ताज़ा खबर
 

युजवेंद्र चहल टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू को बेताब, जानिए क्यों चलना चाहते हैं अश्विन और हरभजन के नक्शेकदम पर

युजवेंद्र चहल ने बताया, ‘विराट कोहली और रोहित शर्मा मेरे बड़े भाई जैसे हैं। दोनों ने ही भारत के लिए बहुत कुछ हासिल किया है। वे हम सभी को प्रेरित करते हैं।’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 8, 2020 5:25 PM

युजवेंद्र चहल सीमित ओवर फॉर्मेट में टीम इंडिया के मजबूत गेंदबाजी स्तंभ हैं। उन्होंने 2016 में वनडे और टी20 इंटरनेशनल में डेब्यू किया था। वह अब तक 52 वनडे और 42 टी20 मैचों में भारतीय क्रिकेट टीम का प्रतिनिधत्व कर चुके हैं। इनमें उन्होंने क्रमशः 91 और 55 विकेट अपने नाम किए हैं। हालांकि, इतने प्रभावी प्रदर्शन के बावजूद उनका अब तक टेस्ट डेब्यू नहीं हो पाया है। शायद यही वजह है कि वह टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए बेताब हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, चहल ने कहा कि उन्हें भारतीय टेस्ट टीम में चुने जाने के लिए घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। चहल ने बताया, ‘हाल के वर्षों में टेस्ट क्रिकेट बहुत ज्यादा चुनौतीपूर्ण रहा है। अश्विन भाई और जड्डू (रविंद्र जडेजा) के साथ ही कुलदीप यादव ने भी इस फॉर्मेट में भारत के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है।’

चहल ने कहा, ‘मैं भी टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहता हूं, लेकिन उसके लिए मुझे घरेलू स्तर पर और लाल-गेंद क्रिकेट खेलना होगा और अच्छा प्रदर्शन करना होगा। मैंने अब तक केवल 31 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं। मुझे शायद रणजी ट्रॉफी में ज्यादा गेंदबाजी करने और छाप छोड़ने की जरूरत है।’

चहल ने बताया कि वह आर अश्विन और हरभजन सिंह के नक्शेकदम पर चलना चाहते हैं। चहल ने बताया, मैं मुंबई इंडियंस में भज्जी पाजी के साथ तीन साल खेला हूं। उनका मुझ पर बहुत प्रभाव है। बतौर स्पिनर कैसे आक्रामक बनें और बल्लेबाज के खिलाफ हमला बोलें, यह मैंने उनसे सीखा है।

चहल ने कहा, ‘अश्विन भाई निरंतर प्रदर्शन करने वाले गेंदबाज हैं। मुझे उम्मीद है कि मैं उनके नक्शेकदम पर चलते हुए लंबे समय तक भारत की सेवा कर पाऊंगा।’ चहल ने साथ ही विराट कोहली और रोहित शर्मा के बारे में भी बात की।

चहल ने बताया कि वे दोनों भी उन्हें प्रेरित करते हैं। चहल ने कहा, ‘वे दोनों लेजेंड हैं। मैंने विराट पाजी के साथ अंडर-15 क्रिकेट खेला है। वह अनुशासन, उदाहरण सेट करने और दूसरों को प्रेरित करने के मामले में अपवाद हैं।’

चहल ने बताया, ‘अगर मेरी गेंदबाजी के दौरान यदि मैं ज्यादा रन दे देता हूं तो विराट नकारात्मक मानसिकता से निकालने के लिए मुझसे बात करते हैं। वही घनिष्ठता आरसीबी के लिए खेलते समय भी बनी रहती है। विराट और रोहित भाई मेरे बड़े भाई जैसे हैं। दोनों ने ही भारत के लिए बहुत कुछ हासिल किया है। वे हम सभी को प्रेरित करते हैं।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘धोनी भाई करियर खत्म कर देंगे,’ बेन स्टोक्स के माही पर दिए बयान को लेकर भड़के श्रीसंत
2 जब शर्मसार हुआ क्रिकेट: कमेंटेटर ने हाशिम अमला को बोला था आतंकी, सरफराज अहमद ने की थी विपक्षी गेंदबाज की मां पर टिप्पणी
3 ‘घरेलू क्रिकेट में मारे जाते हैं नस्लीय ताने, खासकर दक्षिण भारतीय खिलाड़ियों को,’ डैरेन सैमी के आरोप के बाद बोले इरफान पठान
ये पढ़ा क्या...
X