ताज़ा खबर
 

Children’s Day 2020 Speech, Essay, Quotes: बाल दिवस के मौके पर यहां से तैयार करें बेहतरीन स्पीच

Children's Day (Bal Diwas) 2020 Speech, Essay, Quotes, Nibandh, Bhashan, Poem in Hindi: उन्हें बच्चों से बेहद लगाव था और बच्चे भी नेहरू जी को चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे

childrens day, childrens day 2020, childrens day speech, childrens day essayChildren’s Day Speech: प्रत्येक साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है

Children’s Day (Bal Diwas) 2020 Speech, Essay, Quotes, Nibandh, Bhashan: देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। सन् 1889 में 14 नवंबर को पंडित नेहरू का जन्म हुआ था। उन्हें बच्चों से बेहद लगाव था और बच्चे भी नेहरू जी को चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे। पंडित नेहरू ने बच्चों के अधिकार, देखभाल और शिक्षा के बारे में लोगों के समक्ष खुलकर अपना पक्ष रखा था और जागरुक भी किया था। नेहरू जी ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और भारतीय प्रबंधन संस्थान जैसे शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना की थी।

प्रत्येक साल 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है। ये दिन बच्चों को ही समर्पित है, इस दिन विद्यालयों में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेल-कूद प्रतियोगिताएं व भाषण और निबंध का आयोजन होता है। आप स्पीच लिखने में यहां से मदद ले सकते हैं।

स्पीच 1: भारतीय प्रधानमंत्री के रुप में अपने व्यस्त जीवन के बावजूद भी वो बच्चों से बेहद लगाव रखते थे। वो उनके साथ रहना और खेलना बहुत पसंद करें थे। चाचा नेहरु को श्रद्धांजलि देने के लिये 1964 से बाल दिवस के रुप में उनके जन्मदिवस को मनाया जा रहा है। नेहरु जी कहते थे कि बच्चे देश का भविष्य है इसलिये ये जरूरी है कि उन्हें प्यार और देख-भाल मिले। जिससे कि वो अपने पैरो पर खड़े हो सकें। देश और बच्चों के उज्ज्वल भविष्य को सुरक्षित करने और किसी भी प्रकार के नुकसान से बचाने के लिये बाल दिवस सभी के लिये एक आह्वान स्वरूप है।

स्पीच 2: भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिवस को याद करने के लिए 14 नवंबर को पूरे भारत में बाल दिवस ( Bal Diwas ) मनाया जाता है। ढेर सारे उत्साह और आनंद के साथ हर वर्ष बाल दिवस के रूप में 14 नवंबर को मनाया जाता है। यह भारत के महान नेता को श्रद्धांजलि देने के साथ ही पूरे देश में बच्चों की स्थिति को सुधारने के लिए मनाया जाता है।

नेहरू जी के बच्चों के प्रति गहरे लगाव और प्यार की वजह से बच्चे उन्हें चाचा नेहरू कहते थे। बच्चों के प्रति उनके प्यार और जुनून की वजह से उनके जन्मदिवस को बचपन को सम्मान देने के लिए बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। लगभग सभी स्कूल और कॉलेजों में राष्ट्रीय स्तर पर हर वर्ष उन्हें याद किया जाता है बच्चों पर ध्यान केंद्रित करने और उन्हें खुशी देने के लिए स्कूलों में बाल दिवस ( Children’s Day ) मनाया जाता है।

Live Blog

Highlights

    13:17 (IST)13 Nov 2020
    बच्चों के लिए है खास

    बाल दिवस बच्चों के लिए बहुत खास दिन माना जाता है। इस दिन सभी स्कूलों और बालवाड़ियों में बच्चों के लिए खास कार्यक्रम चलाए जाते हैं। लेकिन इस बार लॉकडाउन की वजह से ऑनलाइन प्रोग्राम आयोजित किए जा रहे हैं।

    12:42 (IST)13 Nov 2020
    इस तरह मनाया जाता है

    दरअसल बाल दिवस की नींव 1925 में रखी गई थी। जब बच्चों के कल्याण पर 'विश्व कांफ्रेंस' में बाल दिवस मनाने की सर्वप्रथम घोषणा हुई। 1954 में दुनिया भर में इसे मान्यता मिली। बाल दिवस बच्चों के लिए महत्वपूर्ण दिन होता है। इस दिन स्कूली बच्चे बहुत खुश दिखाई देते हैं। वे सज-धज कर विद्यालय जाते हैं। विद्यालयों में बच्चे विशेष कार्यक्रम आयोजित करते हैं। वे अपने चाचा नेहरू को प्रेम से स्मरण करते हैं।

    11:58 (IST)13 Nov 2020
    बच्चों के चाचा नेहरू

    भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पं.जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन 14 नवंबर को आता है। इस दिन को विशेष तौर पर 'बाल दिवस' के रूप में मनाया जाता है, क्योंकि नेहरूजी को बच्चों से बहुत प्यार था और बच्चे उन्हें 'चाचा नेहरू' पुकारते थे। बाल दिवस बच्चों को समर्पित भारत का राष्ट्रीय त्योहार है। देश की आजादी में भी नेहरू का बड़ा योगदान था। प्रधानमंत्री के रूप में उन्होंने देश का उचित मार्गदर्शन किया था। 

    11:40 (IST)13 Nov 2020
    खत्म किया जा सके शोषण

    बाल दिवस पूरे विश्व में अलग-अलग दिन मनाया जाता है। लेकिन इसको मनाने का उद्देश्य हर जगह एक ही है – बच्चों के अधिकारों की रक्षा करना और उन्हें मूलभूत सुविधाएँ उपलब्ध करवाना। उन्हें सही शिक्षा, पोषण, संस्कार मिले इस बात का ध्यान रखा जाता है। देश के भावी पीढ़ियों इस दिन को चुना गया है। हमारे देश में बाल शोषण और बाल मज़दूरियों को देखते हुए इस दिन का महत्व और भी बढ़ जाता है। ताकि हम इस दिन ये प्रण ले सके की बच्चों के प्रति होने वाले हर शोषण को खत्म किया जा सके।

    11:16 (IST)13 Nov 2020
    भारत के प्रथम प्रधानमंत्री की जयंती

    प्रत्येक वर्ष बाल दिवस 14 नवंबर को मनाया जाता है इस तिथि को प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी का जन्म हुआ था| पंडित जवाहरलाल नेहरू जी बच्चों से अत्यंत प्यार करते थे उन्हें बच्चों के साथ खेलना कूदना बहुत पसंद था| जिस खुशी में चाचा जी ने अपने जन्मदिन को बाल दिवस के नाम से प्रस्तुत किया

    Next Stories
    1 Diwali Rangoli Designs 2020 Images, Photos: दिवाली पर रंगोली बनाने का खास होता है महत्व, यहां से ले सकते हैं मदद
    2 Happy Dhanteras 2020 Wishes Images, Messages: धन आगमन के लिए अपनों को भेजें धनतेरस की ये खास शुभकामनाएं
    3 Happy Dhanteras 2020 Wishes Images, Status: ‘सोने का रथ, चांदी की पालकी…’ धनतेरस पर अपने करीबियों को इन संदेशों दें बधाईयां
    यह पढ़ा क्या?
    X