ताज़ा खबर
 

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ आक्रामक क्रिकेट खेलेंगे: कोहली

टेस्ट क्रिकेट में पहली बार भारत की कप्तानी करने को लेकर उत्सुक कार्यवाहक कप्तान विराट कोहली ने इसे अपने कैरियर का ‘बड़ा पल’ करार देते हुए कहा कि उनकी टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हो रहे पहले टेस्ट में आक्रामक खेल दिखायेगी। कोहली ने पत्रकारों से कहा ,‘‘मेरे लिये यह बड़ा पल है। मैने हमेशा टेस्ट […]

Author December 9, 2014 5:30 AM
विराट कोहली के ट्विटर पर 5,004,544 फॉलोअर हैं जबकि तेंदुलकर के 4,910,498 फॉलोअर हैं।

टेस्ट क्रिकेट में पहली बार भारत की कप्तानी करने को लेकर उत्सुक कार्यवाहक कप्तान विराट कोहली ने इसे अपने कैरियर का ‘बड़ा पल’ करार देते हुए कहा कि उनकी टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हो रहे पहले टेस्ट में आक्रामक खेल दिखायेगी।

कोहली ने पत्रकारों से कहा ,‘‘मेरे लिये यह बड़ा पल है। मैने हमेशा टेस्ट क्रिकेट खेलने का सपना देखा था और अब मैं एक टेस्ट मैच में भारत की कप्तानी कर रहा हूं। मैने अपेक्षा नहीं की थी लेकिन घटनाक्रम ऐसा रहा कि मुझे मौका मिला।’’

उन्होंने कहा,‘‘ अच्छी बात यह है कि मैने पिछली श्रृंखला में भारत की कप्तानी की थी लिहाजा खिलाड़ियों के साथ मैं सहज हूं। उन्हें पता है कि मैं मैदान पर क्या चाहता हूं और इसलिये मुझ पर दबाव नहीं है।’’

उन्होंने कहा,‘‘ मैने कप्तानी के बारे में ज्यादा सोचा नहीं है। मेरा काम उन्हें सुझाव देना और टीम के साथ बेहतर संवाद है। यह निर्भर करता है कि मेरे अलावा बाकी 10 खिलाड़ी कैसा खेलते हैं चूंकि यह 11 खिलाड़ियों का खेल है। जब तक सारे 11 अच्छा खेलेंगे, मैं अच्छा कप्तान ही नजर आऊंगा।’’

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी की शैली से बदलाव के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा,‘‘ आप आम तौर पर जो देखते आये हैं, उससे कुछ अलग देखने को मिल सकता है।’’
कोहली ने कहा,‘‘ हम आक्रामक प्रदर्शन करेंगे। मैं खुद भी आक्रामक खेलता हूं और कप्तानी में भी यही कोशिश करूंगा।’’ कोहली ने कहा,‘‘मैदान पर थोड़ी बहुत छींटाकशी को मैं बुरा नहीं मानता। इससे मैं और दृढ़ होता हूं लेकिन सिर्फ यही बात मुझे दृढ़ नहीं बनाती। मैं हर समय अच्छे प्रदर्शन की कोशिश करता हूं।’’

उन्होंने कहा ,‘‘ पिछली बार मैने ऑस्ट्रेलिया में खेलने का पूरा मजा लिया था मुझे ढलने में दो टेस्ट का समय लगा लेकिन कुछ वाक्यों के बाद मैने समझ लिया कि ऑस्ट्रेलिया में इसी तरह से खेलना होगा।’’

फिलीप ह्यूज की मौत के बाद बाउंसर फेंकने को लेकर चल रही बहस के बीच कोहली ने कहा,‘‘मुझे नहीं लगता कि यह कोई बहस है। यह क्रिकेट का हिस्सा है। हर गेंदबाज को बाउंसर फेंकने का हक है और हमने उनके लिये रणनीति बनाई है।’’

उन्होंने कहा,‘‘ 2011 विश्व कप के बाद नियमों में बदलाव करके प्रति ओवर दो बाउंसर सीमित कर दिये गए थे। खिलाड़ियों ने इसकी मांग नहीं की थी। हमने आईसीसी के निर्देशों का पालन किया और हम अपनी रणनीति में बदलाव नहीं करेंगे। हमारे पास चार तेज गेंदबाज है और बतौर कप्तान मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं।’’

धोनी की फिटनेस और भुवनेश्वर कुमार के पहला टेस्ट खेलने की संभावना के बारे में कोहली ने कहा,‘‘ हमें उम्मीद है कि धोनी अगले कुछ दिन में शत प्रतिशत फिट हो जायेंगे। हम चाहते हैं कि खेलने से पहले वह पूरी तरह फिट हों।’’

उन्होंने कहा,‘‘ भुवी एड़ी में खिंचाव से उबर रहा है और उम्मीद है कि वह कल चयन के लिये उपलब्ध होगा।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App