ताज़ा खबर
 

BKU नेता अहमदाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस को कर रहे थे संबोधित, बीच से ही उठा ले गई पुलिस; देखें VIDEO

भारतीय किसान यूनियन (BKU) के महासचिव युद्धवीर सिंह एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। हालांकि, इसी दौरान बीच में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

Yudhvir singh, BKU Leader, BKU Leader arrestedप्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भारतीय किसान यूनियन के नेता को पुलिस ने किया गिरफ्तार (फोटो क्रेडिट- भारतीय किसान यूनियन ट्विटर)

कृषि कानूनों के खिलाफ लंबे समय से धरने पर बैठे किसान संगठनों ने शुक्रवार को भारत बंद का आह्वान किया था। इस दौरान भारतीय किसान यूनियन (BKU) के महासचिव युद्धवीर सिंह अहमदाबाद में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। कांफ्रेंस के दौरान ही गुजरात पुलिस पहुंची और बीच से जबरन उन्हें उठा लिया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

वीडियो में दिख रहा है कि किसान नेता युद्धवीर सिंह पत्रकारों से बातचीत कर रहे हैं। इसी दौरान गुजरात पुलिस के कर्मी वहां पहुंचते हैं और उन्हें खींचने लगते हैं। इस दौरान पुलिस की मौजूदगी पर युद्धवीर कहते हैं कि यह तानाशाही है और उसी का उदाहरण दिख रहा है। मीडिया से बात करना कोई गुनाह नहीं है। यह हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है कि कोई आदमी अपनी बात रख सकता है।

युद्धवीर सिंह अपनी बात रख ही रहे होते हैं, इसी बीच पुलिस वाले उन्हें ले जाते हैं। खबरों के मुताबिक उन्हें हिरासत में लिया गया है। इस बीच सामाजिक कार्यकर्ता और किसान आंदोलन में सक्रिय योगेंद्र यादव ने इस घटना के बहाने सरकार को घेरा है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘ये है गुजरात मॉडल- आज अहमदाबाद में प्रेस कॉन्फ्रेंस के बीच से BKU के महासचिव युद्धवीर सिंह को गुजरात पुलिस खींच कर ले गई। राकेश टिकैत ठीक कहते हैं, गुजरात के किसान को मुक्त करवाना है।’

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने भी इस घटना पर राज्य सरकार की खिंचाई की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘गुजरात में किसान एकता मोर्चा की प्रेसवार्ता मात्र से बौखला उठी भाजपा ने दिल्ली से अपनी रिमोट कंट्रोल वाली गुजरात सरकार को आदेश देकर प्रेसवार्ता रुकवा दी और युद्धवीर सिंह जी को गिरफ्तार कर लिया। गुजरात भाजपा का गुलाम नहीं है, किसानों की आवाज़ दबेगी नहीं।’

‘और तेज होगा आंदोलन’: भारतीय किसान यूनियन के नेता युद्धवीर सिंह को प्रेस कॉन्फ्रेंस से उठाने की घटना पर राकेश टिकैत ने भी ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ‘गुजरात के अहमदाबाद में किसान नेता युद्धवीर सिंह सिंह को प्रेस वार्ता के दौरान गिरफ्तार करना ही गुजरात मॉडल की हकीकत है। किसान की आवाज को दबाया नही जा सकता। किसान का संघर्ष अब और तेज होगा।’

Next Stories
1 तारक मेहता की ‘महिला मंडल’ असल जिंदगी में हैं काफी ग्लैमरस, Photos देख हो जाएंगे हैरान
2 वजन घटाने के लिए अपने वर्कआउट रूटीन में शामिल करें ये एक्सरसाइज, शरीर से एक्स्ट्रा फैट हटाने में हैं कारगर
3 ‘एंटीलिया’ से पहले इस घर में भाई अनिल और पूरे परिवार संग रहते थे मुकेश अंबानी
ये पढ़ा क्या?
X