ताज़ा खबर
 

एंडी रॉबर्ट्स को जसप्रीत बुमराह में दिखती है इन दो दिग्गजों की झलक, कहा- वही कर सकता है ऐसी गेंदबाजी

रॉबर्ट्स ने बुमराह के बारे में कहा, 'वह बहुत खतरनाक है। आप ऐसी गेंदबाजी के खिलाफ कुछ नहीं कर सकते हैं। जब हम खेला करते थे तब माइकल होल्डिंग ऐसी ही गेंदबाजी किया करते थे। बाद में मैल्कम मार्शल भी ऐसी ही गेंदबाजी करते थे। यह बहुत ही जटिल गेंद है और बेहतरीन बल्लेबाज को भी आउट कर सकती है।'

Jasprit Bumrahजसप्रीत बुमराह ने पारी में चौथी बार 5 विकेट हासिल किए। (सोर्स- ट्विटर)

जसप्रीत बुमराह ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में महज 7 रन देकर 5 बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा था। उनकी इस घातक गेंदबाजी के कारण ही वेस्टइंडीज के बल्लेबाजी क्रम की रीढ़ टूट गई और पूरी टीम महज 100 रन पर पवेलियन लौट गई थी। भारतीय टीम ने पहला टेस्ट 318 रन के बड़े अंतर से जीत लिया था। उनकी इस गेंदबाजी से ना सिर्फ भारतीय क्रिकेट फैंस बल्कि वेस्टइंडीज के दिग्गज गेंदबाज रहे एंडी रॉबर्ट्स भी कायल हैं।

काबिलेगौर है कि एंटिगा के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम पर हुए पहले टेस्ट में बुमराह ने दूसरी पारी में अपने स्पेल की शुरुआत रॉबर्ट्स एंड से ही की थी। इस छोर से गेंदबाजी की शुरुआत करने के लिए जसप्रीत बुमराह भी खुद को काफी तैयार करते दिख रहे थे। इसके पीछे एक कारण यह भी था कि रॉबर्ट्स उनकी गेंदबाजी देखने के लिए खुद स्टेडियम में मौजूद थे।

बुमराह ने अपने पहले ओवर की चौथी गेंद पर वेस्टइंडीज के ओपनर क्रैग ब्रैथवेट को पवेलियन की राह दिखाई। बुमराह की गेंद को देखकर आमतौर पर टिप्पणी से बचने वाले रॉबर्ट्स खुद को भारतीय गेंदबाज की तारीफ करने से रोक नहीं पाए। रॉबर्ट्स ने कहा, ‘गेंदबाज की एकदम सही लंबाई है। आप उनसे बेहतर नहीं हो सकते। यह लड़का बहुत अच्छा है। वह आगे के एरिया में बिल्कुल सही सही जगह गेंद फेंक रहा है। बहुत से गेंदबाज ऐसा नहीं करते।’

बुमराह ने अपने दूसरे ओवर की 5वीं गेंद पर जॉन कैम्पबेल को क्लीन बोल्ड कर दिया। वेस्टइंडीज का यह बाएं हत्था बल्लेबाज बुमराह की इनस्विंगर को बिल्कुल भी पढ़ नहीं पाया और अपना विकेट गंवा बैठा। यह देखकर रॉबर्ट्स बहुत जोश में आ गए। वे काफी देर तक ताली बजाते रहे।

उन्होंने कहा, ‘वह बहुत खतरनाक है। आप ऐसी गेंदबाजी के खिलाफ कुछ नहीं कर सकते हैं। जब हम खेला करते थे तब माइकल होल्डिंग ऐसी ही गेंदबाजी किया करते थे। बाद में मैल्कम मार्शल भी ऐसी ही गेंदबाजी करते थे। यह बहुत ही जटिल गेंद है और बेहतरीन बल्लेबाज को भी आउट कर सकती है।’

Next Stories
1 अब अरुण जेटली स्टेडियम कहलाएगा दिल्ली का फिरोजशाह कोटला मैदान, डीडीसीए ने लिया फैसला
2 एमएस धोनी की गैरमौजूदगी को लेकर सौरव गांगुली ने टीम इंडिया को दी ये सलाह, कहा- माननी होगी ये बात
3 अभी नहीं वक्त आने पर लेंगे राष्ट्रमंडल खेलों के बहिष्कार पर फैसलाः खेल मंत्री
CSK vs DC Live
X