विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप: बिना खेले ही दूसरे दौर में पहुंचेगी पीवी सिंधु, 15 साल में पहली बार नहीं दिखेंगी साइना नेहवाल

पुरुष एकल में 12वें वरीय किदांबी श्रीकांत अपने अभियान की शुरुआत स्थानीय दावेदार पाब्लो आबियान के खिलाफ करेंगे। भारतीय शटलर बीसाई प्रणीत और श्रीकांत यदि अंतिम आठ में जगह बनाने में सफल रहे तो क्वार्टर फाइनल में दोनों की भिड़ंत होगी।

World Badminton Championship PV Sindhu Kidambi Srikanth Saina nehwal
विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में पीवी सिंधु को पहले दौर में बाई मिला है। साइना नेहवाल ग्रोइन में खिंचाव और घुटने की चोट से जूझ रही हैं। (सोर्स- फाइल फोटो)

गत चैंपियन पीवी सिंधु को स्पेन के हुएलवा में होने वाली बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप के पहले दौर में बाई मिली है। हालांकि, उन्हें क्वार्टर फाइनल में टोक्यो ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट ताइ जू यिंग और सेमीफाइनल में दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी कारोलिना मारिन से भिड़ना पड़ सकता है।

वहीं, लंदन ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल (Saina Nehwal) इस टूर्नामेंट से बाहर हो गई हैं। दुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी साइना नेहवाल अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में पहली बार चोटों के कारण विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं ले पाएंगी।

साइना नेहवाल विश्व चैंपियनशिप में एक रजत और एक कांस्य पदक जीत चुकी हैं। वह आठ बार क्वार्टर फाइनल में पहुंची हैं। साइना नेहवाल ग्रोइन में खिंचाव और घुटने की चोट से जूझ रही हैं। विश्व चैंपियनशिप स्पेन के हुएलवा में 12 से 19 दिसंबर तक खेली जाएगी।

टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली पीवी सिंधु को विश्व चैंपियनशिप में छठी वरीयता दी गई है। दुनिया की सातवें नंबर की भारतीय खिलाड़ी अच्छी लय में हैं। वह अपने पिछले तीन टूर्नामेंट्स में सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही हैं।

सिंधु को दूसरे दौर में स्लोवेनिया की मार्टिना रेपिस्का और इंडोनेशिया की रुसेली हर्तावन के बीच होने वाले मुकाबले की विजेता से भिड़ना होगा। सिंधु अगर तीसरे दौर का मुकाबला जीतने में सफल रहती हैं तो क्वार्टर फाइनल में उनकी भिड़ंत चीनी ताइपे की ताइ जू से हो सकती है।

ताइ जू ने टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में भारतीय खिलाड़ी को हराया था। सिंधु अगर ताइ जू को हरा देती हैं तो सेमीफाइनल में उनका सामना मारिन से हो सकता है। मारिन ने रियो ओलंपिक 2016 के फाइनल में उन्हें हराया था।

मारिन चोट से उबरने के बाद सीधे विश्व चैंपियनशिप में वापसी कर रही हैं। वह उस एरिना में खेलेंगी जिसका नाम उन पर ही रखा गया है। ड्रॉ के दूसरे हॉफ में जापान की अकाने यामागुची और कोरिया की आन सेयंग को जगह मिली है। आन सेयंग ने ओलंपिक के बाद सभी मुख्य विश्व टूर खिताब जीते हैं।

जापान की नोजोमी ओकुहारा भी दूसरे हॉफ में हैं। ओकुहारा ने 2019 में सिंधू ने हराकर खिताब जीता था। टोक्यो ओलंपिक चैंपियन चीन की चेन यू फेई अपने देश की कई अन्य खिलाड़ियों की तरह टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले रही हैं।

पुरुष एकल में 12वें वरीय किदांबी श्रीकांत अपने अभियान की शुरुआत स्थानीय दावेदार पाब्लो आबियान के खिलाफ करेंगे। भारतीय शटलर बीसाई प्रणीत और श्रीकांत यदि अंतिम आठ में जगह बनाने में सफल रहे तो क्वार्टर फाइनल में दोनों की भिड़ंत होगी।

सेमीफाइनल में इन भारतीय खिलाड़ियों का सामना गत चैंपियन और शीर्ष वरीय केंटो मोमोता से हो सकता है। युवा लक्ष्य सेन को भी श्रीकांत और प्रणीत के हॉफ में रखा गया है। वह पहले दौर में जर्मनी के मैक्स वेसकिर्चेन से भिड़ेंगे।

लक्ष्य अगर अंतिम आठ में पहुंचने में सफल रहते हैं तो उनकी भिड़ंत मोमोता से हो सकती है। पुरुष युगल में सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी को आठवीं वरीयता मिली है और उन्हें पहले दौर में बाई मिली है।

तीन अन्य भारतीय जोड़ियां मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी, एमआर अर्जुन और ध्रुव कपिल तथा अरुण जॉर्ज और संयम शुक्ला भी भारत की ओर से चुनौती पेश करेंगे। महिला युगल में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी अपने अभियान की शुरुआत डेलफाइन डेलरुए और लिया पालेर्मो की फ्रांस की जोड़ी के खिलाफ करेंगे।

पूजा दांडू और संजना संतोष तथा मनीष के और ऋतुपर्णा पांडा भी टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे हैं। मिश्रित युगल में सौरभ वर्मा और अनुष्का पारिख, एमआर अर्जुन और मनीष के तथा उत्कर्ष आरोड़ा और करिश्मा वाडकर के रूप में तीन भारतीय जोड़ियां कोर्ट पर उतरेंगी।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट