ताज़ा खबर
 

Happy Children’s Day: इन दोहों के जरिए याद कीजिए अपना बचपन

Bal Diwas Kavita, Happy Children's Day 2017 Poem, Speech, Quotes: पंडित नेहरू ने भारत की आजादी के बाद बच्चों की शिक्षा, प्रगति और कल्याण के लिए बहुत काम किया।

Author Updated: November 14, 2017 4:47 PM
Happy Children’s Day 2017 Poem: इन कविताओं से याद कीजिए अपना बचपन

Happy Children’s Day: भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन के मौके पर बाल दिवस मनाया जाता है। यह दिवस कई देशों में अलग-अलग दिन मनाया जाता है। पंडित नेहरू का बच्चों के प्रति बहुत लगाव था। इसलिए उनके जन्मदिन के मौके पर बाल दिवस मनाया जाता है। पंडित नेहरू ने भारत की आजादी के बाद बच्चों की शिक्षा, प्रगति और कल्याण के लिए बहुत काम किया। उन्होंने विभिन्न शैक्षिक संस्थानों जैसे भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान और भारतीय प्रबंधन संस्थान की स्थापना की थी। इस दिन स्कूलों में विशेष कार्यक्रम का आयोजन करवाकर नेहरु जी के विचारों को बच्चों तक बनाए रखने की कोशिश की जाती है।

इस दिन स्कूलों में निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। आप भी इन कविताओं के माध्यम से बाल दिवस सेलिब्रेट कर अपना बचपन याद कर सकते हैं और साथ ही अपने आस-पास के बच्चों को शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित कर सकते हैं।

चाचा नेहरू तुझे सलाम,
अमन शांति का दे पैगाम,
जग को जंग से तूने बचाया,
हम बच्चों को भी मनाया,
किया अपना जन्मदिवस बच्चों के नाम,
चाचा नेहरू तुझे सलाम।
बाल दिवस मुबारक!

***

चाचा नेहरू का है जन्मदिवस,
हम सब बच्चे आएंगे,
चाचा नेहरू के गुलाब से,
हम यह दुनिया महकायेंगे।
बाल दिवस मुबारक!

***

हर खेल में साथी थे, हर रिश्ता निभाना था,
गम की जुबान ना होती थी, ना ज़ख्मों का पैमाना था,
सच में यार, वो बचपन बहुत प्यारा था।
बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!

***

रोने की वजह ना थी,
ना हंसने का बहाना था,
क्यों हो गए हम इतने बड़े,
इससे अच्छा तो वो बचपन का ज़माना था।
बाल दिवस की शुभकामनाएं!

***

ये तो तुम सबने सुना ही होगा
दुनिया राम चलाते हैं
बैकुंठ छोड़कर बच्चे बन
भगवान धरा पर आते हैं
जिनको छल कपट नहीं आते
भगवान वहीं पर रम जाते हैं
इसलिये तो बच्चे दुनिया में
भगवान का रूप कहाते हैं।

***

अगर महल बनाना हो ऊँचा
तो नीवें ठोस अटूट रखो
भारत को पंख लगाना है
तो बच्चों को मजबूत करो
उनके सपनों को पलने दो
ये फूल चमन में खिलने दो
तब रितु बसंती आयेगी
भारत के भाग्य जगायेगी।

***

प्यारे बच्चों तुम ख़ूब पढ़ो
खेलो कूदो इक नाम करो
इस वतन को श्रेष्ठ बनाना है
निर्मित होकर निर्माण करो
निष्ठा हो भारत माता से
भारत से भाग्य विधाता से
इस देश को स्वर्ग बनाना है
सच्चाई से तुम काम करो।

***

थी बड़ी सोच मौलिक सपने
बच्चों के प्यारे चाचा के
जिनको नेहरू जी कहते हैं
भारत के वीर जवाहर के
नेहरू चाचा का जन्मदिवस
इसलिये तो देश मनाता है
यह तिथि नवंबर चौदह का
दिन बाल दिवस कहलाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Children’s Day 2017: जानिए 14 नवंबर को भारत में क्‍यों मनाया जाता है बाल दिवस, क्‍या है इतिहास