरकार में प्रधान सचिव हैं और पर्यावरण एवं वन विभाग का काम के साथ ही दिल्ली में रेवेन्यू कमिश्नर के पद पर कार्यरत हैं। उनके अंतर्गत ही दिल्ली के सारे डीएम काम करते हैं। खिरवार ने आईआईटी दिल्ली से कंप्यूटर साइंस में बी-टेक किया हुआ है। इसके अलावा अर्थशास्त्र से एमए की पढ़ाई की है। उन्होंने अपने सिविल सेवा का करियर चंडीगढ़ में बतौर एसडीएम शुरू किया था।

पत्नी भी हैं आईएएस

खिरवार का जन्म दिल्ली में हुआ था। उन्होंने एजीएमयूटी कैडर के 1994 बैच के आईएएस अधिकारी रिंकू धुग्गा से शादी की है। हरियाणा की रहने वाली धुग्गा भी स्टेडियम में अपने पति संजीव खिरवार के साथ घूमती हुई दिखाई दी है। बता दें की अब तक खिरवार दिल्ली, गोवा, चंडीगढ़, अरुणाचल प्रदेश सहित अन्य राज्यों में कई अहम पदों पर रह चुके हैं।

दिल्ली में नौकरशाहों को सीधे केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा उपराज्यपाल (एलजी) के माध्यम से नियुक्त किया जाता है। संयोग से खिरवार को लेकर विवाद उस दिन आया है जब विनय कुमार सक्सेना दिल्ली के नए उपराज्यपाल के तौर पर शपथ लेंगे।

संजीव खिरवार की पिछली पोस्टिंग

50 वर्षीय खिरवार लगभग 28 वर्षों के अपने करियर में, उन्होंने गोवा उत्पाद शुल्क और वित्त आयुक्त और पश्चिमी दिल्ली के उपायुक्त जैसे महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं। वह अरुणाचल प्रदेश में सचिव, इसके साथ ही अंडमान और निकोबार में भी सचिव रह चुके हैं। अक्टूबर 2009 और अगस्त 2014 के बीच अपने सेंट्रल डेप्युटेशन पर खिरवार को केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री के निजी सचिव के रूप में तैनात किया गया था।

दिल्ली में उन्होंने सचिव स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, राजस्व, वित्त और सामान्य प्रशासन विभाग जैसे महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है। उन्होंने कृषि विपणन बोर्ड, आयुक्त आबकारी और साल 2006-07 में दिल्ली सरकार के टैक्स डिपार्टमेंट में अतिरिक्त सचिव के रूप में भी कार्य कर चुके हैं।

अपनी वर्तमान पोस्टिंग से पहले, दिल्ली में पर्यावरण और वन में प्रमुख सचिव के साथ उनके पास प्रमुख सचिव (राजस्व) के साथ मंडलायुक्त का अतिरिक्त प्रभार भी था। बता दें कि 1994 में आईएएस क्वालिफाई करने के बाद खिरवार की पहली पोस्टिंग चंडीगढ़ में एसडीएम (जूनियर स्केल) थी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिया आदेश

दिल्ली सरकार ने खिरवार का मामला सामने आने के बाद एक आदेश जारी करते हुए कहा है कि अब रात 10 बजे तक खिलाड़ियों, एथलीट्स आदि के लिए स्टेडियम खुले रहेंगे। वहीं स्टेडियम प्रशासक अनिल चौधरी ने आरोपों से इनकार किया और कहा कि आधिकारिक समय का पालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि एथलीटों के ट्रेनिंग के लिए जो आधिकारिक समय है वह शाम 7 बजे तक है। हालांकि किसी को भी जल्दी जाने के लिए नहीं कहा गया था।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट