scorecardresearch

ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए करें इन 4 आटे की रोटी का सेवन, जानिये कितनी मात्रा है जरूरी

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए शुगर के मरीज लो ग्लाइसेमिक आटे की रोटी का सेवन करें।

ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए करें इन 4 आटे की रोटी का सेवन, जानिये कितनी मात्रा है जरूरी
सोयाबीन की रोटी का सेवन करने से शुगर कंट्रोल रहती है और दिल की सेहत भी दुरुस्त रहती है। photo-freepik

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिसके मरीजों को अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। शुगर के मरीजों को डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करना चाहिए जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम हो और जो सेहत के लिए फायदेमंद हो। डायबिटीज के मरीजों को सुबह के नाश्ते से लेकर रात के खाने तक में भरपूर फाइबर और कम कार्बोहाइड्रेट वाले फूड्स को शामिल करना चाहिए। हमारी पूरे दिन की डाइट में रोटी सबसे अहम फूड है। रोटी में इस्तेमाल होने वाला आटा शुगर के मरीजों की शुगर को बेहद प्रभावित करता है। कुछ खास तरीके के आटे शुगर को कंट्रोल करने में बेहद असरदार साबित होते हैं।

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए चार तरह के आटा का सेवन ना सिर्फ शुगर कंट्रोल करता है बल्कि बॉडी को एनर्जी भी देता है। आइए जानते हैं कौन से चार तरह के आटे है जिनका सेवन करने से डायबिटीज के मरीजों की बॉडी हेल्दी रहती है और शुगर कंट्रोल रहती है।

चने के आंटे की रोटी से शुगर रहेगी कंट्रोल:

चने के आटे में मिनरल्स, विटामिन्स, फाइबर और भरपूर प्रोटीन होता है जो ब्लड में शुगर का स्तर कंट्रोल करता है और बॉडी को हेल्दी रखता है। इस आटे का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बेहद कम होता है जो शुगर को कंट्रोल करने में असरदार साबित होता है। इस आटे से बनी रोटी खाने से दिल, किडनी और लंग्स की सेहत भी दुरुस्त रहेगी। ये आटा बॉडी में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और दिल को हेल्दी रखता है।

बाजरे का आटा रखता है डायबिटीज कंट्रोल:

जिन लोगों की शुगर हाई रहती है वो बाजरे का आटा खाएं। बाजरे का आटा फाइबर से भरपूर होता है और ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में असरदार साबित होता है। फाइबर से भरपूर ये आटा धीरे-धीरे पचता है और ग्लूकोज का निर्माण करने में समय लेता है। इसका सेवन करने से डायबिटीज कंट्रोल रहती है।

सोया रोटी भी शुगर कंट्रोल करती है:

सोयाबीन की रोटी का सेवन करने से भी शुगर कंट्रोल रहती है। रिसर्च के मुताबिक सोया में आइसोफ्लेवोन्स पाया जाता है, जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है। यह शरीर में ग्लूकोज टॉलरेन्स को भी बढ़ा सकता है। इस रोटी का सेवन करने से डायबिटीज कंट्रोल रहती है। ये रोटी कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करती है और दिल को हेल्दी रखती है।

कट्टू के आटे का सेवन करें:

कट्टू का आटा डायबिटीज के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। ग्लूटन फ्री ये आटा विटामिन, मिनरल्स और प्रोटीन से भरपूर होता है जो बॉडी को हेल्दी रखता है और शुगर को कंट्रोल करता है। इस आटे में कम कार्ब्स, भरपूर फाइबर, और फाइटोन्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में असरदार साबित होते हैं।

कितने आटा का सेवन है पर्याप्त:

बता दें कि डायबिटीज एक्सपर्ट के मुताबिक वयस्क लोग अपने हर खाने में 2 छोटी रोटियों का सेवन कर सकते हैं। डायबिटीज में कार्ब्स को सबसे ज्यादा काउंट किया जाता है। डायबिटीज के मरीजों के एक समय के खाने में 45 -60 ग्राम कार्ब्स का सेवन पर्याप्त है। एक मीडियम रोटी में लगभग 20 से 30 ग्राम कार्ब्स होता हैं। ऐसे में डायबिटीज के मरीज 2 छोटी रोटियों का सेवन कर सकते हैं।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 04-10-2022 at 10:15:12 am
अपडेट