ताज़ा खबर
 

रवि शास्त्री की तरह गेंदबाज से टेस्ट ओपनर बनना चाहते हैं वाशिंगटन सुंदर, कहा- टॉनिक बन गई ‘ड्रेसिंग रूम कोचिंग’

वाशिंगटन सुंदर का मानना है कि टेस्ट टीम में आए किसी युवा खिलाड़ी के लिए किसी बाहरी खिलाड़ी से प्रेरणा लेने की जरूरत नहीं है, क्योंकि भारतीय ड्रेसिंग रूम में ही कई आदर्श खिलाड़ी हैं। उन्होंने कहा, ‘विराट कोहली, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, आर अश्विन जैसे खिलाड़ी वहां हैं।’

Washington Sundar India vs Australia Test Openerवाशिंगटन सुंदर ने ये दोनों तस्वीरें अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर की हैं। (सोर्स- इंस्टाग्राम वाशिंगटन सुंदर)

कोच रवि शास्त्री की ड्रेसिंग रूम में दी गई ‘दृढ़ता और प्रतिबद्धता’ की सीख ने युवा वाशिंगटन सुंदर के लिए टॉनिक का काम किया। यह टॉनिक पीने के बाद वह किसी भी तरह की चुनौती के लिए तैयार हैं। इन चुनौतियों में टेस्ट मैचों में भारत के लिए पारी का आगाज करना भी शामिल है। 21 साल के वाशिंगटन भारत अंडर-19 के दिनों में शीर्ष क्रम के विशेषज्ञ बल्लेबाज थे, लेकिन उन्होंने अपनी ऑफ स्पिन को निखारा और भारतीय टी20 टीम में जगह बनाई।

ब्रिसबेन में भारतीय जीत में अहम भूमिका निभाने वाले वाशिंगटन ने कहा, ‘अगर मुझे कभी भारत की तरफ से टेस्ट मैचों में पारी का आगाज करने का मौका मिलता है तो यह मेरे लिए वरदान होगा। मुझे लगता है कि मैं उसी तरह इसे चुनौती के रूप में स्वीकार करूंगा जैसे हमारे कोच रवि सर ने अपने खेल के दिनों में किया था।’ वाशिंगटन ने गाबा में पहली पारी में 62 रन बनाकर भारत को मैच में बनाए रखा और फिर दूसरी पारी में 22 रन की तेजतर्रार पारी खेली। इसमें पैट कमिंस पर लगाया गया छक्का भी शामिल है। इसके अलावा उन्होंने चार विकेट भी लिए।

उन्होंने कहा, ‘रवि सर ने हमें खेल के अपने दिनों की प्रेरणादायी बातें बताईं। जैसे कि कैसे उन्होंने विशेषज्ञ स्पिनर के तौर पर पदार्पण किया तथा चार विकेट लिए और न्यूजीलैंड के खिलाफ इस मैच में दसवें नंबर पर बल्लेबाजी की।’ वाशिंगटन ने कहा, ‘और वहां से वह कैसे टेस्ट सलामी बल्लेबाज बने और उन्होंने कैसे अपने जमाने के सभी शीर्ष तेज गेंदबाजों का सामना किया। मैं भी उनकी तरह टेस्ट मैचों में पारी की शुरुआत करना पसंद करूंगा।’

उनका मानना है कि टेस्ट टीम में आये किसी युवा खिलाड़ी के लिये किसी बाहरी खिलाड़ी से प्रेरणा लेने की जरूरत नहीं है क्योंकि भारतीय ड्रेसिंग रूम में ही कई आदर्श खिलाड़ी हैं। वाशिंगटन ने कहा, ‘एक युवा होने के नाते जब मैं किसी से प्रेरणा लेना चाहता हूं तो मुझे अपने ड्रेसिंग रूम में ही इतने अधिक आदर्श खिलाड़ी मिल जाते हैं। विराट कोहली, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, आर अश्विन जैसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी वहां हैं। ये खिलाड़ी हमेशा आपकी मदद के लिये तैयार रहते हैं।’

वाशिंगटन को सीमित ओवरों की सीरीज समाप्त होने के बाद नेट गेंदबाज के रूप में ऑस्ट्रेलिया में रहने के लिए कहा गया। इससे उन्हें लाल गेंद से नेट पर काफी गेंदबाजी करने को मिली। भारत की तरफ से एक टेस्ट के अलावा 26 टी20 और एक वनडे खेलने वाले वाशिंगटन ने कहा, ‘इससे निश्चित तौर पर मुझे मदद मिली, क्योंकि मुझे टेस्ट मैचों के लिए टीम में बने रहने के लिए कहा गया था। लेकिन वह हमारे गेंदबाजी कोच भरत अरुण सर सहित सभी कोचों की रणनीति थी जिससे मदद मिली।’

उन्होंने कहा, ‘ब्रिसबेन में पहले दिन पिच से मदद नहीं मिल रही थी लेकिन पहले टेस्ट विकेट के तौर पर स्टीव स्मिथ का विकेट लेना सपना सच होने जैसा था।’ वाशिंगटन की बड़ी बहन शैलजा भी पेशेवर क्रिकेटर है और ये भाई बहन कभी कभार अपनी बातें एक दूसरे से साझा भी करते हैं। वाशिंगटन ने कहा, ‘अगर उन्हें (शैलजा को) लगता है कि मुझे यह बात बतानी जरूरी है तो वह ऐसा करती हैं। उनके सुझाव हमेशा उपयोगी साबित होते हैं। लेकिन अमूमन घर में हम क्रिकेट पर चर्चा नहीं करते हैं।’

Next Stories
1 Ind vs Eng: जॉनी बेयरस्टो को नहीं चुनने से नासिर हुसैन और माइकल वॉन भड़के, कहा- दिमाग खराब है
2 Ind vs Eng: भारत में 1 साल बाद होगी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट, यहां जानिए शेड्यूल, टीमें, वेन्यू और Live प्रसारण की पूरी जानकारी
3 केएल राहुल ने बॉलीवुड एक्ट्रेस अथिया शेट्टी संग किया डिनर, रॉबिन उथप्पा की वाइफ शीतल ने पोस्ट की तस्वीरें
ये पढ़ा क्या?
X