WTC Final: आखिरी दिन डरकर बाथरुम में छिप गए थे काइल जैमीसन, कीवी गेंदबाज ने अब खोला राज

6 फीट 8 इंच लंबे न्यूजीलैंड के काइल जैमीसन ने डब्ल्यूटीसी फाइनल की दोनों पारियों में भारतीय कप्तान विराट कोहली को पवेलियन की राह दिखाई थी। काइल जैमीसन ने कहा कि यह टेस्ट क्रिकेट का सबसे कठिन दौर था जिसका वह हिस्सा रहे हैं।

Kyle Jamieson WTC Final India vs New Zealand
6 फीट 8 इंच लंबे न्यूजीलैंड के काइल जैमीसन ने डब्ल्यूटीसी फाइनल की दोनों पारियों में भारतीय कप्तान विराट कोहली को पवेलियन की राह दिखाई थी। (सोर्स- एपी)

भारत के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) मुकाबले के अंतिम दिन न्यूजीलैंड के लक्ष्य का पीछा करने के दौरान पैदा हुए तनाव और घबराहट ने तेज गेंदबाज काइल जैमीसन को बाथरूम (शौचालय) में छिपने के लिए मजबूर कर दिया था। काइल जैमीसन डब्ल्यूटीसी फाइनल में प्लेयर ऑफ द मैच रहे थे। उन्होंने उस मुकाबले की दोनों पारियों में कुल 7 विकेट लिए थे। उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली को दोनों पारियों में पवेलियन की राह दिखाई थी।

जैमीसन ने बताया कि वह ड्रेसिंग रूम से मुकाबला देखकर घबरा गए थे। जैमीसन ने ‘गोल्ड एएम’ पर ‘कंट्री स्पोर्ट ब्रेकफास्ट’ को बताया, ‘देखने के मामले में यह शायद क्रिकेट का सबसे कठिन दौर था, जिसका मैं हिस्सा रहा हूं।’ उन्होंने कहा, ‘हम अंदर बैठे थे और वास्तव में टीवी पर देख रहे थे। टेलीविजन पर सीधा प्रसारण थोड़ी (कुछ सेकेंड) देरी से हो रहा था। मैदान में मौजूद भारतीय दर्शक हर गेंद पर ऐसे शोर कर रहे थे, जैसे विकेट गिर गया हो। हालांकि, वह एक रन या डॉट बॉल होती थी।’

कप्तान केन विलियमसन और अनुभवी रॉस टेलर ने 139 रन के लक्ष्य का पीछा कर न्यूजीलैंड को आठ विकेट से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी जैमीसन ने कहा, ‘यह देखना काफी कठिन था। मैंने वास्तव में कई बार बाथरूम में जाने की कोशिश की, जहां कोई शोर नहीं था, बस थोड़ी देर के लिए उससे दूर हो गया, क्योंकि यह काफी तनाव हो रहा था।’

छह फीट 8 इंच लंबे इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘लेकिन केन और रॉस का मैदान पर होना अच्छा था। हमारे दो सबसे महान बल्लेबाजों ने वास्तव में स्थिति को नियंत्रित किया और अपने काम पूरा किया।’ जैमीसन को हालांकि इस जीत का जश्न मनाने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिला। दरअसल, डब्ल्यूटीसी फाइनल के 48 घंटे के अंदर ही उन्हें फिर से मैदान पर उतरना पड़ा। हालांकि, इस बार वह अपनी काउंटी टीम सरे के लिए मैदान पर उतरे।

जैमीसन ने कहा, ‘यह एक त्वरित बदलाव था। मुझे लगता है कि 48 घंटों के भीतर मैं सरे के लिए टी20 खेलने के लिए वापस पार्क में आ गया था। यह एक तरह का जीवन है जिसे हम थोड़ा सा जीते हैं। हालांकि, अगले कुछ सप्ताह तक काउंटी क्रिकेट में बने रहना और उसका अनुभव करना अच्छा है।’

उन्होंने कहा, ‘उन लोगों (न्यूजीलैंड टीम के साथियों) को अलविदा कहना निश्चित रूप से कठिन था। जो हमने अभी-अभी अनुभव किया है और उस क्षण में हम सभी ने एक साथ आनंद लिया, उसे अलविदा कहना काफी कठिन था।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X