ताज़ा खबर
 

अश्विन के सांभर में पूर्व क्रिकेटर कृष्णामचारी श्रीकांत ने क्यों बुझा दी थी सिगार, 7 साल बाद खुला राज

अश्विन कुछ समय से क्रिकेट से दूर हैं। आखिरी बार मार्च में अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में ही उन्हें गेंदबाजी करते देखा गया था। इस सीरीज में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था।

पूर्व क्रिकेटर श्रीकांत और रविचंद्रन अश्विन।

भारत के स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की घूमती गेंदों पर बड़े-बड़े बल्लेबाज भी नाचते हुए नजर आते हैं। लेकिन एक बार उनके साथ भी कुछ एेसा हो गया, जिस पर उन्हें भी यकीन नहीं हुआ था। दरअसल अश्विन कॉमेडियन विक्रम सताये के एक शो ‘वॉट द डक’ में पहुंचे थे। यहां उन्होंने साल 2009 में पूर्व भारतीय क्रिकेटर कृष्णामचारी श्रीकांत और उनके बीच हुए वाकये के बारे में बताया। अश्विन ने कहा,  राष्ट्रीय टीम में डेब्यू करने से पहले मैं रणजी ट्रॉफी में तमिलनाडु की ओर खेल रहा था। श्रीकांत ड्रेसिंग रूम में आए और अश्विन से बातचीत करने लगे। उन्होंने अश्विन से उनकी परफॉर्मेंस के बारे में पूछा जिस पर स्पिनर ने कहा कि वह अपने प्रदर्शन से खुश नहीं है, क्योंकि उन्हें केवल एक ही विकेट मिल पाया है। इसके बाद श्रीकांत ने कहा, अगर भारतीय क्रिकेट टीम में सिलेक्ट होना चाहते हो तो हर मैच में मुझे 5 विकेट चटकाकर दिखाओ, ताकि मैं कह सकूं कि तुम टीम में खेलने लायक हो। यह सिर्फ तुम्हें ही पता नहीं होना चाहिए कि तुम बेहतर हो। यह तुम्हें मुझे भी साबित करके दिखाना होगा।

हाथ में सांभर लिए अश्विन श्रीकांत की इस बात का कोई जवाब नहीं दे पाए और सिर्फ जी सर कहकर रह गए। लेकिन इसके बाद कुछ एेसा हुआ कि अश्विन भौचक्के रह गए। बातचीत के दौरान श्रीकांत ने सिगार जलाते हुए कहा कि कोई बात नहीं, चीजें बदल जाएंगी। इसके बाद उन्होंने सिगार फूंककर धुआं छोड़ा और जो सांभर का बर्तन अश्विन ने पकड़ा हुआ था, उसी में उसे बुझा दिया। दिलचस्प बात है कि श्रीकांत को मालूम भी नहीं था कि जो बर्तन अश्विन ने पकड़ा हुआ है, उसमें सांभर था। बता दें कि अश्विन कुछ समय से क्रिकेट से दूर हैं। आखिरी बार मार्च में अॉस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में ही उन्हें गेंदबाजी करते देखा गया था। इस सीरीज में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था।

देखिए क्या बोले अश्विन :

चैंपियंस ट्रॉफी: भारत ने पाकिस्तान को दी करारी मात, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App