ताज़ा खबर
 

8 जून से खुलेंगे होटल और रेस्टॉरेंट्स, प्लान करने से पहले जान लें ये गाइडलाइंस

Restaurants Guidelines: अगर रेस्टॉरेंट में कोई इस वायरस से पीड़ित मरीज मिलता है तो उस स्थिति में होटल में एक ऐसा रूम होना चाहिए जहां उस व्यक्ति को तुरंत आइसोलेट किया जा सके

Hotels open in lockdown, hotel opening dates in india, restaurants guidelines, restaurants guidelines for reopening, restaurants guidelines covid, restaurants guidelines during covid 19, restaurants opening date, restaurants opening india, lockdown, coronavirus lockdown, unlock-1, covid-19, coronavirus, containment zone, sanitisation, coronavirus guidelines, central govt guidelinesगाइडलाइन के अनुसार खाना ऑर्डर करने और पेमेंट करने के दौरान लोगों का आपस में संपर्क नहीं होना चाहिए

Restaurants Guidelines: पिछले करीब 2 महीने से लगे लॉकडाउन को हटाते हुए देश के कई हिस्सों में 8 जून से रेस्टॉरेंट्स, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और धार्मिक स्थल खोले जाएंगे। कोरोना वायरस के प्रकोप को कम करने के उद्देश्य से किये गए लॉकडाउन में अब सिर्फ कंटेनमेंट जोन में आने वाले रेस्टॉरेंट्स बंद रहेंगे। केंद्र सरकार ने अनलॉक-1 के तहत खुलने वाली जगहों को लेकर कई गाइडलाइंस जारी की हैं। नॉर्मल दिनचर्या की ओर कदम बढ़ाने के लिए आतुर लोगों की उत्सुकता होटलों के खुलने के साथ ही बढ़ जाएंगी। ऐसे में अगर आप बाहर का खाना खाने के लिए रेस्टॉरेंट्स जाने का प्लान बना रहे हैं तो पहले सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस को जान लें।

होम डिलवरी को दिया जा रहा महत्व: गाइडलाइंस के अनुसार होटलों में होम डिलवरी पर अधिक जोर दिया जाएगा। इसके अनुसार होटलों में लोगों को बैठकर खाने की जगह पर ऑनलाइन डिलिवरी कराने के लिए कहा जाए। इसके अलावा, जो लोग खाने की होम डिलिवरी करने जा रहे हों, उन्हें पहले थर्मल स्क्रीनिंग कराना पड़ेगा। वहीं, कस्टमर और डिलिवरी पर्सन में किसी भी तरह के संपर्क को बढ़ावा न देने के लिए गाइडलाइन में बताया गया है कि खाना लेकर आए डिलिवरी ब्वॉय को दरवाजे पर ही पार्सल रखने का निर्देश दिये जा रहे हैं।

रेस्टॉरेंट्स के अंदर इन बातों का रखा जा रहा है ध्यान: हाल में जारी किये गए गाइडलाइंस में होटल में खाने आए लोगों के लिए भी कई निर्देश दिए गए हैं। इसके अनुसार खाना ऑर्डर करने और पेमेंट करने के दौरान लोगों का आपस में संपर्क नहीं होना चाहिए। इसके अलावा, सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर स्पेशल मार्किंग का ध्यान रखना होगा। वहीं, पार्किंग के दौरान भी कस्टमर्स और स्टाफ्स के बीच में भी दूरी का ध्यान रखना होगा। एस्केलेटर्स के प्रयोग के दौरान एक सीढ़ी छोड़कर ही अगले व्यक्ति को चढ़ने दिया जाए।

ऐसे होगी सैनिटाइजेशन: गाइडलाइन के अनुसार एलिवेटर के बटन, रेलिंग, वाशरूम, सर्विस एरिया और दरवाजे के हैंडिल को साफ करने के लिए 1 प्रतिशत हाइपोक्लोराइट का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके साथ ही वैलेट पार्किंग है तो गाड़ी के दरवाजे, हैंडिल, चाभी और स्टीयरिंग को भी सैनिटाइज किया जाएगा। वहीं, एसी का तापमान 24 से 30 डिग्री के बीच में ही रखा जाएगा जिससे वहां ह्यूमिडिटी लेवल 40 से 70 प्रतिशत के बीच रहे।

कोरोना पॉजिटिव मिलने की स्थिति में: अगर रेस्टॉरेंट में कोई इस वायरस से पीड़ित मरीज मिलता है तो उस स्थिति में होटल में एक ऐसा रूम होना चाहिए जहां उस व्यक्ति को तुरंत आइसोलेट किया जा सके। उस कस्टमर को मास्क दिया जाए और बिना समय गंवाए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर डॉक्टर्स को जानकारी दें। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग से रेस्टॉरेंट में इंफेक्शन के खतरे और सैनिटाइजेशन को लेकर समीक्षा करानी पड़ेगी, साथ ही पूरे एरिया को डिसइंफेक्ट भी करना पड़ेगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘द कपिल शर्मा शो’ की ‘नानी’ या कीकू शारदा, किसकी फीस है ज्यादा? जानिये- हर एपिसोड से करते हैं कितनी कमाई
2 Weight Loss: वजन कम करना चाहते हैं तो सूमो पहलवान जैसा ना खाएं, बल्कि इन चीजों को करें डाइट में शामिल…
3 बेसन में मिलाकर लगाएं सिर्फ ये एक चीज और पाएं निखरी त्वचा, जानिये बनाने का तरीका