ताज़ा खबर
 

कोरोना वायरस से गई नवजात की जान, प्रेग्नेंसी में संक्रमण से बचने के लिए जरूर रखें इन बातों का ध्यान

Tips for Pregnant Women during Coronavirus: कोरोना वायरस से जूझ रही गर्भवती महिलाओं को लेबर के दौरान प्री-टर्म बर्थ जैसी कुछ जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है

प्रेग्नेंट महिलाओं को कोरोना वायरस से बचाव के लिए इन बातों का रखना चाहिए ध्यान

Tips for Pregnant Women during Coronavirus: कोरोना वायरस से अब तक 30 हजार से भी अधिक लोगों की जान जा चुकी है। इस सूची में ज्यादातर उम्रदराज लोग ही शामिल हैं, लेकिन कुछ बच्चों की मौत भी इस वायरस के वजह से हो चुकी है। हाल में ही कोरोना वायरस से अमेरिका में 1 साल से भी कम उम्र के नवजात की मौत का मामला सामने आया है। भारत में भी सरकार और स्वास्थ्य अधिकारी बुजुर्गों के साथ-साथ 10 साल से कम उम्र के बच्चों पर भी खास ध्यान देने की सलाह दे रहे हैं।

इसके अलावा, प्रेग्नेंट महिलाओं को भी इस दौरान खास ध्यान रखना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि गर्भावस्था में महिलाओं का इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। ऐसे में ये घातक वायरस प्रेग्नेंट महिलाओं पर तेजी से प्रहार कर सकता है। गर्भावस्था में शरीर में संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। आइए जानते हैं कि गर्भवती महिलाओं और बच्चों का किस तरह ध्यान रखना है जरूरी-

गर्भवती महिलाएं ऐसे रखें अपना ख्याल: नियमित रूप से अपने हाथों को बार-बार साबुन या सैनिटाइजर से धोते रहें। कोशिश करें कि आंख, मुंह या नाक पर कम से कम हाथ लगाएं। बीमार लोगों से कम से कम 3 फिट की दूरी बनाकर रखें। खांसते या छींकते वक्त टिश्यू या रुमाल का जरूर इस्तेमाल करें। घर पर ही रहें और कम लोगों से मिलें-जुलें। इसके अलावा, गर्भवती महिलाओं को पर्याप्त आराम लेना भी जरूरी है। साथ ही साथ, पूरे दिन में कम से कम 2.5 से 3 लीटर पानी अवश्य पीयें।

क्या कोरोना वायरस से हो सकता है मिसकैरेज: कोरोना वायरस से पीड़ित प्रेग्नेंट महिलाओं में मिसकैरेज का खतरा न के बराबर ही होता है। सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के मुताबिक अगर कोई गर्भवती महिला कोरोना वायरस से पीड़ित है तो अब तक ऐसा कोई पुख्ता प्रमाण नहीं मिला है जिससे ये साबित हो कि ये वायरस भ्रूण को खराब कर सकता है। हालांकि, स्त्री और प्रसूति रोग विशेषज्ञों के अनुसार इस वायरस से जूझ रही गर्भवती महिलाओं को लेबर के दौरान प्री-टर्म बर्थ जैसी कुछ जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, इस वायरस का मां के माध्यम से शिशु में जाने का खतरा भी कम है।

कोरोना पॉजिटिव माएं क्या कर सकती हैं ब्रेस्ट फीडिंग: मेडिकल रिपोर्ट्स के अनुसार ब्रेस्ट मिल्क से कोरोना वायरस बच्चों में संक्रमित हो सकता है, इस बात का अब तक कोई सबूत नहीं मिला है। इस बात से सब वाकिफ हैं कि ये खतरनाक वायरस लोगों में रेस्पिरेट्री ड्रॉपलेट्स के जरिये फैलता है, इसलिए जरूरी है कि स्तनपान कराते वक्त महिलाएं मास्क को यूज करें। साथ ही साथ, ब्रेस्ट फीडिंग और बच्चों को उठाने से पहले अच्छे से हाथ धो लें ताकि नवजात बच्चे में इस वायरस के संक्रमण का खतरा न के बराबर हो।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इम्यूनिटी के लिए जरूरी है अच्छी नींद, कोरोना वायरस के डर से उड़ गई है नींद तो अपनाएं ये आसान तरीके
2 Coronavirus: काजोल की तरह आप घर पर करें ब्यूटी एक्सपेरिमेंट, लगाएं मस्कारा और लिपस्टिक
3 Coronavirus: 60 साल से अधिक उम्र वाले लोग इन फूड्स को करें डाइट में शामिल, इम्यूनिटी बूस्ट करने में मिलेगी मदद