ताज़ा खबर
 

वर्ल्ड कप से बाहर हो जाता वेस्टइंडीज, खराब अंपायरिंग और मौसम की मेहरबानी से बाल-बाल बचा

मौसम की मेहरबानी और खराब अपायरिंग के चलते वेस्टइंडीज की टीम विश्वकप क्वालीफायर्स में खेलकर 2019 के वर्ल्डकप में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही।

Author नई दिल्ली | March 22, 2018 07:56 am
विश्वकप में प्रवेश करने पर जश्न मनाती वेस्टइंडीज की टीम(फोटो-ट्विटर)

मौसम की मेहरबानी और खराब अपायरिंग के चलते वेस्टइंडीज की टीम विश्वकप क्वालीफायर्स में खेलकर 2019 के वर्ल्डकप में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही। आईसीसी की शीर्ष आठ रैकिंग में जगह न बनाने के कारण वेस्टइंडीज की टीम पिछले साल विश्वकप के लिए क्वालीफाई नहीं कर सकी थी, जिसके कारण उसे आईसीसी विश्वकप क्वालीफायर्स खेलने के लिए मैदान में उतरना पड़ा। स्कॉटलैंड को वेस्टइंडीज ने हराकर विश्वकप के लिए कूच किया। हालांकि अंपायर के एक गलत फैसले ने भी स्कॉटलैंड को जीत से दूर कर दिया। यह विवादित फैसला वेस्टइंडीज के स्पिनर एस्ले नर्स की गेंद पर स्कॉटलैंड के बल्लेबाज रिची बेरिंगटन को आउट देने का था।
आईसीसी विश्वकप क्वालीफायर्स का यह मुकाबला जिंबाब्वे के हरारे में खेला गया। स्कॉटलैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। वेस्टइंडीज की टीम 48.4 ओवर में दो सौ का आकड़ा भी पार नहीं कर सकी। सिर्फ 198 रन पर ही ऑल आउट हो गई। क्रिस गेल जैसा खिलाड़ी स्कॉटलैंड के गेंदबाजों के आगे एक रन बनाए बिना पवेलियन लौटने को मजबूर हो गया। मार्लन सैमुअल्स ने और लिविस ने किसी तरह टीम को 198 के स्कोर तक पहुंचाया। दोनों नने क्रमशः 51 और 66 रन बनाए।

मैच के बीच में बारिश शुरू हो गई। जिस पर डकवर्थ लिविस नियम के तहत टारगेट चेंज कर दिया गया। अब स्कॉटलैंड को 35.2 ओवर में 131 रन बनाने का लक्ष्य मिला। मगर शुरुआत खराब होने के कारण टीम 131 रन के लक्ष्य को भी पूरा नहीं कर सकी। 35.2 ओवर में टीम सिर्फ 125 रन ही बना सकी, जबकि उसके पास पांच विकेट शेष थे। इसी के साथ वेस्टइंडीज की टीम ने 2019 के विश्वकप के लिए कूच कर लिया। वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों के जश्न के साथ आईसीसी ने भी इसकी सूचना दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App