ताज़ा खबर
 

कमबैक की तैयारी करने वाले युवराज सिंह को मिला गौतम गंभीर का साथ, बोले- सभी उन्हें देखना चाहते हैं, पंजाब के लिए क्यों नहीं खेल सकते?

युवराज सिंह ने पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। दो साल तक लगातार टीम में नहीं चुने जाने के कारण उन्होंने ये फैसला किया था। युवी ने अगले सीजन में पंजाब के लिए टी20 मुकाबलों में खेलने की इच्छा जताई है।

Yuvraj Singh, Yuvraj Singh comeback, Gautam Gambhirयुवराज सिंह और गौतम गंभीर ने वर्ल्ड कप 2011 में शानदार प्रदर्शन किया था। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारत के पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह घरेलू क्रिकेट में वापसी करना चाहते हैं। उनके इस फैसले से फैंस उत्साहित हैं। युवराज को भारत के सबसे लोकप्रिय खिलाड़ियों में शामिल किया जाता है। उन्होंने पिछले साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। दो साल तक लगातार टीम में नहीं चुने जाने के कारण उन्होंने ये फैसला किया था। युवी ने अगले सीजन में पंजाब के लिए टी20 मुकाबलों में खेलने की इच्छा जताई है। उन्होंने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को इस मामले में पत्र भी लिखा है।

सिर्फ फैंस ही नहीं बल्कि युवराज के साथ खेल चुके खिलाड़ी भी उनकी वापसी चाहती है। कमबैक की तैयारी करने वाले युवी को पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर का साथ मिला है। भाजपा के सांसद गंभीर ने कहा कि युवराज को वापसी करनी चाहिए। गंभीर ने कहा, ‘‘यह उनका निजी फैसला है, हर एक शख्स उनको खेलते हुए देखना पसंद करता है। अगर वो पंजाब के लिए खेलना चाहते हैं, तो क्यों नहीं? आप किसी क्रिकेटर को खेलना शुरू करने या खत्म करने के लिए फोर्स नहीं कर सकते हैं और अगर वो रिटायरमेंट से वापसी करना चाहते हैं और मोटिवेशन के साथ वापस खेलना चाहते हैं, तो उनका हार्दिक स्वागत है।’’

युवराज संन्यास लेने के बाद कनाडा टी20 लीग में खेले थे। भारतीय बोर्ड के नियमों के मुताबिक, कोई भी खिलाड़ी विदेशी लीग में खेलने के बाद बीसीसीआई के किसी भी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले सकता है। यहां तक कि खबरें आ रही थीं कि युवराज ऑस्ट्रेलिया में बिग बैश खेलना चाहते हैं। इसके लिए टीम की तलाश भी की जा रही थी। बिग बैश 3 दिसंबर से होगा। युवराज ने कहा था कि वो विदेशी लीग में खेलने के लिए तैयार हैं। बीसीसीआई किसी भी सक्रिय खिलाड़ी को विदेशी लीग में खेलने की इजाजत नहीं देता है।

युवराज ने क्रिकबज को दिए इंटरव्यू में कहा था, ‘‘मुझे युवाओं के साथ समय बिताने में मजा आया और खेल के विभिन्न पहलुओं के बारे में उनसे बात करने पर मुझे एहसास हुआ कि वे विभिन्न चीजों को सीखने में सक्षम थे जो मैं उन्हें बता रहा था। कुछ चीजें सीखाने के लिए मुझे खुद नेट्स में उतरना पड़ा था। मैं इस चीज को देखकर हैरान था कि काफी लंबे समय बाद भी मैं कितनी अच्छी तरह से गेंद को खेल रहा था। पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव श्री पुनीत बाली ने मुझसे संपर्क किया और एक सत्र के दौरान मुझसे पूछा कि क्या मैं रिटायरमेंट से वापस लेने का विचार करूंगा।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सैम बिलिंग्स ने करियर का पहला शतक जड़ा, फिर भी नहीं जीत सका इंग्लैंड; ग्लेन मैक्सवेल ने की विस्फोटक बल्लेबाजी
2 LOVE STORY: जब दोस्त की पत्नी को ही दिल दे बैठे थे मुरली विजय, आईपीएल के दौरान गुपचुप तरीके से हुआ था अफेयर
3 ट्रायल तक के लिए नहीं थे पैसे, तांगे में गुजारनी पड़ी थी रात; संघर्षपूर्ण रही है शोएब अख्तर की कहानी
ये पढ़ा क्या?
X