राकेश टिकैत ने दिखाई अपनी रुद्राक्ष की माला तो पूछने लगे एंकर- इसमें क्रॉस भी है क्या?

राकेश टिकैत ‘सुदर्शन न्यूज’ के साथ इंटरव्यू में गले की रुद्राक्ष की माला दिखाने लगते हैं तो सुरेश चव्हाणके उनसे कहते हैं, ‘इसमें क्रॉस भी है क्या?’

rakesh tikait, asaduddin owaisi, yogi adityanath
किसान नेता राकेश टिकैत (Photo-PTI)

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के जीआईसी मैदान में संयुक्त किसान मोर्चा की महापंचायत में किसानों का हुजूम उमड़ा था। इस महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत भी पहुंचे थे। मंच पर राकेश टिकैत ने जोरदार भाषण दिया था और उन्होंने अपना संबोधन ‘अल्लाह-हू-अकबर’ और ‘हर-हर महादेव’ के नारे से शुरू किया था। अब राकेश टिकैत से सुदर्शन न्यूज़ के शो ‘चलते-चलते’ में इसको लेकर सवाल पूछे गए।

टीवी चैनल के चेयरमैन सुरेश चव्हाणके ने पूछा, ‘अल्लाह-हू-अकबर एक असंवैधानिक नारा है और ये हम टीवी चैनल पर नहीं चलाते। क्योंकि इसका मतलब होता है कि अल्लाह ही सर्वश्रेष्ठ है। हम कहते हैं कि आप जय अल्लाह कहो। अल्लाह महादेव से कैसे बड़ा हो गया?’ राकेश टिकैत इसके जवाब में कहते हैं, ‘देश का संविधान किसी भी धर्म को मानने की इजाजत देता है। तो आपको क्या परेशानी हो सकती है? कम से कम सुदर्शन ने पहली बार ये तो कहा कि हमें अल्लाह से ऐतराज नहीं है।’

सुरेश चव्हाणके इस पर कहते हैं, ‘हमें किसी भगवान से कोई परेशानी नहीं है, लेकिन हमें सर्वश्रेष्ठ कहने में आपत्ति है। महादेव से बड़ा कोई नहीं हो सकता।’ राकेश टिकैत इसके जवाब में अपने गले की माला निकालकर सुरेश चव्हाणके को दिखाने लगते हैं। टिकैत कहते हैं, ‘मैं तो गले में भी रुद्राक्ष की माला पहनता हूं। गले में ओउम् के साथ मैंने त्रिशूल भी लगा रखा है।’ सुरेश चव्हाणके कहते हैं, ‘मैं देख रहा हूं कि सोना है या चांदी है? ओउम् में त्रिशूल है या क्रॉस है?’

क्यों लगाया था टिकैत ने नारा? राकेश टिकैत कहते हैं, ‘महादेव से बड़ा कोई नहीं है। पिछले 35 साल से ये नारा चलता आ रहा है। आपने ये सब पढ़ा होगा, हमने इतना गहराई से नहीं पढ़ा है। हम लोगों ने ये नारा देश को एकत्रित करने के लिए लगाया था। इसमें कोई आपत्ति या किसी को नीचा दिखाने का सवाल ही नहीं है। हम लोगों के लिए सभी लड़कियां-बेटियां बराबर हैं। आप लोग ऐसी बातें यहां मत करिए।’

बता दें, कृषि कानूनों के रद्द करने की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन समेत अन्य संगठन दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। राकेश टिकैत लगातार सरकार से कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं। हाल ही में उन्होंने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर गन्ने की कीमत जानबूझकर नहीं बढ़ाने का आरोप लगाया था। साथ ही टिकैत ने कहा कि यूपी में बीजेपी को 140 से ज्यादा सीटें नहीं मिलेंगी।

पढें जीवन-शैली समाचार (Lifestyle News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट