ताज़ा खबर
 

PM मोदी के करीबी पूर्व IAS को BJP ने यूपी विधान परिषद चुनाव में उतारा, जानिये कौन हैं एके शर्मा

एके शर्मा गुजरात कैडर के 1988 बैच के आईएएस अफसर हैं। अरविंद कुमार शर्मा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बेहद करीबी माना जाता है। अरविंद कुमार शर्मा 2001 से 2013 तक गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय और 2014 से 2020 तक पीएमओ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी सहयोगी अधिकारी के तौर पर काम कर चुके हैं।

ak sharma, narendra modi , yogi adityanathपीएम नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी माने जाते हैं एके शर्मा

हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए पूर्व आईएएस अधिकारी अरविंद कुमार शर्मा चर्चा में हैं। गुजरात कैडर के पूर्व आईएएस अधिकारी अरविंद कुमार शर्मा को भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश विधानपरिषद चुनाव के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है। अरविंद कुमार शर्मा गुरुवार को लखनऊ में भाजपा में शामिल हो गए थे। अरविंद कुमार शर्मा का रिटायरमेंट का साल 2022 था, लेकिन वो अचानक स्वैच्छिक सेवानिवृत्त लेकर भाजपा में शामिल हो गए।

कौन हैं अरविंद कुमार शर्मा : एके शर्मा गुजरात कैडर के 1988 बैच के आईएएस अफसर हैं। अरविंद कुमार शर्मा को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बेहद करीबी माना जाता है। अरविंद कुमार शर्मा 2001 से 2013 तक गुजरात के मुख्यमंत्री कार्यालय और 2014 से 2020 तक पीएमओ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी सहयोगी अधिकारी के तौर पर काम कर चुके हैं। वो 2014 में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली आए थे और यहां उन्हें संयुक्त सचिव बनाया गया था। सेवानिवृत्त होने से पहले वो पीएमओ में ही अतिरिक्त सचिव थे।

उत्तर प्रदेश के मऊ के रहने वाले हैं अरविंद कुमार शर्मा : पीएम नरेंद्र मोदी के बेहद भरोसेमंद अरविंद कुमार शर्मा मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के रहने वाले हैं। 1962 में जन्मे एके शर्मा मऊ जिले में काझाखुर्द गांव के रहने वाले हैं। अरविंद कुमार शर्मा ने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन और राजनीति विज्ञान में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई की है। 1998 में अरविंद कुमार शर्मा का चयन सिविल सर्विसेज में हुआ। गुजरात कैडर के अधिकारी अरविंद कुमार शर्मा मेहसाणा के कमिश्नर भी रहे हैं। नरेंद्र मोदी के गुजरात के मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय के सचिव की जिम्मेदारी भी संभाली थी।

योगी सरकार में दी जा सकती है बड़ी जिम्मेदारी : उत्तर प्रदेश में 12 विधान परिषद सीटों के लिए 28 जनवरी को मतदान होना है। विधानपरिषद चुनाव के लिए भाजपा का  उम्मीदवार बनने के बाद अरविंद कुमार शर्मा का विधानपरिषद पहुंचना लगभग तय माना जा रहा है। कयास लगाए जा रहे हैं जल्दी ही एके शर्मा को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में अहम जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। बीजेपी में शामिल होते हुए एके शर्मा ने कहा था कि पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी वो उसका निर्वहन करेंगे।

Next Stories
1 बाल सफ़ेद होने के पीछे वजह कहीं इन विटामिन्स की कमी तो नहीं? जानिये कैसे करें इस कमी को दूर
2 Belly Fat: बेली फैट से हैं परेशान? इन आसान से एक्सरसाइज को अपनाकर कम करें पेट की चर्बी
3 किसान आंदोलन के प्रमुख चेहरों में से एक हैं मेनका गांधी के कजिन वीएम सिंह; इतनी प्रॉपर्टी के हैं मालिक
यह पढ़ा क्या?
X