ताज़ा खबर
 

जब उल्टियों के बावजूद युवराज सिंह ने खेली थी मैराथन पारी, ‘मर भी जाऊं, लेकिन भारत वर्ल्ड चैंपियन बने’

Yuvraj Singh Fight Against Cancer: युवराज सिंह के बेहतरीन ऑलराउंड खेल की बदौलत टीम इंडिया 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीतने में कामयाब हुई थी। भारत 1983 के बाद चैंपियन बना था।

युवराज सिंह ने वेस्टइंडीज के खिलाफ वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में 113 रन बनाए थे। (सोर्स- सोशल मीडिया)

वनडे क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन नंबर-4 बल्लेबाज युवराज सिंह ने पिछले साल इंटरनेशनल क्रिकेट संन्यास ले लिया था। उन्हें भारत के बेस्ट बाएं के बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है। युवराज के बेहतरीन ऑलराउंड खेल की बदौलत टीम इंडिया 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीतने में कामयाब हुई थी। भारत 1983 के बाद चैंपियन बना था। कैंसर के लक्षणों के बावजूद युवी ने टीम इंडिया को ट्रॉफी दिलाई। उन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट घोषित किया गया था।

युवराज ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 20 मार्च 2011 के एक यादगार पारी खेली थी। उस पारी के अब 9 साल हो गए। लीग स्टेज के उस मुकाबले में युवराज की तबीयत ठीक नहीं थी। मैदान पर उन्हें उल्टियां करते हुए भी देखा गया। न्यूज चैनल आज तक को 2014 में दिए इंटरव्यू में युवराज ने कहा था, ‘‘पहले मुझे लगा था कि चेन्नई की गर्मी से मुझे दिक्कत हो रही है। मैं हमेशा से वर्ल्ड कप मैच में सेंचुरी लगाना चाहता था, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया था क्योंकि मैं नंबर 6 पर बल्लेबाजी के लिए आता था। मैंने भगवान से तब कहा था कि जो भी हो जाए, मैं भले इसके बाद मर जाऊं लेकिन भारत वर्ल्ड कप विजेता बनना चाहिए।’’
Coronavirus: इंग्लिश क्रिकेटर ने पीएम नरेंद्र मोदी को बताया विस्फोटक लीडर, जनता कर्फ्यू का किया था समर्थन
दावा तो यह भी किया गया था कि युवी के मुंह से खून गिर रहा था। इसके बावजूद उन्होंने शतकीय पारी खेली थी। उस मैच में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था। गौतम गंभीर 22 और सचिन तेंदुलकर 2 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद युवी ने विराट कोहली (59 रन) के साथ पारी को संभाला। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 122 रन की साझेदारी की।

युवराज 113 रन बनाकर पवेलियन लौटे। उन्होंने 123 गेंद की पारी में 10 चौके और 2 छक्के लगाए थे। भारतीय टीम 49.1 ओवर में 268 रन पर ऑलआउट हो गई। जबाव में वेस्टइंडीज की टीम 188 रन ही बना सकी। भारत 80 रन से मैच जीता था। गेंदबाजी में भी युवी ने कमाल दिखाए। उन्होंने 4 ओवर में 18 रन देकर 2 विकेट अपने नाम किए। युवी ने डेवॉन थॉमस और विस्फोटक आंद्रे रसेल को पवेलियन लौटाया था।

Next Stories
1 Coronavirus: इंग्लिश क्रिकेटर ने पीएम नरेंद्र मोदी को बताया विस्फोटक लीडर, जनता कर्फ्यू का किया था समर्थन
2 IPL 2020: इस सीजन में कौन बनेगा मोस्ट वैल्यूएबल प्लेयर? हार्दिक पंड्या सहित 5 खिलाड़ी दावेदार
3 IPL 2020: टू्र्नामेंट रद्द या छोटा होने से बीसीसीआई को हो सुकता है करोड़ों का नुकसान, रिपोर्ट में हुआ खुलासा
यह पढ़ा क्या?
X