ताज़ा खबर
 

तांबे के बर्तन में खाने-पीने से मोटापा हो सकता है कम, इन बीमारियों को भी रखे दूर

तांबे के बर्तनों का इस्तेमाल हजारों वर्षों से किया जा रहा है। हालांकि, तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से ब्लड प्रेशर तो नियंत्रित रहता ही है, साथ ही यह मोटापा घटाने में भी कारगर है।

copper vessel, benefits of copper vessels, lifestyleतांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने के फायदे (फोटो क्रेडिट- इंडियन एक्सप्रेस)

आयुर्वेद में तांबे के बर्तनों का बहुत महत्व है। प्राचीन काल में ज्यादातर लोग तांबे के बर्तनों में भोजन करते थे, शायद इसलिए पहले के लोग ज्यादा स्वस्थ और तंदरुस्त रहते थे। आयुर्वेद के मुताबिक तांबे के बर्तन में पानी पीना स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होता है, इसके कारण मनुष्य जल्दी से बीमारियों की चपेट में नहीं आता। बता दें, तांबे में कुछ स्टरलाइजिंग गुण होते हैं, जब भी तांबे के संपर्क में पानी या कोई खाने वाली चीज आती है, तो उसमें मौजूद कीटाणु खुद-ब-खुद नष्ट हो जाते हैं।

आज हम आपको बताएंगे की तांबे के बर्तन में भोजन करने और पानी पीना शरीर के लिए कितना फायदेमंद होता है और यह हमें किन-किन बीमारियों से बचा सकता है।

ब्लड प्रेशर रहता है नियंत्रित: तांबे के बर्तन में रखने पानी को पीने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। क्योंकि इसमें एंटी- इंफ्लेमेरटरी गुण मौजूद होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार दिल को स्वस्थ बनाए रखने के साथ ही तांबे के बर्तन में पानी पीने से कोलेस्ट्रॉल को भी कंट्रोल किया जा सकता है।

जोड़ों के दर्द को करता है ठीक: तांबे के बर्तन में पानी पीने से शरीर में दर्द और सूजन की समस्या दूर हो सकती है। इसके अलावा अर्थराइटिस की समस्या में भी यह कारगर साबित हो सकता है। बता दें, तांबा पानी से सभी बैक्टीरिया को खत्म कर पानी को पूरी तरह से शुद्ध कर देता है।

इम्यूनिटी को करता है मजबूत: तांबे के गुण शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करते हैं। इसके अलावा यह घावों को तेजी से भरने के साथ ही नई कोशिकाओं के उत्पादन को भी बढ़ाता है।

मोटापे को करता है कंट्रोल: तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने से मोटापा भी कंट्रोल किया जा सकता है। क्योंकि इसके नियमित सेवन से शरीर की अतिरिक्त चर्बी को खत्म हो सकती है।

तांबे के बर्तन में इन चीजों को ना खाएं: तांबे के बर्तन में पानी यूं तो फायदेमंद होता है, हालांकि, अगर इन चीजों को तांबे के बर्तन में खाया जाए, तो इससे नुकसान भी पहुंचता है। सिट्रिक फूड्स, आचार, दहीं, नींबू का रस और छाछ आदि चीजों को तांबे के बर्तन में कभी खाना-पीना नहीं चाहिए। क्योंकि तांबे के बर्तन में एसिड मौजूद होता है, जो खट्टी चीजों के साथ गलत रिएक्शन करती है और इससे घबराहट, जी मचलाना आदि होने के साथ ही फूड पॉइजनिंग भी हो सकती है।

Next Stories
1 जब प्रियंका चोपड़ा ने दिखाया स्टाइलिश अंदाज, देखें एक्ट्रेस के टॉप लुक्स
2 जब जूते-कपड़ों के लिए लालू ने ज्वाइन कर ली थी एनसीसी, कॉलेज के दिनों में की थी क्लर्क की नौकरी
3 म‍िस मेरठ रह चुकी हैं उत्‍तराखंड सीएम की पत्‍नी रश्‍म‍ि त्‍यागी, जान‍िए अभी क्‍या करती हैं, ‘फटी जीन्‍स’ पर क‍िया पत‍ि का बचाव
आज का राशिफल
X