ताज़ा खबर
 

सेफ प्रेग्नेंसी के लिए कुछ फूड्स को ‘NO’ कहना भी है जरूरी, जानें किनसे करें परहेज

Diet tips for Pregnant Women: एक्सपर्ट्स के मुताबिक प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा कॉफी पीना भी खतरनाक साबित हो सकता है। कैफीन के प्रभाव से गर्भवती महिलाओं को हाई ब्लड प्रेशर या फिर लगातार पेशाब जाने की इच्छा हो सकती है।

Pregnancy, Pregnancy Diet, What to Eat While Pregnant, Foods to avoid during pregnancyअधपके रेड मीट या फिर समुद्री भोजन को खाने से बचना चाहिए (फोटो क्रेडिट – जनसत्ता)

Foods to avoid during pregnancy: गर्भावस्था का दौर केवल पति-पत्नी ही नहीं पूरे परिवार के लिए ही बेहद खास होता है। हालांकि, इस दौरान गर्भवती महिला को खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। शरीर में होने वाले बदलाव के साथ ही बदलते मौसम को ध्यान में रखते हुए अपनी दिनचर्या व खानपान निर्धारित करना चाहिए।

कहते हैं कि प्रेग्नेंट महिला को यदि कोई शारीरिक या मानसिक परेशानी होती है तो इसका असर शिशु पर भी पड़ता है। ऐसे में खानपान से जुड़ी कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं कि किन खाद्य पदार्थों से गर्भावस्था के दौरान दूरी बनाना महिलाओं के लिए फायदेमंद होगा –

इन चीजों को खाने से करें परहेज: डाइट विशेषज्ञ के मुताबिक गर्भवती महिलाओं को किसी प्रकार की परेशानी से न जूझना पड़े, इसलिए अधपके रेड मीट या फिर समुद्री भोजन को खाने से बचना चाहिए। इसके साथ ही, कच्चे अंडे, सॉफ्ट चीज और दूध से बने पाश्चराइज्ड प्रोडक्ट्स भी गर्भवती महिलाओं के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

इन फलों को खाने से बचें: गर्भावस्था के दौरान कच्चा पपीता खाना नुकसानदेह हो सकता है, इस बात से तो सभी परिचित हैं। लेकिन इसके पीछे की वजह ये है कि इसे खाने से मिसकैरेज का खतरा होता है। वहीं, दूसरी व तीसरी तिमाही में इसे खाने से जल्दी प्रसव की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि, इस दौरान केवल पपीता ही नहीं, अनानास और अंगूर खाना भी खतरों से खाली नहीं है। अनानास में ब्रोमेलिन तत्व प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो जल्दी प्रसव का कारण बन सकता है। वहीं, अंगूर से भी नुकसान हो सकता है।

ये ड्रिंक्स खड़ी कर सकती हैं परेशानी: एक्सपर्ट्स के मुताबिक प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा कॉफी पीना भी खतरनाक साबित हो सकता है। कैफीन के प्रभाव से गर्भवती महिलाओं को हाई ब्लड प्रेशर या फिर लगातार पेशाब जाने की इच्छा हो सकती है। इसके साथ ही, उन्हें ज्यादा बेचैनी या धड़कनों के तेज होने की शिकायत हो जाती है। वहीं, इस दौरान महिलाओं को शराब के सेवन से भी बचना चाहिए। माना जाता है कि इसके प्रभाव से उनमें मिसकैरेज का खतरा बढ़ता है। साथ ही, बच्चे के जन्म के बाद उनमें मानसिक विकास रुक सकता है।

Next Stories
1 सियासत से दूर आध्यात्म में रम गए हैं नीतीश कुमार के इकलौते बेटे निशांत, जीते हैं ऐसी ज़िंदगी
2 Skin Care: मलाई से बना ये फेसपैक चेहरे की चमक लौटाने में साबित होगा रामबाण, जानें कैसे बनाएं
3 नीतीश कुमार ने की थी इंटरकास्ट मैरिज, पिता ने तिलक में लिया 22 हजार रुपये दहेज तो हो गए थे ख़फा
ये पढ़ा क्या?
X