ताज़ा खबर
 

रमेश पोवार-गैरी कस्टर्न नहीं बल्कि इन्हें चुना गया भारतीय महिला टीम का कोच

यह नियुक्ति प्रशासकों की समिति (सीओए) के मुद्दें पर विभाजित विचारों के बावजूद की गई, जिसमें डायना एडुल्जी ने चेयरमैन विनोद राय को चयन प्रक्रिया रोकने को कहा था।

Author Updated: December 20, 2018 7:32 PM
भारतीय महिला क्रिकेट टीम। (Photo Courtesy: BCCI)

दक्षिण अफ्रीका के गैरी कर्स्टन पर तरजीह देते हुए पूर्व सलामी बल्लेबाज डब्ल्यू वी रमन को 20 दिसंबर को भारतीय महिला क्रिकेट टीम का कोच नियुक्त किया गया जबकि चयन प्रक्रिया को लेकर प्रशासकों में आपसी मतभेद हैं। बीसीसीआई के सूत्र ने पीटीआई को यह जानकारी दी। रमन (53 वर्ष) इस समय बेंगलुरू में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में बल्लेबाजी सलाहकार के तौर पर काम कर रहे हैं।

अधिकारी ने कहा, ‘‘कर्स्टन बीसीसीआई की तदर्थ चयन समिति की पहली पसंद थे, लेकिन रमन को यह पद मिला क्योंकि कर्स्टन आईपीएल फ्रेंचाइजी रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के साथ अपना पद छोड़ने को तैयार नहीं हैं।’’ चयन समिति में पूर्व कप्तान कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और एस रंगास्वामी शामिल हैं। विश्वस्त सूत्र ने कहा कि पैनल ने बोर्ड को तीन नाम -कर्स्टन, रमन और वेंकटेश प्रसाद- की सिफारिश की, लेकिन बीसीसीआई ने पद के लिये रमन को चुना।

यह नियुक्ति प्रशासकों की समिति (सीओए) के मुद्दें पर विभाजित विचारों के बावजूद की गई, जिसमें डायना एडुल्जी ने चेयरमैन विनोद राय को चयन प्रक्रिया रोकने को कहा था। बीसीसीआई कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी ने भी प्रक्रिया पर सवाल उठाये और कहा कि इसे राय की मंजूरी मिली थी, एडुल्जी की नहीं।

रमन ने देश के लिए 11 टेस्ट और 27 वनडे खेले हैं और इस समय वह देश के सबसे योग्य कोचों में से एक हैं। वह तमिलनाडु और बंगाल जैसी बड़ी रणजी ट्राफी टीम को कोचिंग दे चुके हैं और भारत अंडर-19 टीम के साथ भी काम कर चुके हैं। उन्हें 1992-93 दौरे के दौरान दक्षिण अफ्रीका में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय के रूप में भी याद किया जाता है।

गैरी कर्स्टन, रमन और प्रसाद के अलावा 28 आवेदकों में से जिन अन्य उम्मीदवारों को गुरूवार को साक्षात्कार के लिये छांटा गया था, उनमें मनोज प्रभाकर, ट्रेंट जानस्टन, दिमित्री मास्करेन्हास, ब्रैंड हॉग और कल्पना वेकंटाचर शामिल थे। इन तीन से मिलकर साक्षात्कार किया गया जबकि कर्स्टन सहित पांच अन्य से स्काइपी पर और एक से फोन पर इंटरव्यू लिया गया। भारत की पुरुष टीम को 2011 विश्व कप में खिताब दिलाने वाले गैरी कर्स्टन इन सभी में पहली पसंद थे।

बीसीसीआई अधिकारी ने कहा, ‘‘तरजीह के क्रम में वह शीर्ष पर थे लेकिन वह रायल चैलेंजर्स बेंगलूर को नहीं छोड़ना चाहते थे। रमन अच्छी पसंद हैं क्योंकि टीम को इस समय बल्लेबाजी कोच की जरूरत है। प्रसाद इस क्रम में तीसरे नंबर पर थे।’’ कर्स्टन 2008 से 2011 तक तीन वर्षों के लिये भारतीय टीम के मुख्य कोच रहे थे। इसके बाद उन्होंने 2011 से 2013 तक दक्षिण अफ्रीका को कोचिंग दी। वह इस समय इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के मुख्य कोच हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Pro Kabaddi 2018, Jaipur Pink Panthers vs Dabang Delhi: जयपुर-दिल्ली के बीच मुकाबला 37-37 से टाई
2 Ind vs Aus 3rd Test: तीसरा टेस्ट नहीं होगा किसी भी टीम के लिए आसान, पिच करेगी जमकर परेशान?
3 VIDEO: वापसी को बेताब स्टीव स्मिथ, विज्ञापन में कही ये इमोशनल बातें
ये पढ़ा क्या?
X