ताज़ा खबर
 

स्टंप से विराट कोहली को मारना चाहता था यह क्रिकेटर, टीम को कहा अलविदा

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज एड कोवन ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। साल 2011 में टीम इंडिया के खिलाफ उन्होंने बॉक्सिंग डे टेस्ट से अपने क्रिकेट करियर का आगाज किया था।

साल 2017 में स्लेजिंग के मसले पर कंगारू क्रिकेटर विराट कोहली पर भड़क उठे थे। (फोटोः फेसबुक)

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज एड कोवन ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। साल 2011 में टीम इंडिया के खिलाफ उन्होंने बॉक्सिंग डे टेस्ट से अपने क्रिकेट करियर का आगाज किया था। संन्यास के बाद वह 2017-18 के शेफील्ड सीजन में क्वींसलैंड के खिलाफ खेले जाने वाले मैच में न्यू साउथ वेल्स से नहीं खेलेंगे। हालांकि, वह क्लब क्रिकेट का हिस्सा रहेंगे और सिडनी यूनीवर्सिटी टीम से खेलते नजर आएंगे। यह वही खिलाड़ी हैं, जिन्होंने साल 2017 में टीम इंडिया के कप्तान को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया था। कोवन ने कहा था, “एक बार मुझे लगा था कि मैं स्टंप उठा कर विराट कोहली के मार दूं।” कंगारू क्रिकेटर की ओर से यह प्रतिक्रिया तब आई थी, जब कोहली ने उनके परिजन के बारे में आपत्तिजनक बयान दिया था। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के हवाले से ‘फॉक्स स्पोर्ट्स’ की खबर में कहा गया, “बॉक्सिंग डे टेस्ट सीरीज के दौरान मेरी मां की तबीतय खराब थी। उन्होंने (कोहली) ने तब मां के बारे में कुछ कहा था, जो ठीक नहीं था।”

कोवन के मुताबिक, “यह निजी मामला था और बेहद संवेदनशील था। लेकिन उन्हें बिल्कुल भी अहसास नहीं हुआ कि वह सीमा लांघ गए। अंपायर ने जब दखल दी तब विराट ने माफी मांगी थी। लेकिन एक पल ऐसा था, जब मैं स्टंप उठाकर उन्हें दे मारना चाहता था।” हालांकि, कोवन ने यह भी कहा था, “मैं कोहली के खेल का बड़ा फैन हूं। मेरे बयान को गलत न समझिएगा। वह एक शानदार क्रिकेटर हैं।”

कंगारू बल्लेबाज ने आगे अपने संन्यास पर कहा, “शुरुआत से मुझे यह खेल पसंद था। अभी भी मुझे इससे उतना ही लगाव है। मैं सिडनी यूनीवर्सिटी संग बचे प्रीमियर क्रिकेट सेशल में आगे खेलना जारी रखूंगा।”

आपको बता दें कि कोवन का टेस्ट करियर काफी छोटा रहा है। उन्होंने इसमें एक सैकड़ा और छह पचासे जड़े थे। 18 टेस्ट मैचों में उन्होंने 31.28 की औसत से एक हजार से अधिक रन बनाए थे। वहीं, फर्स्ट क्लास क्रिकेट में वह 10 हजार रन बनाने वाले खिलाड़ियों में गिने जाते हैं। संन्यास का फैसला उन्होंने न्यू साउथ वेल्स में अपने गड़बड़ प्रदर्शन के कारण उन्होंने लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App