ताज़ा खबर
 

विराट कोहली ICC Finals में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बने, बतौर कप्तान भी रचा इतिहास; इस मामले में सुनील गावस्कर से पिछड़े

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी के दौरान विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 7500 रन पूरे किए। उन्होंने 92वें टेस्ट की 154वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की। वह इस मुकाम तक पहुंचने वाले दुनिया के 9वें सबसे तेज बल्लेबाज बने।

नई दिल्ली | Updated: June 21, 2021 7:56 PM
विराट कोहली आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहली पारी में 44 रन बनाकर आउट हुए। (सोर्स- ट्विटर/बीसीसीआई)

विराट कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) टूर्नामेंट्स के फाइनल्स में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बन गए हैं। उन्होंने पूर्व ओपनर गौतम गंभीर का रिकॉर्ड तोड़ा। विराट कोहली सबसे ज्यादा आईसीसी फाइनल्स खेलने वाले भारतीयों के मामले में दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। विराट कोहली ने यह उपलब्धियां आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलते हुए हासिल कीं।

विराट कोहली ने मैच के दौरान इंग्लैंड में अपने 600 टेस्ट रन भी पूरे किए। वह पहले एशियाई क्रिकेट कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने इंग्लैंड में बतौर कैप्टन 600 रन बनाए हैं। डब्ल्यूटीसी फाइनल में उतरने से पहले तक विराट कोहली ने इंग्लैंड में 593 टेस्ट रन बनाए थे। उन्होंने डब्ल्यूटीसी में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी में 44 रन बनाए। उनके अब इंग्लैंड में बतौर कप्तान 637 टेस्ट रन हो गए हैं। इस मामले में दूसरे नंबर पर महेंद्र सिंह धोनी हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने बतौर कप्तान इंग्लैंड में 569 रन बनाए थे। तीसरे नंबर पर मोहम्मद अजहरुद्दीन (468 रन), चौथे नंबर पर श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज (431 रन) और पांचवें नंबर पर पाकिस्तान के इमरान खान (403 रन) हैं।

विराट कोहली की आईसीसी इवेंट फाइनल में यह पांचवीं पारी है। उनके अब 204 रन हो गए हैं। दूसरे नंबर पर गौतम गंभीर हैं। गंभीर ने आईसीसी के दो फाइनल खेले थे। उसमें उन्होंने 172 रन बनाए थे। तीसरे नंबर पर सौरव गांगुली हैं। गांगुली ने दो पारियों में 141 रन बनाए थे। चौथे नंबर पर वीरेंद्र सहवाग हैं। सहवाग ने 4 पारियों में 120 रन बनाए थे। इस फेहरिस्त में पांचवें नंबर पर युवराज सिंह का नाम है। उन्होंने 6 पारियों में 110 रन बनाए थे।

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी के दौरान विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 7500 रन पूरे किए। उन्होंने 92वें टेस्ट की 154वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की। वह इस मुकाम तक पहुंचने वाले दुनिया के 9वें सबसे तेज बल्लेबाज बने। भारतीय क्रिकेटर्स में वह इस मुकाम तक पहुंचने वाले सुनील गावस्कर के साथ संयुक्त रूप से सबसे तेज बल्लेबाज बन गए हैं। गावस्कर ने भी यह उपलब्धि हासिल करने में 154 पारियां ही खेलीं थीं।

विराट कोहली हालांकि दो मामलों में सुनील गावस्कर से पीछे रह गए। सुनील गावस्कर ने 154 पारियों (88 टेस्ट मैच) में 7585 टेस्ट रन बनाए थे, लेकिन कोहली 7534 ही बना पाए। वहीं, इस मुकाम तक पहुंचते-पहुंचते गावस्कर और कोहली ने 27-27 टेस्ट शतक जड़े थे। वहीं, अर्धशतक लगाने के मामले में गावस्कर उनसे आगे हैं। गावस्कर ने 33 अर्धशतक लगाए थे, जबकि कोहली अब तक 25 अर्धशतक ही लगा पाए हैं।

Next Stories
1 Pakistan Super League: शोएब अख्तर की राशिद खान की टीम खरीदने की चाहत, फ्रैंचाइजी मालिक पर लगाया यह आरोप
2 वीवीएस लक्ष्मण ने बताई अजिंक्य रहाणे की कमजोरी, केन विलियमसन को सराहा; भारतीय दिग्गज ने याद की सचिन तेंदुलकर की सलाह
3 India vs New Zealand WTC Final 4th Day: साउथम्प्टन टेस्ट में चौथे दिन का खेल भी रद, कम कीमत पर बिकेंगे छठे दिन के टिकट
ये पढ़ा क्या?
X