ताज़ा खबर
 

‘वीरेंद्र सहवाग जैसे हैं पृथ्वी शॉ, लेकिन मैदान के बाहर अनुशासन की कमी’, बोले पूर्व भारतीय ओपनर

पृथ्वी 2018 के अंत में ऑस्ट्रेलिया में अभ्यास मैच के दौरान चोटिल हो गए थे। इसके बाद वे डोपिंग में फंस गए और बीसीसीआई ने उन पर प्रतिबंध भी लगाया था। फिर इस साल के शुरू में न्यूजीलैंड के खिलाफ उनकी वापसी हुई, लेकिन पृथ्वी का प्रदर्शन निराशाजनक ही रहा था।

पृथ्वी शॉ ने 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने पहले ही टेस्ट में शतक लगाया था। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर वसीम जाफर का मानना है कि पृथ्वी शॉ की बल्लेबाजी वीरेंद्र सहवाग की जैसी है। हालांकि, जाफर को पृथ्वी में अनुशासन की कमी लगती है। उनका मानना है कि अगर वो मैदान के बाहर की चीजों पर कम ध्यान दें तो ज्यादा सफल हो सकते हैं। पृथ्वी 2018 के अंत में ऑस्ट्रेलिया में अभ्यास मैच के दौरान चोटिल हो गए थे। इसके बाद वे डोपिंग में फंस गए और बीसीसीआई ने उन पर प्रतिबंध भी लगाया था। फिर इस साल के शुरू में न्यूजीलैंड के खिलाफ उनकी वापसी हुई, लेकिन पृथ्वी का प्रदर्शन निराशाजनक ही रहा था।

आकाश चोपड़ा से बातचीत के दौरान जाफर ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि पृथ्वी शॉ एक स्पेशल प्लेयर हैं। वो जो शॉट मारते हैं तो मुझे लगता है कि वीरेंद्र सहवाग की तरह हैं। वह गेंदबाजी आक्रामण को पूरी तरह तहस-नहस कर सकते हैं। लेकिन मुझे ये भी महसूस होता है कि उन्हें खेल को समझना होगा। न्यूजीलैंड में दो बार शॉट बॉल पर आउट हुए हैं। उन्हें गेंदबाजों ने जाल में फंसाया है। साथ ही मैदान से बाहर जो उनकी लाइफस्टाइल है उसे अनुशासित करना होगा।’’

इससे पहले आकाश ने कहा पृथ्वी के बारे में कहा, ‘‘उनका जो खेलने का तरीका है वह अलग ही है। उन्होंने न्यूजीलैंड में भी 50 रन बना दिया था। वे हर गेंद को खेलना चाहते हैं। ऐसा लगता है कि उनके बुक में गेंद को छोड़ना है ही नहीं। डेब्यू में सेंचुरी और इतना सारा टैलेंट को देखकर लगता है कि वे तीनों फॉर्मेट में खेलने योग्य हैं। कम से कम वनडे और टी20 में तो जरूर खेलना चाहिए।’’ पृथ्वी ने 2018 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने पहले ही टेस्ट में शतक लगाया था।

जाफर ने केएल राहुल के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘राहुल एक बेहतरीन प्लेयर है। वह विराट कोहली और रोहित शर्मा के बाद टीम में मेरा फेवरेट प्लेयर है। मुझे लगता है कि न्यूजीलैंड में टेस्ट सीरीज के दौरान उन्हें टीम में रखना चाहिए था। मैं अगर रहता तो तीसरे ओपनर के तौर पर उन्हें टीम में रखता है। वह तीनों फॉर्मेट में खेलने वाला खिलाड़ी है। मुझे लगता है कि वह लंबी रेस का घोड़ा है। वह हर जगह पर फिट हो जाते हैं, यह अच्छी बात है। आईपीएल में 500-600 रन बनाए हैं। वह तीनों फॉर्मेट में फिट हो सकते हैं।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली छोड़ राजस्थान से खेलने पर बोले भारतीय ओपनर- मैं कप्तान था, लेकिन टीम से ही मुझे निकाल दिया
2 हसीन जहां ने शेयर की ग्लैमरस तस्वीर, लोग बोले- मोहम्मद शमी अब फरेब में नहीं फंसने वाले
3 कोरोनावायरस के कारण एशिया कप हुआ कैंसिल, BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने किया ऐलान
ये पढ़ा क्या...
X