ताज़ा खबर
 

शोएब अख्तर ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के विजेता की भविष्यवाणी की, बाबर आजम को विराट कोहली से बेहतर बताया

रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर के नाम विश्व क्रिकेट में सबसे तेज गेंद करने का रिकॉर्ड आज भी (161.3 किमी/घंटा) दर्ज है। उन्होंने अपने करियर में काबिलियत के दम पर कई रिकॉर्ड बनाएं और तोड़े भी।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 10, 2021 9:15 PM

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के विजेता को लेकर भविष्यवाणी की है। शोएब अख्तर ने यह भविष्यवाणी इंस्टाग्राम (Instagram) पर सवाल-जवाब सेशन के दौरान की। इस दौरान उन्होंने कवर ड्राइव लगाने के मामले में बाबर आजम को विराट कोहली से बेहतर बताया।

शोएब अख्तर ने सवाल-जवाब सेशन को इंस्टाग्राम स्टोरी पर भी शेयर किया है। अख्तर ने किसी एक फैन ने पूछा था कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021 का फाइनल कौन जीतेगा? इसके जवाब में शोएब अख्तर ने भारत के आगरा स्थित ताजमहल की तस्वीर पोस्ट की और लिखा इसके ज्यादा चांस हैं। अख्तर के कहने का मतलब है कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया के जीतने की ज्यादा उम्मीद है।

इस दौरान उन्होंने पाकिस्तान सुपर लीग (Pakistan Super League) 2021 से संबंधित सवालों के जवाब दिए। एक फैन ने लिखा था, तारीख गवाह है कि पीएसएल परीक्षाओं के दौरान ही होता है। इसके जवाब में अख्तर ने लिखा, पीएसएल यदि एग्जाम होता है तो एग्जाम पीएसएल में होते हैं। दुनिया के बेस्ट ऑलराउंडर के सवाल पर शोएब अख्तर ने अब्दुल रज्जाक की तस्वीर पोस्ट की।

virat kohli babar azam shoaib akhtar wtc final 1 शोएब अख्तर के मुताबिक, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में भारतीय टीम के जीतने के चांस ज्यादा हैं। virat kohli babar azam shoaib akhtar wtc final शोएब अख्तर का मानना है कि बाबर आजम विराट कोहली से बेहतर कवर ड्राइव लगाते हैं। Abdul Razzaq शोएब अख्तर ने अब्दुल रज्जाक का दुनिया का बेस्ट ऑलराउंडर बताया है।

बता दें कि रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर के नाम विश्व क्रिकेट में सबसे तेज गेंद करने का रिकॉर्ड आज भी (161.3 किमी/घंटा) दर्ज है। उन्होंने अपने करियर में काबिलियत के दम पर कई रिकॉर्ड बनाएं और तोड़े भी। उनके लिए शोएब अख्तर से रावलपिंडी एक्सप्रेस बनने का यह सफर काफी संघर्षपूर्ण था।

अख्तर ने बताया था कि वह क्लब के लिए खेला करते थे। एक समय ट्रायल देने जाने के लिए भी उनके पास पैसे नहीं थे। वे बस की छत पर चढ़कर पहुंचे थे। साथ ही तांगे में सोकर रात गुजारनी पड़ी थी। यहां पढ़ें शोएब अख्तर के संघर्ष की कहानी…

Next Stories
1 शोएब अख्तर के विवादित बोल, कहा- वर्ल्ड कप 2011 का सेमीफाइनल खेलता तो भारतीयों के पैर-पसलियां तोड़ देता
2 ट्रेंट बोल्ट-टिम साउदी के अलावा यह गेंदबाज बन सकता है भारत के लिए खतरा, पूर्व गेंदबाज ने बताईं टीम इंडिया की चुनौतियां
3 कभी हार ना मानने वाला गोल्ड मेडलिस्ट बॉक्सर कैंसर से हारा, आसान नहीं थी डिंको सिंह के अनाथालय से एशियाड चैंपियन बनने की राह
ये पढ़ा क्या?
X