कब्ज से हैं परेशान तो अलसी के बीज दिला सकते हैं छुटकारा, जानिये

पेट साफ नहीं होने के कई कारण होते है, जिनमें से एक सबसे बड़ा कारण कब्ज (Acidity) की समस्या है। अपने आहार में अलसी को शामिल कर पाचन क्रिया में सुधार कर सकते हैं।

Woman having stomach ache from Acidity
जीवनशैली में सुधार कर हम एसिडिटी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं (photo-Freepik)

एसिडिटी की समस्या में मरीज का पेट ठीक से साफ नहीं हो पाता है। यदि पेट में अपच, गैस, अफारा, गले में जलन या खट्टी डकारे आती हैं तो आपको सावधान होने की जरूरत है। क्योंकि यही हल्की बीमारियां आपके लिवर को नुकसान पहुंचा सकती हैं। साथ ही, शौच के समय काफी असुविधा और पीड़ा होती है। ये परेशानी पेट या फिर पाचन संबंधी ही नहीं है, कई बार ये रूखी त्वचा, बाल और नींद संबंधी दिक्कत का कारण बनती है। इसके वजह से चिड़चिड़ाहट महसूस होती है और दिन भर इंसान फ्रेश फील नहीं कर पाता है।

ऐसे में हर कोई इससे निजात पाना चाहता है जिसमें आयुर्वेद मददगार है। विशेषज्ञ मानते हैं कि जिस प्रकार इम्युनिटी को बेहतर करने में थोड़ा समय लगता है, ठीक वैसे ही पाचन की दिक्कतों को दूर करने में भी समय लगता है। अक्सर कब्ज से छुटकारा पाने के लिए प्राकृतिक इलाज के रूप में किया जाता है। आप अपने आहार में अलसी को शामिल कर पाचन क्रिया में सुधार कर सकते हैं। आइये जानते हैं विस्तार से-

यूरिक एसिड में उपयोगी: शरीर में यूरिक एसिड के लेवल को कम करने में अलसी के बीज बेहद ही कारगर है। अलसी के बीज न सिर्फ यूरिक एसिड बल्कि वजन कम करने और मधुमेह के रोगियों के लिए भी किसी रामबाण से कम नहीं है। इसमें मौजूद पोषक तत्व शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने में कारगर हैं। रोजाना भोजन करने के आधा घंटे बाद एक चम्मच अलसी के बीज का जरूर सेवन करें। इससे कुछ ही दिनों में आपको फर्क दिखने लगेगा।

कब्ज से छुटकारा: अलसी बीज को सुपर फ़ूड में शामिल किया गाया है। फ्लक्स सीड्स में अनगिनत फायदे छुपे हुए हैं। पाचन शक्ति को बढ़ाता है, कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है और साथ ही त्वचा के लिए भी बेहद फायदेमंद है। अलसी के बीज के नियमित इस्तेमाल से शरीर को डिटॉक्स करने भी मदद मिलती है। इसके लिए एक गिलास पानी में एक बड़ी चम्मच पिसी हुई अलसी दिन में एक या दो बार पिएं, इससे आपकी पाचन शक्ति तो बढ़ती ही है साथ ही कब्ज की समस्या ठीक हो जाएगी। 

अलसी के नुकसान: अधिक मात्रा में किसी भी चीज का सेवन शरीर को फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में अलसी के बीज का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे आंतों में रुकावट पैदा हो सकती है और साथ ही दस्त की समस्या भी हो सकती है। विशेषज्ञों के अनुसार गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी अलसी के सेवन से बचना चाहिए। 

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट