ताज़ा खबर
 

WTC FINAL: प्लेइंग-11 में इन 5 गेंदबाजों को देखना चाहते हैं पूर्व भारतीय कोच, फाइनल को लेकर की ये भविष्यवाणी

भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच 18 से 22 जून तक होगा। टीम इंडिया इसकी तैयारी के लिए साउथम्पटन में है।

Edited By ROHIT RAJ नई दिल्ली | June 14, 2021 3:17 PM
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के अलावा टीम इंडिया इंग्लैंड में मेजबानों के खिलाफ 5 टेस्ट मैचों की सीरीज भी खेलेगी। (फोटो- twitter/BCCI)

भारत और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट क्रिकेट का ‘सबसे बड़ा मैच’ साउथम्पटन में 18 से 22 जून तक खेला जाएगा। दोनों देशों के बीच पहले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच होगा। टीम इंडिया इसकी तैयारी के लिए साउथम्पटन में है। वहीं, न्यूजीलैंड की टीम इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज जीतकर मनोवैज्ञानिक बढ़त के साथ उतरेगी। भारत के पूर्व गेंदबाजी कोच वेंकटेश प्रसाद का मानना है कि फाइनल में टीम इंडिया जीत सकती है।

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने कहा कि भारतीय टीम के पास विकल्प की कमी नहीं है। प्रसाद का मानना है कि उनके खेल के दिनों से अलग, मौजूदा भारतीय टीम के पास तीसरा या चौथा तेज गेंदबाज उस स्तर का है जो नई गेंद से बनाए गए दबाब को बरकरार रख सकता है। उन्हें लगता है कि टीम के पास हर परिस्थिति में लगभग 350 रन बनाने की क्षमता वाली बल्लेबाजी इकाई भी है। उन्होंने कहा, ‘‘दो बेहतरीन टीमें फाइनल खेल रही हैं। भारत के पास बहुत सारे विकल्प हैं क्योंकि उसके प्लेइंग-11 में जगह नहीं बना पाने वाले खिलाड़ी भी बहुत मजबूत है।’’

भारतीय टीम के प्लेइंग-11 के बारे में पूछे जाने पर प्रसाद ने कहा यह कप्तान विराट कोहली के लिए ज्यादा मुश्किल फैसला नहीं होगा। वह खुद चाहेंगे की दो स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविन्द्र जडेजा के साथ तीन तेज गेंदबाज इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह इस मैच में खेले। उन्होंने कहा, ‘‘अश्विन और जडेजा के साथ तीन तेज गेंदबाजों का संयोजन सबसे अच्छा लगता हैं। बुमराह, शमी और इशांत शर्मा को अलग-अलग परिस्थितियों में खेलने का अनुभव है, वे अपनी भूमिकाएं बखूबी जानते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘रणनीति बहुत सरल है। नयी गेंद का बेहतर उपयोग कौन कर सकता है? बुमराह और शमी दोनों का सीम के साथ सही दिशा में गेंदबाजी करने के मामले में बहुत अच्छा नियंत्रण है। मुझे आश्चर्य है कि इशांत को 100 टेस्ट खेलने के बाद भी गेंदबाजी में तीसरे विकल्प के तौर पर देखे जा रहे है। उन्हें इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट खेलने का भी काफी अनुभव है।’’ कई विशेषज्ञों का मानना है कि इशांत की जगह मोहम्मद सिराज को मौका देना चाहिए।

Next Stories
1 लाहौर कलंदर्स को रौंदकर इस्लामाबाद यूनाइटेड पहले नंबर पर पहुंचा; आसिफ अली चमके, राशिद खान की हुई कुटाई
2 PSL 6: अबुधाबी में आया डेविड मिलर और कामरान अकमल का तूफान, पेशावर जाल्मी की चौथी जीत; क्वेटा ग्लेडिएटर्स की छठी हार
3 श्रीलंका में धमाल मचा सकता है एमएस धोनी की CSK का युवा स्टार, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में तमिलनाडु को बनाया था चैंपियन
ये पढ़ा क्या?
X