scorecardresearch

‘चयन समिति ने विराट कोहली और रवि शास्त्री से चर्चा किए बिना कुछ नहीं किया,’ पूर्व चयनकर्ता ने शास्त्री के बयान की उड़ाईं धज्जियां

रवि शास्त्री ने कुछ दिन पहले कहा था, ‘मैंने कभी भी चयनकर्ताओं के काम में हस्तक्षेप नहीं किया, सिवाय तब जब मुझसे प्रतिक्रिया मांगी गई।’ इस पर पूर्व चयनकर्ता ने बताया कि चयन समिति ने कप्तान विराट कोहली और तत्कालीन कोच रवि शास्त्री के साथ चर्चा किए बिना कुछ भी नहीं किया।

Team India Former Head Coach Ravi Shastri with Virat Kohli
विराट कोहली के साथ भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री। (सोर्स- फाइल फोटो)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व चयनकर्ता ने सरनदीप सिंह ने 2019 क्रिकेट वनडे वर्ल्ड कप के लिए 3 विकेटकीपर-बल्लेबाजों को लेकर रवि शास्त्री की टिप्पणी की हवा निकाल दी है। सरनदीप एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली चयन समिति का हिस्सा थे। उसी चयन समिति ने 2019 वनडे वर्ल्ड के लिए टीम का चयन किया था।

सरनदीप की टिप्पणी ऐसे समय आई जब भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने एक साक्षात्कार में कहा था कि अंबाती रायुडू को टीम से बाहर रखना उनका फैसला नहीं था और न ही उनके कहने पर टीम में 3 विकेटकीपर-बल्लेबाज रखे गए थे। वर्ल्ड कप 2019 में भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन में एक साथ तीन विकेटकीपर बल्लेबाज (एमएस धोनी, ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक ) खेले थे।

शास्त्री ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया था, ‘इसमें मेरा कोई हाथ नहीं था, लेकिन विश्व कप के लिए तीन विकेटकीपर चुना जाना मेरे हिसाब से ठीक नहीं था। अंबाती रायुडू या श्रेयस अय्यर में किसी को लिया जा सकता था। एमएस धोनी, ऋषभ और दिनेश के एक साथ होने का क्या मतलब था?’

शास्त्री ने कहा था, ‘लेकिन मैंने कभी भी चयनकर्ताओं के काम में हस्तक्षेप नहीं किया, सिवाय तब जब मुझसे प्रतिक्रिया मांगी गई या एक सामान्य चर्चा के हिस्से के रूप में।’ इस पर पूर्व चयनकर्ता और स्पिनर सरनदीप सिंह ने बताया कि चयन समिति ने कप्तान विराट कोहली और तत्कालीन कोच रवि शास्त्री के साथ चर्चा किए बिना कुछ भी नहीं किया।

सरनदीप सिंह ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, ‘तीनों विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में बहुत अच्छे हैं। एक चयनकर्ता चयन में हस्तक्षेप नहीं करता है। विश्व कप के दौरान शिखर धवन के चोटिल होने पर ऋषभ पंत को चुना गया था। केएल राहुल के रूप में हमारे पास पहले से ही एक सलामी बल्लेबाज था।’

उन्होंने कहा, ‘इसलिए, हम किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश कर रहे थे, जो मध्यक्रम में आकर बल्लेबाजी करे और बड़े शॉट खेले। यही वजह है कि ऋषभ पंत टीम में थे, लेकिन प्लेइंग इलेवन चुनना टीम प्रबंधन का काम है।’

सरनदीप ने कहा, ‘प्लेइंग इलेवन चुनने में चयन समिति हस्तक्षेप नहीं करती है। साल 2019 विश्व कप में अगर आप ऋषभ पंत के चयन को देख रहे हैं तो वह उनकी पहली पसंद नहीं थे।’ सरनदीप ने कहा, ‘एमएस धोनी और दिनेश कार्तिक टीम में थे और हम सभी मैच जीत रहे थे।’

उन्होंने कहा, ‘यहां तक कि हम पॉइंट्स टेबल में टॉप पर रहे, लेकिन अचानक ऐसी चीजें सामने आती हैं, यह हमारे लिए परेशान करने वाला है, क्योंकि हमने अपना काम निष्पक्ष रूप से किया था।’ न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच हारने के बाद टीम इंडिया 2019 विश्व कप से बाहर हो गई थी।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट