ताज़ा खबर
 

यूसुफ पठान के संघर्ष की कहानी: घर में नहीं था शौचालय, 3 दिन तक खाते थे एक ही खाना; पहले ही मैच में पाकिस्तान का किया सामना

यूसुफ पठान के करियर की बात करें तो उन्हें सबसे पहले टी20 टीम में शामिल किया गया था। संयोग से उनका पहला मुकाबला टी20 वर्ल्ड कप का फाइनल था। वीरेंद्र सहवाग चोटिल हो गए थे और उन्हें टीम में शामिल किया गया था। उन्होंने आठ गेंद पर 15 रन बनाए थे। इसमें एक चौका और एक छक्का शामिल था।

Yusuf Pathan, Yusuf Pathan Story, happy birthday, Yusuf Pathanयूसुफ पठान 2011 में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य थे। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारत के पूर्व ऑलराउंडर यूसुफ 17 नवंबर को 38 साल के हो गए। वे दो वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम के सदस्य रह चुके हैं। 2007 में उनके रहते हुए टीम इंडिया टी20 वर्ल्ड कप जीती थी। वहीं, 2011 में वनडे वर्ल्ड कप पर कब्जा किया था। गरीब परिवार से आने वाले यूसुफ ने भारत के लिए 57 वनडे और 22 टी20 मैच खेले। आईपीएल में उन्होंने 174 मुकाबलों में हिस्सा लिया। पठान को विस्फोटक बल्लेबाज के तौर पर जाना जाता था। उन्होंने इंटरनेशनल और आईपीएल मैचों में कई यादगार पारियां खेलीं।

यूसुफ पठान का जन्म वडोदरा में एक बेहद ही गरीब परिवार में हुआ था। उनके पिता मस्जिद में रहा करते थे। मस्जिद के प्रांगण में ही यूसुफ अपने भाई इरफान पठान के साथ क्रिकेट की प्रैक्टिस किया करते थे। गरीबी ऐसी थी कि यूसुफ के घर पर टॉयलेट तक नहीं बना था। इरफान और यूसुफ एक बार कपिल शर्मा के शो पर गए थे। वहां उन्होंने अपने बारे में विस्तार से बताया था। इरफान की तुलना में यूसुफ कम बात करते हैं। इरफान ने बताया था, ‘‘उन्होंने वो समय भी देखा है कि परिवार के लोग तीन दिन तक एक ही खाना खाते थे।’’

इरफान ने आगे कहा, ‘‘हमने अपनी जिंदगी में ऐसे पल देखे हैं जो काफी मुश्किल थे। पैसों की तंगी भी देखी है। कई बार दो-तीन दिन का खाना एक साथ बनता था। वालिद (पिता) ने हमें हमेशा संभाला। गरीबी के बावजूद वो हमें खुश रखते थे और हमारा करियर बनाया।’’ इरफान के पिता ने कहा था, ‘‘पहले तो लोग हमें पूछते नहीं थे। हम मस्जिद में अल्लाह की खिदमत करते थे। लोग सिर्फ बातें बनाते थे। मस्जिद की दुआ से दोनों बच्चे देश के लिए खेलने लगे। फिर लोग हमसे हाल-चाल पूछने लगे।

यूसुफ पठान के करियर की बात करें तो उन्हें सबसे पहले टी20 टीम में शामिल किया गया था। संयोग से उनका पहला मुकाबला टी20 वर्ल्ड कप का फाइनल था। वीरेंद्र सहवाग चोटिल हो गए थे और उन्हें टीम में शामिल किया गया था। उन्होंने आठ गेंद पर 15 रन बनाए थे। इसमें एक चौका और एक छक्का शामिल था। टीम इंडिया चैंपियन बनी थी। यूसुफ ने अपने वनडे में 2 शतक और 3 अर्धशतक की मदद से 810 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 113.60 का रहा। टी20 में उनका स्ट्राइक रेट 146.58 का था। आईपीएल में 1 शतक और 13 अर्धशतक की मदद से 3204 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 29.1 और स्ट्राइक रेट 143.0 का था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 विराट कोहली ने दी थी दिवाली पर पटाखे नहीं जलाने की सलाह; हुए थे ट्रोल, अब RCB ने दी सफाई
2 ‘DHONI और गैरी कर्स्टन ने भी खुद को बेस्ट नहीं माना, रवि शास्त्री कैसे मान लिए’, भारतीय कोच पर भड़के थे गौतम गंभीर
3 टी20 वर्ल्ड कप टलने के कारण डिलीवरी बॉय बना यह क्रिकेटर, हाशिम अमला को भी कर चुका है आउट
यह पढ़ा क्या?
X