ताज़ा खबर
 

जब टॉस के समय सौरव गांगुली ने रिकी पोंटिंग को किया था ट्रोल, पूर्व ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान ने सुनाया वाकया

ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान माइकल क्‍लार्क ने सौरव गांगुली और रिकी पोंटिंग के बीच टॉस से जुड़े वाकये का उल्‍लेख किया। उन्‍होंने बताया कि पोंटिंग ने सिक्‍का उछाला था और गांगुली ने हेड-टेल बोल दिया था। पोंटिंग कुछ समझ पाते इससे पहले ही दादा बैटिंग करने की बात कहते हुए चलते बने थे।

रिकी पोंटिंग और सौरव गांगुली।

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच क्रिकेट मैच में गेंद और बल्‍ले के अलावा खिलाड़ि‍यों के बीच भी जोरदार मुकाबला देखने को मिलता है। ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान और धुरंधर बल्‍लेबाज माइकल क्‍लार्क ने बुक लांचिंग के मौके पर ऐसा ही एक वाकया साझा किया। उन्‍होंने बताया कि भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच एक श्रृंखला चल रही थी। ऐसे ही एक मैच में टॉस के लिए गांगुली और पोंटिग मैदान में थे। सिक्‍का ऑस्‍ट्रेलियाई कप्‍तान ने उछाला था। उसी वक्‍त सौरव गांगुली ने पोंटिंग को ट्रोल किया था। बकौल क्‍लार्क, दादा ने हेड या टेल बोलने के बजाय हेड-टेल बोला था। रिकी पोंटिंग कंफ्यूज्‍ड हो गए थे कि दादा ने क्‍या कहा? क्‍लार्क ने कहा, ‘मेरा विश्‍वास कीजिए रिकी पोंटिंग ने खुद मुझे इसके बारे में बताय था। पोंटिंग को स्थिति समझने में एक या दो सेकेंड लगे थे, लेकिन तब तक सिक्‍का जमीन पर गिर चुका था। गांगुली ने सिक्‍का उठाया और पोंटिंग को देते हुए कहा कि हमलोग बल्‍लेबाजी करेंगे और यह कहते हुए मैदान से बाहर चले गए थे। भारत टॉस जीत चुका था और पहले बल्‍लेबाजी करने का फैसला किया था। रिकी पोंटिंग को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि वह क्‍या करें। उन्‍होंने ड्रेसिंग रूम में आकर घटना के बारे में जानकारी दी थी।’ क्लार्क खुद को सौरव गांगुली की आक्रामकता का फैन बताते हैं।

…जब अंपायर बंसल की कार को ट्रैफिक पुलिस ने रोका था: माइकल क्‍लार्क ने बोरिया मजूमदार की किताब ‘इलेवन गॉड्स एंड ए बिलियिन इंडियंस’ की लांचिंग के मौके पर गांगुली और पोंटिंग के वाकये को साझा किया था। इस किताब में कई दिलचस्‍प बातें लिखी गई हैं। ऐसा ही एक वाकया भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन में खेले गए ऐतिहासिक टेस्‍ट मैच से जुड़ा है, जिसमें वीवीएस लक्ष्‍मण और राहुल द्रविड़ ने फॉलोऑन खेलने के बाद भी भारत को जीत दिलाई थी। हरभजन सिंह द्वारा ग्‍लैन मैकग्रॉ का विकेट लेते ही स्‍टेडियम में जुटे एक लाख दर्शक की गर्जना से पूरा स्‍टेडियम गुंजायमान हो गया था। अंपायर एसके. बंसल ने एलबीडब्‍ल्‍यू का फैसला दिया था। मैच खत्‍म होने के बाद वह स्‍टेडियम से होटल लौट रहे थे। उनके ड्राइवर ने कार को वन वे में घुसा दिया था। ट्रैफिक पुलिस उनके ड्राइवर से लाइसेंस मांगने लगे थे। इसके बाद बंसल को कार से बाहर निकलना पड़ा था। उनको देखते हुए पुलिसकर्मी ने उन्‍हें पहचान ली थी और कहा था कि एसके. बंसल के लिए सब माफ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App