ताज़ा खबर
 

क्रिकेटरों की फीस: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर बरसे वसीम अकरम? बोले- टेस्ट क्रिकेट ही असली क्रिकेट

वसीम अकरम ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में एक खिलाड़ी की असली परीक्षा होती है, क्योंकि टेस्ट क्रिकेट सबसे मुश्किल होता है। टेस्ट में आप बाउंसर झेलते हैं, अपने हेलमेट पर गेंदे खाते हैं। गेंदबाज बॉलिंग के लंबे स्पैल फेंकते हैं। इसलिए जो टेस्ट क्रिकेट खेलते हैं, उन्हें उनकी मेहनता का इनाम मिलना ही चाहिए।

wasim akramअकरम बोले कि क्रिकेट बोर्ड चलाने वाले लोगों को समझना चाहिए कि टेस्ट क्रिकेट ही असली क्रिकेट है और बाकी फॉर्मेट उसके बाद आते हैं। (image source- PTI)

पाकिस्तान के दिग्गज गेंदबाज वसीम अकरम ने टेस्ट क्रिकेटरों को ज्यादा पैसे ना देने के लिए क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की आलोचना की है। अकरम बीसीसीआई के नए सालाना कॉन्ट्रैक्ट से खुश नहीं हैं। माना जा रहा है कि इस दिग्गज गेंदबाज भारतीय टेस्ट स्पेशलिस्ट खिलाड़ियों को टॉप ग्रेड में नहीं रखे जाने और वनडे खिलाड़ियों को ए प्लस ग्रेड में रखे जाने पर अपनी नाराजगी जाहिर की है। अकरम को लगता है कि टेस्ट खिलाड़ियों को ज्यादा वेतन मिलना चाहिए। गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने हाल ही में खिलाड़ियों को सालाना कॉन्ट्रैक्ट दिया है, जिसमें एक नई कैटेगरी ए प्लस लायी गई है, जिसमें मौजूद खिलाड़ियों को 7 करोड़ रुपए सालाना मिलेंगे।

वसीम अकरम ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में एक खिलाड़ी की असली परीक्षा होती है, क्योंकि टेस्ट क्रिकेट सबसे मुश्किल होता है। टेस्ट में आप बाउंसर झेलते हैं, अपने हेलमेट पर गेंदे खाते हैं। गेंदबाज बॉलिंग के लंबे स्पैल फेंकते हैं। इसलिए जो टेस्ट क्रिकेट खेलते हैं, उन्हें उनकी मेहनता का इनाम मिलना ही चाहिए। अकरम बोले कि क्रिकेट बोर्ड चलाने वाले लोगों को समझना चाहिए कि टेस्ट क्रिकेट ही असली क्रिकेट है और बाकी फॉर्मेट उसके बाद आते हैं। साथ ही टेस्ट क्रिकेटरों को जब ज्यादा पैसा मिलेगा, तभी क्रिकेटर भी टेस्ट क्रिकेटर बनने के लिए प्रेरित होंगे।

बता दें कि ए प्लस कैटेगरी में बीसीसीआई ने कप्तान विराट कोहली, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, शिखर धवन और रोहित शर्मा को जगह दी है। खास बात है कि विराट कोहली, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह तो तीनों फॉर्मेट में खेलते हैं, लेकिन शिखर धवन, रोहित शर्मा की जगह अभी भी टेस्ट क्रिकेट में पक्की नहीं हो पायी है। वहीं बीसीसीआई ने ए कैटेगरी में आर. अश्विन, रविंद्र जडेजा, चेतेश्वर पुजारा जैसे टेस्ट स्पेशलिस्ट खिलाड़ियों को जगह दी है। ए कैटेगरी के खिलाड़ियों को 5 करोड़ रुपए सालाना मिलेंगे।

बीसीसीआई के सालाना कॉन्ट्रैक्ट की लिस्ट: ग्रेड ए प्लस (7 करोड़)– विराट कोहली, भुवनेश्वर कुमार, रोहित शर्मा, शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह

ग्रेड ए (5 करोड़)– आर. अश्विन, रविंद्र जडेजा, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, एमएस धोनी, ऋद्धिमान साहा,

ग्रेड बी (3 करोड़)– केएल राहुल, उमेश यादव, कुलदीप यादव, यजुवेन्द्र चहल, हार्दिक पंड्या, इशांत शर्मा, दिनेश कार्तिक

ग्रेड सी (1 करोड़)– केदार जाधव, मनीष पांडे, अक्षर पटेल, करुण नायर, सुरेश रैना, पार्थिव पटेल, जयंत यादव

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 धमाकेदार बल्लेबाजी से बना गेंदबाजों के लिए खौफ, 30 की उम्र में ही दिग्गज क्रिकेटर ने टेस्ट से लिया संन्यास
2 VIDEO: विकेटकीपर का ग्लब्स पहन फनी बनने की कोशिश कर रहा था फील्डर, अंपायर ने लगा दी पेनल्टी
3 विकेट लेकर कंगारू कप्तान से भिड़ गए रबाड़ा, पूरी सीरीज से बाहर होने का मंडराया खतरा
ये पढ़ा क्या...
X