ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन, शिशु की सेहत पर पड़ सकता है बुरा असर

प्रसव के बाद महिलाओं को अधिक चाय और कॉफी के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि चाय और कॉफी में कैफीन की अधिक मात्रा होती है, जिसके कारण शिशु के नींद में बाधा आ सकती है।

Lifestyle, Lifestyle News, Lifestyle And Leisure
ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली महलिओं को इन चीजों के सेवन से बचना चाहिए

हर महिला के लिए मां बनने का अनुभव सबसे खूबसूरत होता है। अगर आप पहली बार मां बनी हैं तो यह अहसास बेहद ही खास हो जाता है। गर्भावस्था से प्रसव के बाद भी महिलाओं को अपने खानपान का विशेष रूप से ध्यान देने की जरूरत होती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि नवजात शिशु के लिए मां का दूध सबसे ज्यादा पौष्टिक होता है। ब्रेस्ट मिल्क शिशु के शारिरिक और मानसिक विकास के लिए बेस्ट माना जाता है। एक्सपर्ट्स भी मानते हैं कि मां के स्तनपान कराने से शिशु को कई तरह की गंभीर बीमारियों से बचने में मदद मिलती है।

इसके अलावा स्तनपान कराने वाली मां को दिल का दौरा और हार्ट अटैक पड़ने का खतरा भी बेहद ही कम हो जाता है। ब्रेस्ट फीडिंग करवाने वाली मां के खानपान का असर सबसे ज्यादा बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ता है। ऐसे में मां को अपनी डाइट के प्रति सर्तकता बरतने की काफी आवश्यकता होती है। ऐसे में कुछ चीजें हैं, जिनके सेवन से ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली महिलाओं को बचना चाहिए।

चाय/कॉफी: प्रसव के बाद महिलाओं को अधिक चाय और कॉफी के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि चाय और कॉफी में कैफीन की अधिक मात्रा होती है, जिसके कारण शिशु के नींद में बाधा आ सकती है। ऐसे में डॉक्टर्स भी डिलीवरी के बाद महिलाओं को चाय और कॉफी के सेवन से बचना चाहिए।

शराब: प्रसव के बाद महिलाओं को शराब का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि शराब पीने से ब्रेस्टमिल्क में इसका स्तर भी बढ़ जाता है, जो शिशु के लिए हानिकारक हो सकता है।

धूम्रपान: धूम्रपान करने से महिलाओं में ब्रेस्ट मिल्क की मात्रा कम हो जाती है। साथ ही धूम्रपान के कारण हार्मोन्स असंतुलित भी हो जाते हैं। ऐसे में प्रसव के बाद महिलाओं को धूम्रपान आदि से बचना चाहिए। इसका शिशु के साथ-साथ मां के स्वास्थ्य पर भी असर पड़ता है।

लहसुन: माना जाता है कि लहसुन का सेवन करने से दूध का स्वाद खराब हो जाता है। ऐसे में प्रसव के बाद महिलाओं को लहसुन के सेवन से भी बचना चाहिए।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट