ताज़ा खबर
 

‘महेंद्र सिंह धोनी ने मेरे भविष्य की मुझे सही तस्वीर दिखाई,’ 2019 वर्ल्ड कप को लेकर फिर छलका युवराज सिंह का दर्द

युवराज सिंह ने कहा, ‘धोनी जो कर सकते थे उन्होंने वह किया, लेकिन कई बार कप्तान के तौर पर आप सभी को उचित साबित नहीं कर सकते। दुनियाभर के कप्तान खिलाड़ियों के लिए खड़े रहते हैं।’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: August 4, 2020 9:27 PM
MS Dhoni Yuvraj Singhटीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह के नाम 17 अंतरराष्ट्रीय शतक हैं।

टीम इंडिया को 2-2 वर्ल्ड कप जिताने में अहम योगदान निभाने वाले युवराज सिंह ने पिछले साल 10 जून को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। संन्यास लेते वक्त उन्होंने कहा था, ‘सफलता भी नहीं मिल रही थी और मौके भी नहीं मिल रहे थे।’ अब फिर वनडे वर्ल्ड कप में नहीं चुने जाने और संन्यास को लेकर उनका दर्द छलका है। युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह बेटे के इंटरनेशनल करियर करियर खत्म होने को लेकर कई बार टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर आरोप लगा चुके हैं, हालांकि, खुद युवी का मानना है कि धोनी से जो बन पड़ा उन्होंने वह किया।

यही नहीं, धोनी ने ही उन्हें इस सच्चाई का अहसास दिलाया था कि 2019 वर्ल्ड कप के लिए चयनकर्ता उनके नाम पर विचार नहीं कर रहे हैं। बता दें कि युवराज ने पिछले साल वनडे वर्ल्ड कप के बीच में ही संन्यास का ऐलान किया था। न्यूज18 ने युवराज के हवाले से लिखा, ‘चयन के दौरान मेरे नाम पर विचार नहीं होगा, यह बात महेंद्र सिंह धोनी ने मुझे पहले ही बता दी थी।’ युवराज ने अपना आखिरी वनडे 2017 में वेस्टइंडीज दौरे पर खेला था। 2019 में उन्होंने संन्यास ले लिया था।

युवराज ने बताया कि किस तरह वेस्टइंडीज दौरे में खराब प्रदर्शन के बाद 2017 में उन्हें वनडे टीम से बाहर कर दिया गया था। तब धोनी ने उनके इंटरनेशनल करियर को लेकर सच्चाई से रूबरू कराया था। इस दौरे से पहले 2017 में आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी में उन्होंने 4 पारियों में महज 105 रन बनाए थे। युवराज ने कहा, ‘मैंने जब वापसी की तो विराट कोहली ने मेरा समर्थन किया। अगर वह मेरा समर्थन नहीं करते तो मैं वापसी नहीं कर पाता। मैंने पंजाब के लिए खेलते हुए घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन किया।’

युवराज ने कहा, ‘धोनी जो कर सकते थे उन्होंने वह किया, लेकिन कई बार कप्तान के तौर पर आप सभी को उचित साबित नहीं कर सकते। दुनियाभर के कप्तान खिलाड़ियों के लिए खड़े रहते हैं। चाहे सौरव गांगुली हों या रिकी पोंटिंग। किसी खिलाड़ी का समर्थन करना या नहीं करना व्यक्तिगत पसंद है। धोनी से जितना हो सका, उन्होंने किया।’ धोनी की कप्तानी में 2011 के वर्ल्ड कप में युवराज ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था।

युवराज के नाम हैं 17 इंटरनेशनल सेंचुरी : युवराज सिंह ने 40 टेस्ट की 62 पारियों में 33.92 के औसत से 1900 रन बनाए हैं। इसमें 3 शतक और 11 अर्धशतक हैं। उन्होंने 304 वनडे की 278 पारियों में 36.55 के औसत से 8701 रन बनाए। उन्होंने वनडे इंटरनेशनल में 14 शतक और 52 अर्धशतक लगाए। युवी ने 58 टी20 इंटरनेशनल भी खेले हैं। इसमें 28.02 के औसत से 1177 रन बनाए। उन्होंने टेस्ट में 9, वनडे में 111 और टी-20 इंटरनेशनल में 28 विकेट भी लिए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 VIVO ने किया IPL 2020 की टाइटल स्पॉन्सरशिप छोड़ने का फैसला, रिप्लेसमेंट को लेकर BCCI का बढ़ा सिरदर्द
2 आयरलैंड ने पहली बार इंग्लैंड को उसके घर में हराया, पॉल स्टर्लिंग और एंड्रयू बालबर्नी ने ठोके शतक; आखिरी ओवर में हासिल किया 329 रन का लक्ष्य
3 आयरा जहां ने मनाया रक्षाबंधन, मां हसीन जहां ने पोस्ट किया दिल छू लेने वाला Video
ये पढ़ा क्या?
X