scorecardresearch

Diabetes Control: इन 5 लक्षणों से पहचानिए कि बॉडी में इंसुलिन की कमी है, जानिए खास फूड जो तेजी से करते हैं इंसुलिन का उत्पादन

बॉडी में थकान और कमजोरी रहना, किसी भी घाव का आसानी से नहीं भरना और आंखों से धुंधला दिखाई देना भी बॉडी में इंसुलिन की मात्रा कम होने के संकेत हो सकते हैं।

Diabetes Control: इन 5 लक्षणों से पहचानिए कि बॉडी में इंसुलिन की कमी है, जानिए खास फूड जो तेजी से करते हैं इंसुलिन का उत्पादन
आप भी ब्लड शुगर( BLOOD SUGAR)के मरीज हैं और नेचुरल इंसुलिन का निर्माण करना चाहते हैं तो सबसे पहले नींद में सुधार कीजिए। photo-freepik

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिसे कंट्रोल में रखना बेहद जरूरी है। डायबिटीज को जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता, सिर्फ इसे कंट्रोल किया जा सकता है। डायबिटीज को कंट्रोल करने में डाइट का अहम किरदार है। डायबिटीज के मरीजों को ऐसी डाइट का सेवन करना चाहिए जिनसे इंसुलिन का उत्पादन तेजी से हो। डायबिटीज को कंट्रोल करने में इंसुलिन का अहम किरदार है। इंसुलिन एक हार्मोन होता है जो शरीर और उसकी कोशिकाओं में ग्लूकोज को अवशोषित करके उसे ऊर्जा के रूप में उपयोग करने में मदद करता है।

डायबिटीज (Diabetes) को कंट्रोल नहीं किया जाए तो मोटापा, हाइपरटेंशन और दिल के रोगों जैसी कई गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। डायबिटीज को कंट्रोल करना चाहते हैं तो ऐसी डाइट का सेवन करें जो इंसुलिन का पर्याप्त उत्पादन करें। अब सवाल ये उठता है कि किन लक्षणों से पहचाने कि बॉडी में इंसुलिन की कमी है। आइए जानते हैं बॉडी में इंसुलिन की कमी होने के लक्षण और किन फूड्स से करें कमी को पूरा।

इंसुलिन की कमी होने के लक्षण: What are the symptoms of lack of insulin

बॉडी में इंसुलिन की कमी होने पर उसके लक्षण दिखना शुरू हो जाते हैं। आप भी डायबिटीज के शिकार है और आपको बार-बार प्यास लगती है तो ये इंसुलिन कम होने के संकेत हो सकते हैं। इसके अलावा बार-बार यूरिन का डिस्चार्च होना, तेजी से वजन का घटना, बॉडी में थकान और कमजोरी रहना, किसी भी घाव का आसानी से नहीं भरना और आंखों से धुंधला दिखाई देना भी डायबिटीज के मरीजों की बॉडी में इंसुलिन की मात्रा कम होने के संकेत हो सकते हैं।

इंसुलिन के स्तर में कैसे सुधार करें: How to improve insulin levels

बॉडी में दिखने वाले लक्षण इंसुलिन कम होने के संकेत होते हैं। आप भी ब्लड शुगर( BLOOD SUGAR) के मरीज हैं और इंसुलिन का नैचुरल उत्पादन करना चाहते हैं तो सबसे पहले नींद में सुधार कीजिए। रात की 7-8 घंटे की नींद आपके इंसुलिन उत्पादन की क्षमता में सुधार करेगी।

इंसुलिन उत्पादन की क्षमता में सुधार करना चाहते हैं तो तनाव से दूर रहें। तनाव कई बीमारियों का कारण है। तनाव की वजह से कोर्टिसोल हार्मोन और ग्लूकागन हार्मोन का स्राव तेजी से बढ़ने लगता है। ये हार्मोन ब्लड में शुगर के स्तर को प्रभावित करता है और धमनियों को नुकसान पहुंचाता है।

नैचुरल तरीके से इंसुलिन बढ़ाने वाले फूड: Produce insulin naturally

जिन लोगों की बॉडी में पैंक्रियाज इंसुलिन का उत्पादन कम करता है वो इंसुलिन का इंजेक्शन लेते है। इंसुलिन का उत्पादन करने में कुछ फूड्स बेहद असरदार साबित होते हैं। डायबिटीज के मरीजों के लिए एवोकाडो हेल्दी फूड है जो इंसुलिन का तेजी से उत्पादन करता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार एवोकाडो का ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत कम होता है।

लो ग्लाइसेमिक ये फूड बॉडी में नेचुरल इंसुलिन की तरह काम करता है। डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए आप ब्रोकली, कद्दू के बीज, नट्स, अलसी के बीज, चीया सीड्स का सेवन कर सकते हैं। ये फूड बॉडी में नैचुरल इंसुलिन का उत्पादन करेंगे और डायबिटीज को कंट्रोल करेंगे।

पढें जीवन-शैली (Lifestyle News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट