ताज़ा खबर
 

धोनी से इस्तीफा देने के लिए क्यों कहूं: श्रीनिवासन

अपनी कंपनी इंडिया सीमेंट्स में महेंद्र सिंह धोनी की भूमिका पर बात करने से इनकार करते हुए बीसीसीआई के निर्वासित अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने आज साफ किया कि हितों के टकराव को लेकर उठ रहे सवालों के बावजूद भारतीय कप्तान को इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा जाएगा। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के भी अध्यक्ष श्रीनिवासन […]

Author December 1, 2014 5:53 PM
IPL Spot Fixing: श्रीनिवासन, उनके दामाद गुरुनाथ मयप्पन, राजस्थान रॉयल्स के मालिक राज कुंद्रा, क्रिकेट प्रशासक सुंदर रमन की न्यायमूर्ति मुदगल समिति ने जांच की थी। (फोटो: भाषा)

अपनी कंपनी इंडिया सीमेंट्स में महेंद्र सिंह धोनी की भूमिका पर बात करने से इनकार करते हुए बीसीसीआई के निर्वासित अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने आज साफ किया कि हितों के टकराव को लेकर उठ रहे सवालों के बावजूद भारतीय कप्तान को इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा जाएगा।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के भी अध्यक्ष श्रीनिवासन ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग पर प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। इस मामले की सुनवाई फिलहाल उच्चतम न्यायालय में चल रही है। इससे पहले न्यायमूर्ति मुकुल मुदगल की समिति ने इस संबंध में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपी थी।

श्रीनिवासन ने यहां एक आईसीसी कार्यक्रम के इतर कहा, ‘‘यह मामला अदालत में है। मैं इस बार बात नहीं कर सकता।’’
धोनी से जुड़े सवाल पर तमिलनाडु के इस प्रशासक ने और कड़ा जवाब दिया। धोनी आईपीएल फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान होने के अलावा इंडिया सीमेंट्स के कर्मचारी भी हैं। चेन्नई सुपरकिंग्स इंडिया सीमेंट्स की ही टीम है।

इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने धोनी और श्रीनिवासन दोनों के हितों के टकराव के मुद्दों पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। धोनी को इस्तीफा देने के लिए कहा जाएगा या नहीं, इस बारे में पूछने पर श्रीनिवासन ने कहा, ‘‘मैं उसे इस्तीफा देने के लिए क्यों कहूं।’’

इंडिया सीमेंट्स में धोनी की भूमिका के बारे में पूछने पर श्रीनिवासन ने एक बार फिर तीखा जवाब देते हुए कहा, ‘‘मैं यह आपको क्यों बताऊं।’’

स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण में श्रीनिवासन की भूमिका पर मुदगल समिति की टिप्पणियों को लेकर श्रीनिवासन पर अपना पद छोड़ने को लेकर काफी दबाव है। निजी तौर पर श्रीनिवासन को क्लीन चिट देते हुए समिति ने टिप्पणी की थी कि बीसीसीआई प्रमुख ने लीग में हो रहे गलत कामों पर अपनी आंख बंद कर ली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App