ताज़ा खबर
 

खेत में हल चलाते नजर आए बाबा रामदेव, बोले- जन्म किसान परिवार में हुआ लेकिन कर्म से योगी बना; हुए ट्रोल

बाबा रामदेव कहते हैं कि भारत को तम्बाकू, शराब, जंक फूड आदि से बचकर आर्गेनिक खेती को अपनाना पड़ेगा। वापस अपनी पुरानी संस्कृति में लौटना होगा।

Baba Ramdev, Baba Ramdev in fields, Baba Ramdev Yoga, Baba Ramdev Fitnessट्विटर पर शेयर की गई इन तस्वीरों में बाबा रामदेव खेत में हल चलाते नजर आ रहे हैं (साभार – बाबा रामदेव ट्विटर अकाउंट)

Baba Ramdev: योग गुरु बाबा रामदेव सोशल मीडिया पर भी सक्रिय रहते हैं और तमाम समसामयिक मुद्दों पर अपनी राय रखने के लिए जाने जाते हैं। तमाम बीमारियों का योग के जरिए निदान के टिप्स भी देते रहते हैं। स्वदेशी प्रोडक्ट्स के हिमायती बाबा रामदेव ने ट्विटर पर अपनी कुछ तस्वीरें शेयर कीं, जिसमें वे हल चलाते नजर आ रहे हैं।

इस तस्वीरों के साथ उन्होंने लिखा, ‘मेरा जन्म किसान परिवार में हुआ और कर्म से योगी बन गया। आज स्वस्थ रहने के लिए हर व्यक्ति जैसे फैमिली डॉक्टर रखते हैं वैसे ही फैमिली किसान रखना पड़ेगा। जो हम खेत में डालते हैं वह हमारे पेट में आता है। खेत में यूरिया, DAP, Pesticides, डालने से शाक, अन्न, दूध, घी आदि जो सब खेत से आता है वह जहरीला हो गया है।’

उन्होंने आगे लिखा, ‘इसका एकमात्र समाधान है कि भारत को तम्बाकू, शराब, जंक फूड आदि से बचकर आर्गेनिक खेती को अपनाना पड़ेगा। वापस अपनी पुरानी संस्कृति में लौटना होगा। आज पूरी दुनिया में आर्गेनिक उत्पादों का महत्व लोग समझ रहे हैं।’ इस ट्वीट के बाद बाबा रामदेव ट्रोल्स के निशाने पर आ गए।

चमन श्रीवास नाम के एक यूजर ने लिखा ‘तुम केवल एक राजनीतिक व्यापारी हो और कुछ नहीं, लेकिन खुल के व्यापार करना चाहिए, योगी के वेश में नहीं। हमारे हिन्दू धर्म का मज़ाक भी उड़ता है। आपने जो बयान 2014 से पहले दिया था, ऐसा हो जाएगा वैसा हो जाएगा, वो बयान अब सुनाई ही नहीं देता है। आपने सरकार से एक बार भी पूछा नही बस व्यापार बढ़ता गया।’

एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘वैसे विदेशी बूट, विदेशी कारों में घूमते हैं और ड्रामा देखो। खड़ाऊं पहनकर खेत कौन जोतता है, सब इसकी नौटंकी है और कुछ नहीं।’ वहीं मनोज नाम के यूजर लिखते हैं ‘क्या नौटंकी है, वाह। टीवी पर शिल्पा शेट्टी के साथ नजर आते हो और यहां खेतों की फोटो डालते हो’।

तमाम यूजर बाबा रामदेव का समर्थन भी करते नजर आए।आयुषी नाम की यूजर ने लिखा, देश में किसानों के लिए रोज नई-नई योजनाएं आ रही हैं। खेती के लिए कोई अलग से अच्छा और जैविक पद्धति से सोचे अच्छा लगता है’।

Next Stories
1 COVID-19: प्रेग्नेंसी में गिलोय का सेवन है खतरनाक, ये 5 साइड इफेक्ट भी जान लीजिए
2 Birthday Special: जब फटे जूते सिल क्रिकेट खेला करते थे इशांत शर्मा, अब 1-2 मैच के बाद ही बदल देते हैं जूते
3 Hair Problems: बालों का गिरना हो सकता है जेनेटिक, इन बातों का ध्यान रखना है जरूरी
ये पढ़ा क्या?
X