ताज़ा खबर
 

हिमा दास ने भी लिया यूनिसेफ का चैलेंज, दीया मिर्जा, डायना पेंटी, अदिति राव हैदरी की तरह बनाया हाथ पर रेड डॉट

फर्राटा धावक हिमा दास (Hima Das) ने हाल ही में कहा था कि उनका सपना ओलंपिक में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतने का है। सचिन तेंदुलकर हिमा के आदर्श हैं।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: May 28, 2020 2:48 PM
Aditi Rao Hydari and Hima Das 850हिमा दास से पहले एक्ट्रेस अदिति राव हैदरी, दीया मिर्जा, डायना पेंटी भी यूनिसेफ के इस चैलेंज को स्वीकार चुकी हैं। (सोर्स- इंस्टाग्राम)

सोशल मीडिया पर इन दिनों बड़ी तेजी से रेड डॉट चैलेंज अभियान चल रहा है। यूनिसेफ के इस अभियान में बहुत से सितारे और सामाजिक कार्यकर्ता हिस्सा ले रहे हैं। ये लोग हाथ पर लाल बिंदी बनाकर अपनी तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं। इस मुहिम में दीया मिर्जा, अदिति राव हैदरी, डायना पेंटी जैसी एक्ट्रेस के बाद अब ढिंग एक्सप्रेस (हिमा दास) का भी जुड़ गया है। हिमा ने गुरुवार को इंस्टाग्राम पर अपने हाथ में लाल बिंदी वाली तस्वीर पोस्ट की। बता दें कि फर्राटा धावक हिमा दास (Hima Das) ने हाल ही में कहा था कि उनका सपना ओलंपिक में भारत के लिए गोल्ड मेडल जीतने का है। सचिन तेंदुलकर हिमा के आदर्श हैं।

दरअसल, यह अभियान पीरियड के समय महिलाओं में आने वाली समस्या को दूर करने और लोगों में जागरुकता लाने के लिए यूनिसेफ ने शुरू किया है। 28 मई को दुनिया भर में ‘International Menstrual Hygiene Day’ मनाया जा रहा है। उसी कड़ी में यूनिसेफ (UNICEF) ने यह रेड डॉट चैलेंज शुरू किया है। इस चैलेंज का मतलब पीरियड्स के प्रति घृणा, इससे जुड़ी शर्म और इसके बारे में बात नहीं कर पाने की बंदिश को तोड़ना है।

समाज में आज भी महिलाओं के जीवन चक्र से जुड़े इतने अहम मुद्दे पर बात करने में लोगों को झिझक महसूस होती है। महिलाएं आज भी अपनी माहवारी से जुड़ी दिक्कतों और परेशानियों को खुलकर साझा नहीं कर पातीं। इसका नतीजा उनकी खराब सेहत के रूप में सामने आता है। इस चैलेंज को शुरू करने का उद्देशय है कि इस मुद्दे पर खुलकर बोला जाए। लोगों को बताया जाए कि पीरियड्स के दौरान ऐसे पैड का इस्तेमाल किया जाए जो बायो ग्रेडेबल हों।

हिमा दास ने अपनी पोस्ट के कैप्शन में लिखा, पीरियड्स की सामान्य बॉयोलॉजिकल (जैविक) प्रक्रिया है, लेकिन इसे लेकर अब भी मौन और कलंक की संस्कृति बनी हुई है। पीरियड्स को लेकर चुप्पी तोड़ने और मिथकों को दूर करने के लिए #Unicefindia के #RedDotChallenge लेने में मेरा साथ दें, क्योंकि यह अहम मुद्दा है।



इससे पहले दीया मिर्जा ने अपनी फोटो शेयर करते हुए लिखा था, पीरियड्स से जुड़ी शर्म को खत्म करने ऐसे प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल में लाना भी जरूरी है, जो पर्यावरण के लिए नुकसानदायक नहीं हों। मैं बायोडिग्रेडेबल पैड यूज करती हूं। बहुत से लोगों ने मैंस्ट्रुअल कप इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। ये भी जरूरी है कि ऐसे प्रोडक्ट लोगों की पहुंच में हों।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 विराट कोहली को गेंदबाजी करना चाहते हैं इंग्लैंड के ‘सर’, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को बताया करिश्माई और बहादुर
2 India vs Australia, IND vs AUS Test Series 2020 Schedule: टीम इंडिया 11 दिसंबर से विदेशी मैदान पर खेलेगी अपना पहला डे/नाइट टेस्ट, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने जारी किया शेड्यूल
3 200 टेस्ट खेलने वाले सचिन तेंदुलकर को पहले मैच में ही लगा था करियर खत्म हो गया, ईश्वर से मांगी थी भीख
आज का राशिफल
X