ताज़ा खबर
 

उम्र के इस पड़ाव को पार करने के बाद एक्सरसाइज रुटीन में करने चाहिए ये बदलाव

50 की उम्र के पड़ाव में आपको एक्सरसाइज करते वक्त अधिक ध्यान देने की जरुरत होती है क्योंकि इस दौरान आपकी मसल्स कमजोर हो सकती हैं और खिंचाव का कारण बन सकती हैं।

Author नई दिल्ली | October 31, 2018 12:03 PM
वर्कआउट।

हर उम्र के अनुसार आपकी जीवनशैली भी बदलती रहती है। इसलिए आपको 50 की उम्र में भी अपनी दिनचर्या में कुछ बदलाव करने चाहिए। आपने लोगों को कहते सुना होगा कि 50 की उम्र में एक्सरसाइज करना या वर्कआउट करना उचित नहीं है हालांकि ऐसा नहीं है। जरुरत है कि आप कुछ चीजों को ध्यान में रखते हुए एक्सरसाइज करें क्योंकि इस उम्र में आपका मसल मास घटने लगता है। आइए जानते हैं कि 50 की उम्र के पड़ाव को पार करने के बाद एक्सरसाइज रुटीन में क्या बदलाव करने चाहिए।

वार्म-अप ज्यादा करें:
आपकी मसल्स को वर्कआउट के लिए तैयार करने के लिए आपको वार्म अप की जरुरत होती है। इसलिए हर वर्कआउट से पहले वार्म-अप पहले से ज्यादा करें।

वर्कआउट के बाद स्ट्रेच करें:
अब तक आप वर्कआउट के बाद स्ट्रेच मिस कर देते थे तो भी परेशानी नहीं होती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। 50 की उम्र के बाद आपको हर रोज वर्कआउट के बाद स्ट्रेच करना चाहिए। इससे आपकी मसल्स में खिंचाव नहीं होगा।

फ्लैक्सिब्लिटी बढ़ाएं:
किसी भी वर्कआउट को करने के लिए आपके शरीर का फ्लैक्सिबल होना जरुरी है। फ्लैक्सिब्लिटी मांसपेशियों, लिगामेंट्स और टेंडन्स को ढ़ीला रखती है। इसलिए शरीर का संतुलन और लचीलापन बढ़ाने के लिए योगा और पिलेट्स करें।

रेस्ट डे:
इस उम्र में मसल्स की रिकवरी में समय लगता है। इसलिए आपको पहले से ज्यादा आराम की जरुरत होती है। सप्ताह में एक-दो दिन का रेस्ड लें। वर्कआउट के बीच में भी रेस्ट टाइम बढाएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App